News Nation Logo

BREAKING

Banner

चीन ने फिर की घुसपैठ, बीजेपी सांसद का खुलासा अरुणाचल में नदी पर बनाया पुल

चागलगाम से मैक्मोहन लाइन महज 100 किलोमीटर दूर है. ऐसे में चीन ने चागलगाम से महज 25 किमी दूर नदी पर पुल भी बना दिया है.

By : Nihar Saxena | Updated on: 04 Sep 2019, 05:20:32 PM
अरुणाचल प्रदेश के बीजेपी सांसद तापिर गाऊ का खुलासा.

अरुणाचल प्रदेश के बीजेपी सांसद तापिर गाऊ का खुलासा.

highlights

  • चीन ने मैक्मोहन रेखा से भारतीय सीमा में 70 किमी घुस नदी पर बनाया पुल.
  • अरुणाचल प्रदेश से बीजेपी सांसद तापिर गाऊ का सनसनीखेज खुलासा.
  • गृह मंत्री और रक्षा मंत्री से मिल कर पूरे घटनाक्रम से अवगत कराएंगे गाऊ.

नई दिल्‍ली:

मिल बैठ कर दि्वपक्षीय मसलों के हल की बात करने वाले चीन की स्थिति मुंह में राम बगल में छुरी वाले धोखेबाज की है. अपनी विस्तारवादी नीति के तहत चीन भारतीय सीमा में घुसपैठ के प्रयासों से बाज नहीं आ रहा. अरुणाचल प्रदेश पर अपना 'हक' जमाने वाले चीन ने राज्य में एक और घुसपैठ करते हुए नदी पर एक पुल तान दिया है. अरुणाचल प्रदेश से बीजेपी के सांसद तापिर गाऊ ने इस घुसपैठ के सबूत भी दिए हैं. उन्होंने कहा कि वह पूरे घटनाक्रम से गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से दिल्ली में मुलाकात कर अवगत कराएंगे.

यह भी पढ़ेंः दाऊद इब्राहिम और हाफिज सईद आतंकी घोषित, UAPA के तहत इन पर भी बड़ी कार्रवाई

मैक्मोहन रेखा से 73 किमी भीतर घुसा
बुधवार को अरुणाचल प्रदेश से बीजेपी के सांसद तापिर गाऊ ने चीन की बड़ी घुसपैठ की बात स्वीकारते हुए सबूत भी दिया. उन्होंने कहा कि चागलगाम से मैक्मोहन लाइन महज 100 किलोमीटर दूर है. ऐसे में चीन ने चागलगाम से महज 25 किमी दूर नदी पर पुल भी बना दिया है. इसका मतलब यह है कि चीन भारतीय सीमा में न सिर्फ घुसपैठ कर चुका है, बल्कि नदी पर पुल के निर्माण के साथ उसने भारतीय जमीन का अतिक्रमण भी कर लिया है. अरुणाचल प्रदेश के इस हालिया घटनाक्रम से जाहिर है कि चीन एक तरफ कश्मीर मसले पर पाकिस्तान को शह दे रहा है. दूसरी तरफ भारत के लिए परेशानी खड़ा करते हुए सीमा पार से घुसपैठ भी कर रहा है.

यह भी पढ़ेंः रूस के साथ रक्षा सहयोग को हम Buyer और Seller के दायरे से बाहर लाए : पीएम नरेंद्र मोदी

सड़कों का संजाल तक नहीं सीमा पर
इस पर विस्तार से बात करते हुए तापिर गाऊ ने यह भी कहा कि इसके लिए मैं भारतीय सेना या सीमा पर पेट्रोलिंग करने वालों को दोष नहीं दे सकता. इस क्षेत्र में सड़कें तक नहीं हैं. ऐसे में अंदरूनी भागों तक पहुंचना बेहद दुष्कर हो जाता है. इस मसले पर वह जल्द ही गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात करने वाले हैं. उन्होंने विश्वास जताया कि सरकार इस मसले पर जरूरी कदम उठाएगी. साथ ही सीमा पर सड़कों या मूलभूत संरचना का विकास कर उसे मजबूती प्रदान करेगी.

First Published : 04 Sep 2019, 05:20:32 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×