News Nation Logo
पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में देश में चक्रवात से संबंधित स्थिति पर हुई समीक्षा बैठक प्रभावित देशों से आने वाले यात्रियों का एयरपोर्ट पर RT-PCR टेस्ट किया जा रहा है: सत्येंद्र जैन दिल्ली में पिछले कुछ महीनों से कोविड मामले और पॉजिटिविटी रेट काफी कम है: सत्येंद्र जैन आंदोलनकारी किसानों की मौत और बढ़ती महंगाई के मुद्दे पर विपक्षी सांसदों ने राज्यसभा में नारेबाजी की गृहमंत्री अमित शाह आज यूपी दौरे पर रहेंगे दिल्ली में आज भी प्रदूषण का स्तर काफी खराब, AQI 342 पर पहुंचा बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने बैठकर गाया राष्ट्रगान, मुंबई BJP के एक नेता ने दर्ज कराई FIR यूपी सरकार ने भी ओमीक्रॉन को लेकर कसी कमर, बस स्टेशन- रेलवे स्टेशन पर होगी RT-PCR जांच

मास्टर्स यूनियन के पहले बैच को मिला औसतन 29.12 लाख रुपये का पैकेज

मास्टर्स यूनियन के पहले बैच को मिला औसतन 29.12 लाख रुपये का पैकेज

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 25 Nov 2021, 08:10:02 PM
Mater Union

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: मास्टर्स यूनियन स्कूल ऑफ बिजनेस ने गुरुवार को अपने प्रमुख पीजीपी-टीबीएम (प्रौद्योगिकी और व्यवसाय प्रबंधन में स्नातकोत्तर) के 16 महीने के ऑन-कैंपस कार्यक्रम के पहले बैच की नियुक्ति (प्लेसमेंट) की घोषणा की।

पहले बैच को 29.12 लाख रुपये के औसत पैकेज पर रखा गया है, जो इस साल आईआईएम और आईएसबी सहित सभी भारतीय बिजनेस-स्कूलों में सबसे अधिक है। मास्टर्स यूनियन की प्लेसमेंट रिपोर्ट का ऑडिट ब्रिकवर्क्‍स एनालिटिक्स द्वारा किया गया है, जो रेटिंग और ऑडिटिंग एजेंसी है, जो प्रमुख आईआईएम की प्लेसमेंट रिपोर्ट का भी ऑडिट करती है।

कंसल्टिंग दिग्गज बीसीजी, बैन एंड कंपनी, तकनीकी दिग्गज माइक्रोसॉफ्ट, वर्चुसा और सिस्को और रेजरपे तथा अनएकेडमी सहित कई भारतीय स्टार्टअप सबसे बड़े रिक्रूटर्स (भर्ती करने वाले) में शामिल थे।

बैच के शीर्ष 10 प्रतिशत को 43.66 लाख रुपये से ऊपर का पैकेज दिया गया है और बैच के शीर्ष 50 प्रतिशत को 36.12 लाख रुपये का पैकेज प्राप्त हुआ है। यहां तक कि नीचे के 10 प्रतिशत ने भी 19 लाख रुपये से ऊपर का पैकेज प्राप्त किया है। फ्रेशर्स के लिए औसत पैकेज 23 लाख रुपये दर्ज किया गया है।

बीसीजी, बैन, ईवाई और अन्य कन्सल्टिंग कंपनियों ने बैच के लगभग 13.28 प्रतिशत छात्रों को काम पर रखा है। मास्टर्स यूनियन में तकनीकी फोकस को देखते हुए, उत्पाद और कार्यक्रम प्रबंधन भूमिकाओं की मांग बहुत अधिक है, जिसमें एक तिहाई से अधिक बैच को ऐसी भूमिकाएं मिलीं।

उल्लेखनीय रूप से, 12 प्रतिशत छात्रों के लिए चीफ ऑफ स्टाफ/एग्जिक्यूटिव की अर्थव्यवस्था से जुड़ी नई भूमिका निभाने का मार्ग प्रशस्त हो सका है। उन्हें नीमन्स, सिकोइया द्वारा वित्त पोषित वनकोड, एग्नेक्स्ट जैसे प्रमुख स्टार्टअप्स में संस्थापकों के साथ काम करने का अनूठा अवसर प्राप्त हुआ है। शानदार प्लेसमेंट के अलावा और हाल के रुझानों को ध्यान में रखते हुए, 7 प्रतिशत छात्रों ने अपने स्टार्टअप शुरू किए हैं और वीसी फंड जुटाए हैं।

मास्टर्स यूनियन ने 2020 में सीईओ, सीएक्सओ, सभी विषयों के शीर्ष शिक्षाविदों, संसद सदस्यों और समान साख वाले अन्य दिग्गजों द्वारा पढ़ाई की सुविधा के साथ अपना पहला बैच शुरू किया था।

मास्टर्स यूनियन से जुड़े कुछ सलाहकारों में नरेंद्र जाधव (पूर्व मुख्य अर्थशास्त्री, आरबीआई), शशि थरूर (सांसद), रजत माथुर (एमडी, मॉर्गन स्टेनली), कैप्टन रघु रमन (पूर्व अध्यक्ष, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड), अरुण मल्होत्रा (पूर्व एमडी, निसान इंडिया), एलकाना ईजेकील (पूर्व सीएमओ, सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स), सतीश कृष्णन (पूर्व एमडी, फाइनेंशियल मार्केट्स, स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक) और मुकुंद राजन (पूर्व एमडी, टाटा टेलीसर्विसेज) जैसे दिग्गज शामिल हैं।

मास्टर्स यूनियन के निदेशक प्रथम मित्तल ने कहा, मास्टर्स यूनियन कई मायनों में अद्वितीय है, जिसमें इसका पाठ्यक्रम व्यावसायिक शिक्षा और प्रौद्योगिकी को कैसे मिलाता है; और कैसे हमारे प्रत्येक छात्र को एक अनुभवी उद्योग नेता या एक अनुभवी सार्वजनिक नेता द्वारा सलाह दी जाती है, शामिल है। हम अपने पहले बैच की नियुक्ति की घोषणा करते हुए बहुत उत्साहित हैं। हमारा पैकेज सभी बी-स्कूलों में सबसे ऊंचा है, जो हमारे द्वारा अनुसरण किए जाने वाले व्यवसायी के नेतृत्व वाले मॉडल को मान्य करता है। हमारे छात्रों को कुछ प्रतिष्ठित संस्थानों में चुना गया है, जिनमें से कई केवल चुनिंदा आईआईएम से ही छात्रों को लेते हैं।

देश में प्रबंधन शिक्षा पिछले कुछ वर्षों में एक बदलाव के दौर से गुजर रही है, जिसमें बी-स्कूल तेजी से बढ़ते प्रौद्योगिकी चक्र और संगठनों में डिजिटल की ओर बदलाव को ध्यान में रखते हुए अपनी पेशकशों को नया कर रहे हैं।

फिनटेक, ई-कॉमर्स, एड-टेक जैसे नए जमाने के उद्योगों की जरूरतों को पूरा करने के लिए और एआई, एमएल, सास, ब्लॉकचैन के अनुप्रयोगों के साथ पारंपरिक व्यवसायों में प्रतिस्पर्धात्मक लाभ के लिए, मास्टर्स यूनियन जैसे बिजनेस-स्कूल छात्रों को वास्तविक दुनिया की व्यावसायिक समस्याओं से अवगत कराने के लिए व्यावहारिक तौर-तरीकों से सीखने पर पुनर्विचार कर रहे हैं।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 25 Nov 2021, 08:10:02 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो