News Nation Logo
Breaking
Banner

पत्नी से मौलानाओं ने की मारपीट, घरवापसी वाले जितेंद्र त्यागी ने ट्वीट कर मांगी मदद

जितेंद्र नारायण त्यागी के ट्विटर हैंडल से जानकारी मिली है कि उनकी पत्नी को कुछ इस्लामिक धर्मगुरुओं (मौलानाओं) ने मार-पीट कर घर से निकाल दिया है. ट्वीट में यूपी पुलिस के ASI जैदी पर मौलानाओं का साथ देने का आरोप लगाया गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Keshav Kumar | Updated on: 21 Jan 2022, 02:56:02 PM
jitendra tyagi

जितेंद्र नारायण त्यागी पूर्व के वसीम रिजवी हैं (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • जितेंद्र नारायण त्यागी हाल ही में इस्लाम त्याग कर घर वापसी कर चुके हैं
  • उनकी पत्नी फरहा फातिमा को मौलानाओं ने मारपीट कर घर से निकाल दिया 
  • फातिमा ने आरोपियों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्यवाही करने की मांग की है

नई दिल्ली:  

हरिद्वार धर्म संसद के दौरान विवादित भाषण मामले में जेल में बंद जितेंद्र नारायण त्यागी की पत्नी पर हमले की शिकायत सामने आई है. जितेंद्र नारायण त्यागी के ट्विटर हैंडल से जानकारी मिली है कि उनकी पत्नी को कुछ इस्लामिक धर्मगुरुओं (मौलानाओं) ने मार-पीट कर घर से निकाल दिया है. ट्वीट में यूपी पुलिस के ASI जैदी पर मौलानाओं का साथ देने का आरोप लगाया गया है. जितेंद्र नारायण त्यागी पूर्व के वसीम रिजवी हैं और हाल ही में इस्लाम त्याग कर सनातन धर्म में घर वापसी कर चुके हैं. 

जितेंद्र नारायण त्यागी की पत्नी फरहा फातिमा ने इस मामले में सख्त कानूनी कार्रवाई की मांग की है. उन्होंने सआदतगंज थाना अध्यक्ष को दिए शिकायत पत्र में लिखा है कि 20 जनवरी शाम साढ़े 5 बजे के आसपास मेरे घर में कुछ काम चल रहा था. इसमें मेरी ममेरी बहन निदा फातिमा पुत्री रईस हुसैन और अन्य निवासीगढ़ घर में कुछ काम करवा रही थी. अचानक से शमील शम्सी पुत्र शमशुल हसन उर्फ ताज, मीसम रिजवी पुत्र इब्ने हसन, शबाब असगर पुत्र गुलाम असगर, अब्बास नकी हुसैन उर्फ पुत्र शहजादे, गुलशन अब्बास पुत्र मुहम्मद हुसैन, शहजाद पुत्र तौफीक हुसैन, कियान रिजवी फैजी पुत्र इब्ने हसन उर्फ हुजूर मियां व सलमान मेरे घर में घुस आये और मेरी ममेरी बहन निदा का काम करने वाले बढाई से गाली-गलौज करने लगे.

सात साल के बच्चे के साथ रहती हैं फातिमा

फरहा फातिमा ने आगे लिखा है कि मेरी बहन ने इसकी सूचना मुझे दी. मैंने तुरंत थाना सआदतगंज को फोन करके बता दिया और घर की तरफ भागी. मेरे समर्थन में मेरी छोटी बहन अमरीन पत्नी नूर आलम व भाभी उजमा बानो पत्नी सईद रिजवी भी पहुंची. वहां पहुंचते ही जो लोग वहां पहले से मौजूद थे जिनके नाम मैं पहले लिख चुकी हूं, मेरे साथ भी धक्का मुक्की व गालीगलौज करने लगे. वहां मौजूद SI जैदी खड़े मूकदर्शक बने देखते रहे और मैं मिन्नतें करती रही.

ये भी पढ़ें - Uniform Civil Code : चुनावों के बीच क्यों चर्चा में BJP का अधूरा तीसरा वादा

फरहा फातिमा ने आगे बताया है कि SI जैदी ने जबरन मुझसे मेरे घर की चाबी ले ली और हम सबको घर से निकाल बाहर कर दिया. मैं एक अकेली मजबूर महिला हूं. मेरा एक सात साल का पुत्र है. मेरा पति जेल में है और फिलहाल मेरा कोई सहारा नहीं हैं. मैं किसी तरह अपना जीवन यापन कर रही हूं. इन हालातों में ऐसी घटना मेरे साथ होना घोर निंदनीय है. फातिमा ने आरोपियों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्यवाही करने की मांग की है.

First Published : 21 Jan 2022, 02:49:56 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.