News Nation Logo

तीन वर्षों में 18,000 ग्रामीण और जनजातीय क्षेत्रों के छात्रों को प्रशिक्षण

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 20 Jul 2022, 11:30:01 PM
Miniter of

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली:   अगले तीन सालों में ग्रामीण और जनजातीय इलाकों पर अधिक ध्यान केंद्रित रखते हुए 18,000 छात्रों को प्रशिक्षित किया जाएगा। कौशल विकास मंत्रालय की पहल पर एक अनोखे प्रशिक्षिण कार्यक्रम- टोयोटा तकनीकी शिक्षा कार्यक्रम (टी-टीईपी) के तहत प्रशिक्षित कर इन छात्रों को रोजगार के लिए ज्यादा बेहतर ढंग से तैयार किया जा सकेगा। इन छात्रों को ऑटोमोटिव क्षेत्र से जुड़े पांच तरह के कामों का प्रशिक्षण दिया जाएगा, इनमें जनरल टेक्नीशियन, बॉडी-पेंट टेक्नीशियन, सर्विस एडवाइजर, सेल्स कंसल्टेंट और कॉल सेंटर स्टाफ शामिल है।

राष्ट्रीय कौशल विकास निगम (एनएसडीसी) के कार्यवाहक सीईओ वेद मणि तिवारी व कौशल विकास एवं उद्यमिता राज्यमंत्री राजीव चंद्रशेखर के साथ-साथ टीकेएम के कार्यकारी उपाध्यक्ष विक्रम गुलाटी की मौजूदगी में इस विषय पर एक एमओयू किया गया।

टी-टीईपी स्किल इंडिया मिशन से जुड़ा हुआ है और अब तक यह 21 राज्यों में 56 आईटीआई, पॉलिटेक्निक कॉलेजों के साथ गठजोड़ कर चुका है। अब तक 10,000 से ज्यादा छात्रों को प्रशिक्षित किया जा चुका है और इनमें से 70 प्रतिशत अलग-अलग कंपनियों में काम कर रहे हैं।

इस मौके पर राज्यमंत्री राजीव चंद्रशेखर ने कहा कि टोयोटा किर्लोस्कर मोटर द्वारा एनएसडीसी और एएसडीसी के साथ गठजोड़ वाला, ग्रामीण इलाकों पर केंद्रित यह कार्यक्रम छात्रों को बेहद कुशल बनाने, उन्हें रोजगार उपलब्ध करवाने और भविष्य के लिए उन्हें तैयार करने की दिशा में बड़ा योगदान देगा। यह पहल केंद्र सरकार की स्किल इंडिया मिशन से जुड़ी हुई है। उन्होंने आगे कहा, सरकार, इंडस्ट्री में टोयोटा जैसे भागीदारों को एक मंच उपलब्ध करवाकर, मौजूदा कौशल अंतर को भरने के लिए उनकी कोशिशों को प्रोत्साहन और मदद देती है, ताकि वे वैश्विक स्तर की श्रमशक्ति तैयार कर सकें।

मंत्री ने आगे कहा कि ऑटोमोटिव सेक्टर भारतीय अर्थव्यवस्था का एक अहम स्तंभ है और अगले 5-6 साल में यह विनिर्माण क्षेत्र में बड़े मौके उपलब्ध करवाएगा। भारत में ऑटोमोबाइल सेक्टर के भविष्य के लिए, ऑटोमोटिव सेक्टर एक केंद्रीय स्तंभ बन सकता है और कौशल विकास के लिए बड़े अवसर उपलब्ध करवा सकता है। कौशल विकास की दिशा में बढ़ने के लिए टोयोटा के साथ यह साझेदारी एक अहम कदम साबित होगी। साथ ही यह दूसरी विनिर्माण कंपनियों को कौशल विकास एवम् उद्यमिता मंत्रालय के साथ, एनएसडीसी के जरिए साझेदारी के लिए प्रोत्साहित करने वाला एक उदाहरण भी बनेगा, ताकि भारत को वैश्विक कौशल का गढ़ बनाने के प्रधानमंत्री के सपने को आगे ले जाया जा सके।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 20 Jul 2022, 11:30:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.