News Nation Logo
Banner

अयोध्या फैसले पर पाकिस्तान ने दी दखल, विदेश मंत्रालय ने लगाई लताड़

पाकिस्तान को सुप्रीम कोर्ट द्वार अयोध्या पर दिए गए फैसले पर टिप्पणी करने का कोई अधिकार नहीं है. यह भारत का बिल्कुल आंतरिक मामला है

By : Sushil Kumar | Updated on: 09 Nov 2019, 09:24:04 PM
विदेश मंत्रालय एस जयशंकर

विदेश मंत्रालय एस जयशंकर (Photo Credit: न्यूज स्टेट)

नई दिल्ली:

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने सुप्रीम फैसला दे दिया है. इस फैसले पर पाकिस्तान ने दखल दी है. जिसके बाद विदेश मंत्रालय ने जमकर लताड़ लगाई है. विदेश मंत्रालय ने कहा कि हमने पाकिस्तान द्वारा किए गए अनुचित और गंभीर टिप्पणी को सिरे से खारिज करता हूं. पाकिस्तान को सुप्रीम कोर्ट द्वार अयोध्या पर दिए गए फैसले पर टिप्पणी करने का कोई अधिकार नहीं है. यह भारत का बिल्कुल आंतरिक मामला है. 

यह भी पढ़ें- करतारपुर की पवित्र धरती से पाकिस्‍तान के पीएम इमरान खान की नापाक अपील

विदेश मंत्रालय ने कहा कि यह सभी धर्मों, अवधारणाओं के लिए कानून और समान सम्मान के शासन से संबंधित है. जो उनके लोकाचार का हिस्सा नहीं हैं. पाकिस्तान की समझ इस मामले में आश्चर्यजनक नहीं है. क्योंकि उसके सोच में भारी कमी है. नफरत फैलाने के लिए हमारे स्पष्ट इरादे और हमारे आंतरिक मामलों पर टिप्पणी करता है. उनकी ये हरकत निंदनीय है. पाकिस्तान ने भारत के आंतरिक मामले में दखल दी है. अयोध्या मामला कोई अंतराष्ट्रीय मुद्दा नहीं है. पाकिस्तान शायद इसे मुस्लिम-हिंदू के चश्मे से देख रहा हो. लेकिन भारत में सब शांति है. इस फैसले का सभी ने स्वागत किया है.

यह भी पढ़ें- संयुक्त राष्ट्र संघ के अधिकारी ने कहा- चीन अंतरराष्ट्रीय आयात एक्सपो पोषण सहयोग में योगदान देगा

वहीं पाकिस्तानी अखबार ‘द डॉन’ ने लिखा, 'भारत की सुप्रीम कोर्ट ने उस विवादित स्थल पर, जहां हिंदुओं ने 1992 में मस्जिद गिराई थी हिंदुओं के पक्ष में फैसला सुना दिया और कहा कि अयोध्या की जमीन पर मंदिर बनाया जाएगा. हालांकि, कोर्ट ने यह मान लिया कि 460 साल पुरानी बाबरी मस्जिद को गिराना कानून का उल्लंघन था. कोर्ट के फैसले (Ayodhya Verdict) से भारत के हिंदू-मुस्लिमों के बीच भारी हुए संबंधों पर बड़ा असर पड़ सकता है.'

यह भी पढ़ें- एशियाई देश 11 नवंबर को मनाएंगे खरीदारी दिवस, इलेक्ट्रॉनिक पेमन्ट की भी होगी सुविधा

हिन्‍दुओं (Hindu) के सबसे बड़े आराध्‍य श्रीराम (SriRam) का अयोध्‍या में मंदिर बनने का रास्‍ता सुप्रीम कोर्ट ने साफ कर दिया है. अयोध्या में राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद में उच्चतम न्यायालय ने शनिवार को विवादित पूरी 2.77 एकड़ जमीन राम लला को दे दी. अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित किया. 

First Published : 09 Nov 2019, 08:51:38 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.