News Nation Logo
Banner

आज प्रवीण कक्कड़ के खंगाले जाएंगे बैंक खाते और लॉकर, दिल्ली लाए जा सकते हैं कुछ 'बड़े' लोग

सोमवार सुबह मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी प्रवीण कक्कड़ के बेटे सलिल कक्कड़ को आयकर अधिकारी अपने साथ लेकर निकले. माना जा रहा है कि सलिल की मौजूदगी में बैंक खातों और लॉकरों को खंगाला जा सकता है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 08 Apr 2019, 11:29:35 AM
भोपाल में आयकर छापेमारी की कार्रवाई जारी है

भोपाल में आयकर छापेमारी की कार्रवाई जारी है

नई दिल्ली/भोपाल.:

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के नजदीकियों के घर पर आयकर छापेमारी की कार्रवाई को अब 30 घंटे से अधिक हो रहे हैं. मध्यप्रदेश, नई दिल्ली और गोवा के कई ठिकानों पर चल रही छापेमारी से राजनीतिक पारा तो गर्मा ही गया है. राज्य पुलिस और केंद्रीय बल भी आमने-सामने आ चुके हैं. एमपी की बीजेपी और कांग्रेस की ईकाई तो परस्पर विरोधी बयानबाजी कर ही रही हैं. पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी चिदंबरम की छापेमारी पर ट्वीट ने मामले को चुनाव अभियान से जोड़ दिया है. इस बीच छापेमारी के दौरान केंद्रीय बल सीआरपीएफ और मध्य प्रदेश पुलिस भी आमने-सामने आ गई. ऐसे में एमपी के डीआईजी ने राज्य पुलिस को नियमानुसार काम करने की नसीहत दी है.

रविवार तड़के शुरू हुआ छापेमारी का सिलसिला सोमवार को भी जारी रहेगा. सोमवार सुबह मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी प्रवीण कक्कड़ के बेटे सलिल कक्कड़ को आयकर अधिकारी अपने साथ लेकर निकले. माना जा रहा है कि सलिल की मौजूदगी में बैंक खातों और लॉकरों को खंगाला जा सकता है. सूत्र बताते हैं कि आयकर विभाग प्रवीण कक्कड़, उनके एसोसिएट अश्विनी शर्मा और प्रतीक जोशी को दिल्ली ला सकती है. दिल्ली में कमलनाथ के एक औऱ करीबी मगलानी के घर पर भी छापेमारी हुई है.

आयकर छापे के दौरान सीआरपीएफ और मध्य प्रदेश पुलिस के बीच हुई नोंकझोक के बाद सोमवार डीआईजी वीके गोयल को बात संभालने के लिए खुद आना पड़ा. उन्होंने पुलिस बल से नियमानुसार कार्रवाई करने को कहा है. इसके पहले रविवार को सीआरपीएफ और पुलिस बल आमने-सामने आ गए थे. सीआरपीएफ का कहना था कि राज्य पुलिस उनके काम में हस्तक्षेप कर बाधा डाल रही है, वहीं राज्य पुलिस अधिकारियों का कहना था कि वे तो सिर्फ बीमार लोगों की मदद करने गए थे.

इस बीच सोमवार आयकर विभाग द्वारा प्रवीण कक्कड़, अश्विनी शर्मा औऱ प्रतीक जोशी के दिल्ली ले जाने की संभावनाओं को देखते हुए राज्य पुलिस सतर्क हो गई है. बताते हैं कि इसको लेकर आयकर विभाग के अधिकारियों से उसने बातचीत भी की है. हालांकि आयकर विभाग ऐसी कोई मनुहार या निवेदन मानने के लिए नियमानुसार बाध्य नहीं है. गौरतलब है कि इस छापेमारी में करोड़ों रुपए की नगदी समेत कई संपत्तियों के कागजात आयकर विभाग ने कब्जे में लिए हैं.

आयकर विभाग की टीम सोमवार को प्रवीण कक्कड़ के बेटे सलिल कक्कड़ को लेकर निकली है. संभावना है कि उसकी मौजूदगी में बैंक खातों और लॉकरों की तलाशी ली जाएगी. आयकर विभाग को उम्मीद है कि वहां से भी बड़ी मात्रा में बरामदगी होगी. हालांकि सलिल कक्कड़ ने घर से बाहर निकलते हुए मौजूद मीडियाकर्मियों से कहा कि यह सब उनके साथ हो रहा है. गौरतलब है कि पिछले साल सलिल कक्कड़ को सबसे अधिक आयकर भरने के लिए सम्मानित किया गया था

First Published : 08 Apr 2019, 11:23:10 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो