News Nation Logo

मौलाना साद का नया ऑडियो आया सामने, कहा-अल्लाह से दूर होने का नतीजा है कोरोना महामारी, इसके साथ कही ये बात

मौलाना साद ने ऑडियो संदेश में कोरोना महामारी को अल्लाह का प्रकोप बताया है और इससे निपटने के लिए लोगों को सहयोग देने के लिए कहा है. मौलाना साद ने कहा कि इलाज में वो सरकार का सहयोग करे.

News Nation Bureau | Edited By : Nitu Pandey | Updated on: 19 Apr 2020, 04:49:28 PM
maulana saad

मौलाना साद (Photo Credit: फाइल फोटो)

New Delhi:

तबलीगी जमात के प्रमुख मौलाना साद (Maulana saad) भले ही पुलिस के सामने नहीं आ रहा है,  लेकिन वो लगातार ऑडियो मैसेज जारी कर रहा है. कभी वो ऑडियो जारी कर कहता है कि वो क्राइम ब्रांच के नोटिस का जवाब नहीं दे सकते क्योंकि क्वारंटाइन है, तो कभी सरकार पर निशाना साधता है. इस बार मौलाना साद ने नया वीडियो जारी किया जिसमें वो अपने लोगों को एक संदेश दे रहा है.

मौलाना साद ने ऑडियो संदेश में कोरोना महामारी (Corona pandemic) को अल्लाह का प्रकोप बताया है और इससे निपटने के लिए लोगों को सहयोग देने के लिए कहा है. मौलाना साद ने कहा कि इलाज में वो सरकार का सहयोग करे. जब कोई टेस्ट करने या क्वारंटाइन करने आता है तो इसमें सहयोग करें. उन्होंने कहा कि किसी भी बीमारी का इलाज करना बेहद जरूरी है.

अपने आसपास जरूरतमंदों की मदद करें

इसके साथ ही मौलाना साद ने कहा कि अपने आसपास जरूरतमंदों की मदद करे. ये सुनिश्चित करें कि कोई भी आपके आसपास भूखा ना सोये. अपने सामर्थ्य के मुताबिक उनकी मदद करें.

इसे भी पढ़ें:हजारों लोगों की जिंदगी खतरे में डालने वाला मौलाना साद जीता है आलीशान जिंदगी, देखें हैरान करने वाली कुछ तस्वीरें

अल्लाह लोगों को अपने करीब लाने के लिए ऐसी महामारी लाते हैं

तबलीगी जमात के प्रमुख ने कहा कि कोई भी महामारी तब आती है जब बंदे अल्लाह से दूर हो जाते हैं. अल्लाह अपने करीब लाने के लिए ऐसी महामारी लाते हैं.

मौलाना साद ने मांगी है एफआईआर की कॉपी

एक दिन पहले मौलाना साद ने पुलिस को पत्र लिखकर एफआईआर (FIR) की कॉपी देने की मांग की है.जांच से जुड़े क्राइम ब्रांच के सूत्र के मुताबिक साद ने 16 अप्रैल को पुलिस को लिखे पत्र में कहा, '31 मार्च को मेरे खिलाफ दर्ज की गई एफआईआर में मैं एक व दो अप्रैल को दो नोटिसों का जवाब देकर जांच में शामिल हुआ हूं.' सूत्र ने आगे कहा कि साद ने पुलिस को उसके खिलाफ दर्ज एफआईआर की प्रति साझा करने को कहा है और साथ ही कहा है कि अगर एफआईआर में कोई नया खंड (सेक्शन) जोड़ा गया है तो उसे इसके बारे में सूचित करें. सूत्र के अनुसार साद ने यह भी कहा कि वह जांच में सहयोग करने के लिए तैयार है.

और पढ़ें:मौलाना साद के अकाउंट में आया था विदेशों से पैसा, क्राइम ब्रांच खंगाल रही डिटेल, 4 करीबियों पर मुकदमा

मौलाना साद पर ये है इल्जाम

बता दें कि बीते महीने निजामुद्दीन मरकज में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था, जो देश में कोरोना का बड़ा हॉटस्पॉट बना था. देश के कई राज्यों से आए जमाती इस कार्यक्रम में शामिल हुए थे, जिनमें से हजारों की संख्या में कोरोना संक्रमित पाए गए. कई राज्यों में तबलीगी जमात से जुड़े लोग कोरोना संक्रमित पाए गए.

First Published : 19 Apr 2020, 04:36:23 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.