News Nation Logo

पूर्व PM मनमोहन सिंह ने वीर सावरकर, NRC और बैंकिंग सिस्टम पर दिया ये जवाब

महाराष्ट्र बीजेपी के मेनिफेस्टो में वीर सावरकर को भारत रत्न दिलाने के वादे से राजनीति गर्मा गई है.

न्यूज स्टेट ब्यूरो | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 17 Oct 2019, 04:59:39 PM
पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह

नई दिल्ली:

महाराष्ट्र बीजेपी के मेनिफेस्टो में वीर सावरकर को भारत रत्न दिलाने के वादे से राजनीति गर्मा गई है. भारतीय जनता दल के संकल्प पत्र में यह वादा शामिल किए जाने के बाद कांग्रेस ने इसका विरोध किया. पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अब याद दिलाया है कि कांग्रेस की सरकार पहले ही वीर सावरकर (Veer Savarkar) के नाम से पोस्टल स्टाम्प जारी कर चुकी है. इसके अलावा ही उन्होंने एनआरसी का समर्थन करते हुए उसकी खामी गिनाई और बैंकिंग सिस्टम पर अपनी सरकार की गलती स्वीकारते हुए मौजूदा सरकार से जवाब मांगा.

यह भी पढ़ेंः पाकिस्तान के F-16 लड़ाकू विमान ने भारतीय यात्री विमान को घेरा था, फिर जानें क्या हुआ...

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह (Ex-PM Manmohan Singh) ने मुंबई में हुए एक कार्यक्रम के दौरान वीर सावरकर को भारत रत्न देने के भाजपा के वादे पर बात की. उन्होंने कहा कि पूर्व पीएम इंदिरा गांधी ने वीर सावरकर के लिए पोस्टल स्टाम्प (डाक टिकट) जारी किया था. हालांकि, इसके बाद मनमोहन सिंह ने यह भी कहा कि हम हिंदुत्व की उस विचारधारा का समर्थन नहीं करते हैं, जिसके पक्षधर वीर सावरकर थे.

पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर ( NRC) पर भी बात की. उन्होंने कहा कि मैं एनआरसी के खिलाफ नहीं हूं, लेकिन एनआरसी पर हमारा कानून मुस्लिमों के साथ भेदभाव करता है. मनमोहन सिंह ने कहा कि एनआरसी के संदर्भ में मानवता का पक्ष नहीं भूलना चाहिए.

यह भी पढ़ेंः अयोध्या केस: संविधान पीठ के पांचों जज अपने-अपने कोर्ट में नहीं कर रहे सुनवाई, संबंधित कोर्ट रूम बन्द

हालांकि, मनमोहन सिंह का यह बयान काफी चौंकाने वाला है, क्योंकि 15 अक्टूबर को जब मुंबई में महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी के संकल्प पत्र में वीर सावरकर को भारत रत्न दिलाने की मांग शामिल की गई तो कांग्रेस ने इसका विरोध करने में बिल्कुल देर नहीं लगाई. कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा कि महात्मा गांधी की हत्या के लिए वीर सावरकर को आपराधिक मुकदमे का सामना करना पड़ा था. उन्होंने यह भी दावा किया कि कपूर आयोग ने भी जांच की थी और हाल ही में एक लेख में यह दावा किया गया था कि आयोग ने सावरकर को जिम्मेदार माना था. अब इस देश को भगवान ही बचाए.

यानी सावरकर को भारत रत्न सम्मान की मांग पर एक तरफ जहां कांग्रेस देश को भगवान बचाए जैसे बयान दे रही थी, वहीं कांग्रेस के सबसे वरिष्ठ नेता और पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने यह दावा कर दिया है कि इंदिरा गांधी ने सावरकर के लिए पोस्टल स्टाम्प जारी किया था.

यह भी पढ़ेंः INX Media Case: पी चिदंबरम के खिलाफ ED की याचिका पर कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रखा

बता दें कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर आरोप लगाया कि वो अपने पीछे पब्लिक बैंकिंग क्षेत्र में भ्रष्टाचार की गंदी बदबू छोड़ गए थे और इसका सबसे खराब चरण उनके और भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन के दौरान रहा. राजन के गर्वनर रहने के दौरान दोस्ताना नेताओं के फोन कॉल के आधार पर ही ऋण दिए गए और देश के सरकारी बैंक अभी तक उस समस्या से उबरने के लिए सरकारी मदद पर ही निर्भर हैं.

First Published : 17 Oct 2019, 04:59:39 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.