News Nation Logo
Banner

कुलभूषण मामले में भारत की पाकिस्तान को दो टूक, चीन के साथ तनातनी पर कही ये बात

भारत ने कहा कि पाकिस्तान को कुलभूषण जाधव मामले में मुख्य मुद्दे को संबोधित करने की जरूरत है. मंत्रालय ने कहा कि इस मामले में पाकिस्तान को जरूरी दस्तावेज और निरंतर रूप से काउंसेलर एक्सेस मिलना चाहिए.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Chaurasia | Updated on: 27 Aug 2020, 07:25:46 PM
kulbhushan jadhav

कुलभूषण जाधव केस (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

भारत के विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को हुई एक बैठक में कुलभूषण जाधव मामले पर बातचीत की. विदेश मंत्रालय ने कहा कि वे इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) के स्वतंत्र और निष्पक्ष फैसलों पर भरोसा है. पाकिस्तान को कुलभूषण जाधव मामले में मुख्य मुद्दे को संबोधित करने की जरूरत है. मंत्रालय ने कहा कि इस मामले में पाकिस्तान को जरूरी दस्तावेज और निरंतर रूप से काउंसेलर एक्सेस मिलना चाहिए. बता दें कि कुलभूषण जाधव मामले में पाकिस्तान लगातार नई चाल चल रहा है.

ये भी पढ़ें- पुलवामा हमले के लिए उमर फारूक के खातों में 10 लाख जमा किए गए : एनआईए

कुलभूषण जाधव मामले में इस्लामाबाद हाईकोर्ट ने 3 सितंबर को होने वाली सुनवाई के लिए भारत की उपस्थिति के आदेश दिए थे. कोर्ट के आदेश के बाद पाकिस्तान की इमरान खान सरकार ने सुनवाई के लिए भारत को बुलाया है. बता दें कि कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई के लिए भारत को अपना वकील पेश करने की भी इजाजत दी थी. मामले की सुनवाई के लिए भारत को अंग्रेजी के अलावा अन्य भाषा का भी इस्तेमाल करने की अनुमति दी गई है.

ये भी पढ़ें- दोपहर में लंबे समय तक सोने से हो सकती है मौत, शोध में सामने आई सच्चाई

इसके अलावा विदेश मंत्रालय ने चीन के साथ जारी तनातनी पर भी बयान दिया है. गुरुवार को हुई 18वीं WMCC की बैठक में कहा गया कि दो पक्षों में विचारों का गहन आदान-प्रदान होता है. समझौतों के अनुसार 2 पक्ष निरंतर सीमा पर विघटन के लिए काम करते रहेंगे. किसी भी देश के विकास के लिए शांति और अमन जरूरी है. जिसके लिए WMCC की बैठक जारी रखने पर सहमति भी हुई है.

First Published : 27 Aug 2020, 07:25:46 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो