News Nation Logo
कर्नाटकः कोडागू जिले के जवाहर नवोदय विद्यालय में 32 बच्चे कोरोना पॉजिटिव महाराष्ट्र के गृहमंत्री दिलीप वासले हुए कोरोना पॉजिटिव कोरोना अपडेटः पिछले 24 घंटे में देश में 16,156 केस आए, 733 मरीजों की मौत हुई जम्मू-कश्मीरः डोडा में खाई में गिरी मिनी बस, 8 लोगों की मौत आर्य़न खान ड्रग्स केस में गवाह किरण गोसावी पुणे से गिरफ्तार पेट्रोल और डीजल के दामों में 35 पैसे की बढ़ोतरी कैप्टन अमरिंदर सिंह आज फिर मुलाकात करेंगे गृह मंत्री अमित शाह से क्रूज ड्रग्स मामले में आर्यन खान की जमानत पर आज फिर दोपहर में सुनवाई पीएम नरेंद्र मोदी आज आसियान-भारत शिखर वार्ता को करेंगे संबोधित दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पंजाब के दो दिवसीय दौरे पर आज जाएंगे

यूपी में मानसून की तबाही जारी, और बारिश होने के आसार, अबतक 38 लोगों की मौत

यूपी में मानसून की तबाही जारी, और बारिश होने के आसार, अबतक 38 लोगों की मौत

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 17 Sep 2021, 12:25:02 PM
Monoon mayhem

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में अब तक की सबसे भीषण मानसूनी तबाही देखने को मिल रही है, जिसने सामान्य जनजीवन को पूरी तरह से अस्त व्यस्त कर दिया है। पिछले 40 घंटों से लगातार हो रही भारी बारिश से अब तक 38 लोगों की मौत हो चुकी है।

मौसम विभाग ने कहा कि बहराइच, लखीमपुर खीरी, सीतापुर, कानपुर नगर, उन्नाव, लखनऊ, बाराबंकी, रायबरेली, अमेठी, सुल्तानपुर, अयोध्या, अंबेडकर नगर, फिरोजाबाद, औरैया, बरेली, पीलीभीत, इटावा में आंधी और बिजली के साथ भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है।

पिछले 36 घंटों में विभिन्न जिलों में 22 मिमी से अधिक बारिश दर्ज की गई है, जबकि लखनऊ में 235 मिमी बारिश दर्ज की गई है।

अकेले बाराबंकी से नौ मौतों की सूचना मिली है, ज्यादातर दुर्घटनाएं घर के ढहने, और बड़े पैमाने पर जलभराव, बिजली और दूरसंचार व्यवधानों के कारण हुई है।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि बारिश के कारण 15 लोगों की मौत हो गई, जबकि 10 से अधिक लोग हादसों में घायल हो गए। वहीं लखनऊ में करंट लगने से दो बच्चों की मौत हो गई।

मौसम विभाग के पूवार्नुमान के मद्देनजर राज्य सरकार ने घोषणा की है कि राज्य के सभी स्कूल, कॉलेज और अन्य शैक्षणिक संस्थान शुक्रवार और शनिवार को बंद रहेंगे। हालांकि, 18 सितंबर से होने वाली यूपी बोर्ड की इम्प्रूवमेंट परीक्षाएं तय कार्यक्रम के अनुसार होंगी।

मूसलाधार बारिश के कारण मुख्य रूप से राज्य के मध्य जिलों में फसलों को भारी नुकसान की सूचना मिली है।

राज्य की राजधानी में कई अस्पतालों, पुलिस स्टेशनों और यहां तक कि नगर निगम कार्यालयों में भी पानी भर गया है।

मुख्यमंत्री ने वरिष्ठ अधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्रों का दौरा करने और राहत कार्य ठीक से सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं।

उन्होंने अधिकारियों से मुआवजे को तय करने के लिए प्रत्येक क्षेत्र में नुकसान का आकलन करने को भी कहा है।

लखनऊ में स्थिति सबसे खराब है, जहां लगातार बारिश के बाद माल एवेन्यू और राजभवन कॉलोनी सहित पॉश इलाके नहर में तब्दील हो गए और कई वाहन जलमग्न हो गए है।

लगभग एक दर्जन कारें कच्ची सड़कों पर गिर गईं, जबकि 100 से अधिक कारें पानी में डूब जाने से क्षतिग्रस्त हो गईं। 150 से अधिक पेड़ गिरे और 300 बिजली के खंभे गिरे। राज्य की राजधानी में 60 से अधिक ट्रांसफार्मरों में खराबी आ गई, जिसके कारण बड़े और लंबे समय तक बिजली बाधित रही।

सड़क, रेल और हवाई यातायात भी बाधित है।

अधिकतम तापमान सामान्य से आठ डिग्री कम 25 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया है।

मौसम विभाग ने भविष्यवाणी की है कि शुक्रवार से बारिश की तीव्रता कम होने लगेगी, लेकिन अगले 48 घंटों में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है।

राहत आयुक्त रणवीर प्रसाद ने कहा कि मौसम विभाग ने शुक्रवार के लिए भी अलर्ट जारी किया है और राज्य की मशीनरी स्थिति से निपटने के लिए कमर कस रही है।

लखनऊ में पुलिस कमिश्नरेट और जिला मजिस्ट्रेट ने एक एडवाइजरी जारी कर लोगों से कहा है कि जब तक बहुत जरूरी न हो अपने घरों से बाहर न निकलें।

लोगों को बिजली के खंभों से दूर रहने और गड्ढों वाली सड़कों से दूर रहने को कहा गया है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 17 Sep 2021, 12:25:02 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो