News Nation Logo

गृह राज्य मंत्री रिजिजू ने कहा-राज्य में कानून-व्यवस्था बनाए रखने में ममता सक्षम नहीं

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Tripathi | Updated on: 07 Jan 2017, 11:41:20 PM

नई दिल्ली:  

तृणमूल कांग्रेस के सांसद सुदीप बंद्योपाध्याय की गिरफ्तारी के बाद पश्चिम बंगाल में लगातार हो रहे हिंसक प्रदर्शन को देखते हुए केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू ने कहा कि राज्य में कानून-व्यवस्था बनाए रखने में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सक्षम नहीं हैं।

सीबीआई ने चिटफंड घोटाले में तृणमूल कांग्रेस के दो सांसदों तापस पाल और सुदीप बंद्योपाध्याय को गिरफ्तार किया है। इसे लेकर ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया है कि वो नोटबंदी का विरोध कर रही हैं और उनसे बदला लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनकी पार्टी के सांसदों को परेशान कर रहे हैं।

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हटाने की मांग भी की है और कहा है कि पूरे देश में नोटबंदी और प्रधानमंत्री के खिलाफ प्रदर्शन करेंगी। उन्होंने "मोदी हटाओ, देश बचाओ" का नारा भी दिया है।

ममता ने नोटबंदी के मुद्दे को लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। यहां तक कि उन्होंने मोदी की जगह लालकृष्ण आडवाणी या अरुण जेटली या केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह को प्रधानमंत्री बना कर एक राष्ट्रीय सरकार के गठन का भी प्रस्ताव रखा है।

इस टिप्पणी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए रिजिजू ने ममता पर संविधान को बर्बाद करने का प्रयास करने का आरोप लगाया है।

उन्होंने कहा, "ममता पश्चिम बंगाल में कानून-व्यवस्था बनाए रखने में सक्षम नहीं हैं। मुख्यमंत्री होने के बाद भी जब वह इस तरह के उकसाने वाले बयान देती हैं तो लगता है कि वह खुद संविधान को नष्ट करना चाहती हैं।"

बंद्योपाध्याय की गिरफ्तारी के बाद बंगाल में भाजपा मुख्यालय पर कथित रूप से तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के हमले के संदर्भ में रिजिजू ने कहा, "भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले किए जा रहे हैं, उनकी पार्टी के कार्यकर्ता गुंडागर्दी में शामिल हैं और सबसे बड़ी बात यह है कि वह उकसाने वाले बयान देना जारी रखे हुई हैं। इससे पहले हमलोगों ने इस तरह का कोई मुख्यमंत्री नहीं देखा था।"

एक प्रदर्शन के दौरान केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो के कोलकाता स्थित आवास को तृणमूल कांग्रेस के कथित कार्यकर्ताओं ने निशाना बनाया था।

रिजिजू ने कहा, "उन्हें संविधान के दायरे में काम करना चाहिए। हम सभी संवैधानिक पद पर बैठे हुए हैं और संविधान की रक्षा करना हमलोगों की जिम्मेदारी है। यदि मुख्यमंत्री कानून-व्यवस्था बनाए रखना सुनिश्चित नहीं कर सकतीं तो वह अपने राज्य की जनता को क्या जवाब देंगी? बंगाल की मुख्यमंत्री को यह अहसास करने की जरूरत है।"

First Published : 07 Jan 2017, 10:59:00 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.