News Nation Logo
Banner

महाराष्ट्र में शिवसेना ने अपने विधायकों की सुरक्षा के लिए लगाई पुलिस कमिश्नर से गुहार

कांग्रेस और शिवसेना दोनों ने ही अपने-अपने विधायकों को सुरक्षित रखने की कवायद जरूर शुरू कर दी. शिवसेना ने तो एक कदम और बढ़ते हुए मुंबई पुलिस कमिश्नर को चिट्ठी लिख अपने विधायकों को सुरक्षा देने की मांग कर दी.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 08 Nov 2019, 04:32:20 PM
सांकेतिक चित्र

सांकेतिक चित्र (Photo Credit: (फाइल फोटो))

highlights

  • शिवसेना ने अपने विधायकों को मढ आईलैंड स्थित रिट्रीट होटल शिफ्ट किया.
  • साथ ही पुलिस कमिश्नर को पत्र लिख विधायकों को सुरक्षा देने की मांग की.
  • कांग्रेस-शिवसेना ने बीजेपी पर लगाया खरीद-फरोख्त का आरोप.

Mumbai:

महाराष्ट्र में जारी गतिरोध में आरोप-प्रत्यारोप और दावे-प्रतिदावों के बीच शुक्रवार को शिवसेना और कांग्रेस ने बीजेपी पर विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया. इससे तिलमिलाई बीजेपी ने आरोप सिद्ध करने अथवा माफी मांगने को कहा. हालांकि कांग्रेस और शिवसेना दोनों ने ही अपने-अपने विधायकों को सुरक्षित रखने की कवायद जरूर शुरू कर दी. शिवसेना ने तो एक कदम और बढ़ते हुए मुंबई पुलिस कमिश्नर को चिट्ठी लिख अपने विधायकों को सुरक्षा देने की मांग कर दी.

यह भी पढ़ेंः महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस ने राज्यपाल को सौंपा अपना इस्तीफा

शिवसेना ने मुंबई पुलिस कमिश्नर को लिखा पत्र
शुक्रवार को महाराष्ट्र में पल-पल बदलते घटनाक्रम में शिवसेना ने मुंबई पुलिस कमिश्नर को चिट्ठी लिख अपने सभी विधायकों के लिए की सुरक्षा की मांग कर दी. फिलहाल सभी विधायक बांद्रा के रंग शारदा होटल से निकल कर मढ आईलैंड स्थित रिट्रीट होटल पहुंच गए हैं. सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक शिवसेना के विधायक वहां 8 से 15 नवंबर तक रुकेंगे. ऐसे में बीजेपी के खरीद-फरोख्त से जुड़े किसी भी कदम को रोकने के लिए सभी विधायकों को सुरक्षा देने का आग्रह शिवसेना ने मुंबई पुलिस से किया है.

यह भी पढ़ेंः मोदी सरकार ने गांधी परिवार से वापस ली एसपीजी सुरक्षा, गृह मंत्रालय ने की समीक्षा | भड़की कांग्रेस

कांग्रेस ने अपने विधायकों को किया राजस्थान शिफ्ट
इसके पहले कांग्रेस ने अपने सभी विधायकों को राजस्थान शिफ्ट कर दिया था. हालांकि बीजेपी ने खरीद-फरोख्त के आरोपों को गलत ठहराते हुए आरोप लगाने वालों से सार्वजनिक माफी मांगने की बात तक कर दी है. शिवसेना ने गुरुवार को बैठक के बाद सरकार गठन पर अंतिम निर्णय के लिए उद्धव ठाकरे को अधिकृत किया है. बैठक में राजनीतिक स्थिति पर चर्चा हुई और विधायकों ने दोहराया कि लोकसभा चुनावों से पहले पदों एवं जिम्मेदारियों की समान साझेदारी के जिस फॉर्मूले पर सहमति बनी थी उसे लागू किया जाए.

यह भी पढ़ेंः डर क्यों है? कर्नाटक मॉडल महाराष्ट्र में काम नहीं करेगा, शिवसेना नेता संजय राउत बोले

फिलहाल यह है स्थिति
इसी आधार पर शिवसेना जहां मुख्यमंत्री पद को साझा करने पर जोर दे रही है वहीं बीजेपी ने इससे साफ इंकार कर दिया है. बीजेपी और शिवसेना मुख्यमंत्री पद के मुद्दे पर उलझी हुई है, जिससे 24 अक्टूबर को आए विधानसभा चुनाव के नतीजों में गठबंधन को 161 सीट मिलने के बावजूद सरकार गठन को लेकर गतिरोध कायम है. 288 सदस्यीय विधानसभा के लिए हुए चुनावों में बीजेपी को 105, शिवसेना को 56, एनसीपी को 54 और कांग्रेस को 44 सीटें मिली थीं.

First Published : 08 Nov 2019, 04:32:20 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.