logo-image
लोकसभा चुनाव

Modi Cabinet 2024: अमित शाह ने एक बार फिर संभाला गृह मंत्रालय का पदभार, जानें किन मंत्रियों ने लिया चार्ज

Modi Cabinet 2024: शपथ लेने के बाद एक-एक पर सभी मंत्री अपना कार्यालय संभालने के लिए पहुंचे, यहां पर उनका कर्मचारियों ने स्वागत कया.

Updated on: 11 Jun 2024, 12:41 PM

नई दिल्ली:

Modi Cabinet 2024:  एनडीए सरकार में नए कैबिनेट मंत्रियों ने अपने-अपने पदों को संभालना आरंभ कर दिया है. इस बार 30 कैबिनेट मंत्रियों ने शपथ ली है. पीएम का निर्देश मिलते ही एक-एक कर सभी कार्यालय पहुंचकर अपना चार्ज ले रहे हैं. आपको बता दें कि 9 जून को नरेंद्र मोदी ने पीएम पद की शपथ ली. उनके साथ 71 मंत्रियों ने भी शपथ ली. सोमवार को सभी पोर्टफोलियो बांटे गए. कई को दोबोरा वहीं मंत्रालय मिला है. गृह मंत्रालय अमित शाह, विदेश मंत्रालय एस जयशंकर, रक्षा मंत्रालय राजनाथ सिंह को दिया  गया है.   

जयशंकर ने संभाला विदेश मंत्रालय का कार्यभार  

विदेश मंत्री एस जयशंकर मंगलवार को विदेश मंत्रालय पहुंचे. यहां पर अपना कार्यभार संभाला. वह लगातार दूसरी बार विदेश मंत्री बनाए गए. मंगलवार को अगले 5 वर्षों में भारत की UNSC सीट पर उन्होंने कहा "इसके  अलग-अलग पहलू हैं और मुझे पूरा विश्वास है कि पीएम मोदी के नेतृत्व में, मोदी 3.0 की विदेश नीति बहुत सफल होगी. हमारे लिए, भारत का प्रभाव न केवल हमारी अपनी धारणा के संदर्भ में बल्कि अन्य देश क्या सोचते हैं, इसके संदर्भ में भी लगातार बढ़ रहा है. हमारी जिम्मेदारियां भी बढ़ रही हैं, इसलिए हम भी मानते हैं कि पीएम मोदी के नेतृत्व में, भारत की दुनिया में पहचान जरूर बढ़ेगी." 

 

जयशंकर ने पड़ोसी देशों पाकिस्तान और चीन को लेकर कहा, उन देशों के साथ रिश्ते अलग हैं और वहां की समस्याएं भी अलग हैं, चीन को लेकर हमारा फोकस रहेगा सीमा मुद्दों का समाधान ढूंढना और पाकिस्तान के साथ हम वर्षों पुराने सीमा पार आतंकवाद के मुद्दे का समाधान ढूंढना चाहेंगे..."

 

परिवहन और हमारे देश की अर्थव्यवस्था: अश्विनी वैष्णव

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने मंगलवार को अपना कार्यालय संभाला. उन्होंने कहना,'लोगों ने पीएम मोदी को फिर से देश की सेवा करने का आशीर्वाद दिया है. इसमें रेलवे की बहुत बड़ी भूमिका होगी. पिछले 10 सालों में पीएम नरेंद्र मोदी ने रेलवे में कई सुधार किए हैं. चाहे वह विद्युतीकरण हो रेलवे का निर्माण, नए ट्रैक का निर्माण, नई तरह की ट्रेनें, नई सेवाएं या स्टेशनों का पुनर्विकास, ये पिछले 10 वर्षों में पीएम मोदी की प्रमुख उपलब्धियां हैं और पीएम ने रेलवे को फोकस में रखा है क्योंकि रेलवे आम आदमी का साधन है. परिवहन और हमारे देश की अर्थव्यवस्था की बहुत मजबूत रीढ़ है, इसलिए रेलवे पर बहुत अधिक ध्यान दिया जाता है. मोदी जी का रेलवे से भावनात्मक संबंध है... मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद देता हूं.''

 

केंद्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री भूपेन्द्र यादव का कहना है, "मैं पीएम मोदी का आभार व्यक्त करता हूं कि उन्होंने मुझे एक महत्वपूर्ण मंत्रालय की जिम्मेदारी दी है. मैं इस जिम्मेदारी को निभाने के लिए पूरी तत्परता से काम करूंगा. 

 

केंद्रीय कपड़ा मंत्री गिरिराज ने आज अपना मंत्रालय संभाला. इस दौरान गिरिराज सिंह ने कहा "आज मैंने कार्यभार संभाला रहा हूं. कपड़ा क्षेत्र सबसे अधिक रोजगार देने वाला क्षेत्र है...प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में हम सभी इसे आगे बढ़ाने का काम करेंगे क्योंकि यह भी जुड़ा हुआ है."

 

पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के राज्य मंत्री, सुरेश गोपी ने मंगलवार को अपना कार्यभार संभाला. उन्होंने कहा, "...यह एक बड़ी ज़िम्मेदारी है. इसलिए, मुझे उन संभावनाओं को देखना होगा. ये प्रधानमंत्री आशा कर  रहे हैं... पूरी सामग्री को पढ़ने के बाद भारत में उभरती पेट्रोलियम प्रणालियों के अगले स्तर में, शायद मैं अपना योगदान दे पाऊंगा.. आइए अपने विचार खुले रखें... केरल, त्रिशूर के लोगों को धन्यवाद... आपने मुझे यह अवसर दिया."

 

संचार मंत्री का कार्यभार संभालने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा, "यह मेरे लिए सम्मान की बात है कि प्रधानमंत्री ने मुझे संचार मंत्रालय की जिम्मेदारी दी है. उनके नेतृत्व में इस विभाग में क्रांति आई है. मैं प्रतिज्ञा करता हूं." दृढ़ रहें और यह सुनिश्चित करने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करें कि हम प्रधानमंत्री के साथ-साथ भारत के 140 करोड़ लोगों की आकांक्षाओं के अनुरूप काम करें..."

 

दिल्ली में जगत प्रकाश नड्डा ने स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री का पदभार संभाला. अनुप्रिया पटेल और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री जाधव प्रतापराव गणपतराव भी उपस्थित थे.

 

कानून और न्याय मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अर्जुन राम मेघवाल कहते हैं, "कानून और न्याय विभाग मोदी 3.0 सरकार का प्राथमिक फोकस है... हमारी आपराधिक प्रणाली, आईपीसी, सीआरपीसी और से संबंधित कानून साक्ष्य अधिनियम को भारतीय आवश्यकता के अनुसार संशोधित किया गया है, इन्हें 1 जुलाई से लागू किया जाएगा..."