News Nation Logo

बंगाल के मंत्री ने ईडी के समन को दूसरी बार किया नजरअंदाज

बंगाल के मंत्री ने ईडी के समन को दूसरी बार किया नजरअंदाज

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 23 Sep 2021, 11:35:01 PM
Moloy Ghatak

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

कोलकाता: पश्चिम बंगाल के कानून मंत्री मोलॉय घटक करोड़ों रुपये के कोयला तस्करी मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा भेजे गए दूसरे समन को यह कहते हुए नजरअंदाज कर दिया कि वह चुनावी काम में व्यस्त हैं और फिलहाल जांच एजेंसी के सामने पेश नहीं हो सकते।

घटक को गुरुवार सुबह 11 बजे एजेंसी के सामने पेश होना था।

घटक के करीबी सूत्र ने कहा, ईडी को भेजे गए एक मेल में मंत्री ने लिखा है कि चूंकि राज्य में उपचुनाव हैं, इसलिए वह चुनाव के काम में व्यस्त हैं, इसलिए जांच एजेंसी के सामने पेश नहीं हो पाएंगे।

कानून मंत्री को इस महीने भेजा गया यह दूसरा समन है। इससे पहले उन्हें 2 सितंबर को एजेंसी के सामने पेश होने के लिए कहा गया था, लेकिन उन्होंने स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतों का हवाला देते हुए पूछताछ से परहेज किया।

उस समय मंत्री ने यह भी कहा था कि चूंकि वह कोलकाता में तैनात हैं, और चूंकि ईडी का कार्यालय शहर में है, इसलिए अधिकारी कोलकाता आकर अपना बयान दर्ज करा सकते हैं। मंत्री ने यह भी कहा कि वह जांच एजेंसी के साथ सहयोग करने के लिए तैयार हैं।

तृणमूल कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी और उनकी पत्नी रुजिरा बनर्जी के बाद घटक तीसरे व्यक्ति हैं, जिन्हें कोयला घोटाला मामले की जांच कर रही केंद्रीय एजेंसी से समन मिला है।

हालांकि रुजिरा बनर्जी ने दिल्ली जाने से इनकार कर दिया, लेकिन अभिषेक बनर्जी 6 सितंबर को नई दिल्ली में ईडी कार्यालय गए जहां उनसे नौ घंटे तक पूछताछ की गई।

अगले दिन उन्हें फिर बुलाया गया, लेकिन उन्होंने जाने से इनकार कर दिया। बाद में, ईडी ने एक नया नोटिस जारी किया और उन्हें 21 सितंबर को पेश होने के लिए कहा, जिसे उन्होंने फिर से टाल दिया।

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा दर्ज 1 नवंबर 2020 की प्राथमिकी का अध्ययन करने के बाद ईडी द्वारा धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत मामला दर्ज किया गया था, जिसमें पूर्वी आसनसोल और उसके आसपास कोलफील्ड्स लिमिटेड की खदानों से करोड़ों के कोयला चोरी घोटाले का आरोप लगाया गया था।

स्थानीय स्टेट ऑपरेटिव अनूप मांझी उर्फ लाला इस मामले में मुख्य संदिग्ध है।

ईडी ने पहले दावा किया था कि घटक इस अवैध व्यापार से प्राप्त धन का लाभार्थी था। घटक का नाम पूछताछ के दौरान कई बार सामने आया। ईडी के अलावा सीबीआई कोयला घोटाले की भी जांच कर रही है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 23 Sep 2021, 11:35:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.