News Nation Logo

पाकिस्तान में प्रतिभाशालियों को मिलती है यह सजा, जानें क्या हुआ जब पॉपकॉर्न बेचने वाले ने बनाया हवाई जहाज

पाकिस्तान में पॉपकॉर्न बेचने वाले एक व्यक्ति ने अपनी प्रतिभा की दम पर रोडकटर के इंजन, रिक्शे के पहियों से अपना खुद का एक विमान बनाया है.

News Nation Bureau | Edited By : Yogesh Bhadauriya | Updated on: 07 May 2019, 12:14:56 PM
पॉपकॉर्न बेचने वाले एक व्यक्ति ने बनाया प्लेन

नई दिल्ली:

भारत में जहां सरकार देश के लोगों में स्किल डेवलपमेंट को लेकर खासी जागरूक दिखती हैं वहीं पड़ोसी मुल्क इसके उलट चलता नजर आ रहा है. पाकिस्तान में पॉपकॉर्न बेचने वाले एक व्यक्ति ने अपनी प्रतिभा की दम पर रोडकटर के इंजन, रिक्शे के पहियों से अपना खुद का एक विमान बनाया है. इसे आविष्कार ने उसे देश का हीरो बना दिया है और खुद पाकिस्तान वायु सेना ने उसकी तारीफ में कसीदे पढ़े हैं. वहीं सूचना मिलने पर पहुंची वहां की पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया और उसका विमान जब्त कर लिया

हालांकि मुहम्मद फैयाज की इस कहानी ने पाक के लाखों लोगों का दिल जीत लिया है. ऐसे देश में जहां उसके जैसे लोगों की शिक्षा तक पहुंच बहुत कम है और वे अवसरों के लिए संघर्ष कर रहे हैं वहां फैयाज की यह सफलता उनके लिए प्रेरणा का स्रोत है.

यह भी पढ़ें-भारत में तेल की कीमतों में आग लगने की आशंका बढ़ी, अमेरिका ने मदद से हाथ खींचे

फैयाज ने अपनी पहली उड़ान के बारे में कहा, ‘‘मैं सचमुच हवा में था. मुझे कुछ और महसूस ही नहीं हो रहा था.’’ फैयाज ने टीवी क्लिप्स और ऑनलाइन ब्लूप्रिंट देखकर विमान बनाना सीखा. पाकिस्तान में वैज्ञानिक चमत्कार की कई कहानियां रहीं है. 2012 में एक इंजीनियर ने कहा था कि उन्होंने एक ऐसी कार का आविष्कार किया है जो पानी में भी चल सकती है. हालांकि, बाद में वैज्ञानिकों ने उसकी कहानी का पर्दाफाश कर दिया था. लेकिन फैयाज ने जोर दिया कि उसने उड़ान भरी और वायु सेना ने भी उसके दावे को गंभीरता से लिया है. वायु सेना के प्रतिनिधि कई बार उससे मिलने आ चुके हैं और यहां तक कि उन्होंने उसके काम की प्रशंसा करते हुए एक सर्टिफिकेट भी दिया है.

मध्य पंजाब प्रांत के ताबुर गांव में तीन कमरे के उसके घर के बरामदे में खड़े विमान को देखने के लिए लोगों का तांता लगा हुआ है. 32 वर्षीय फैयाज ने कहा कि बचपन से ही उसका सपना वायु सेना में शामिल होने का था लेकिन पिता की मृत्यु के बाद उसे स्कूल की पढ़ाई छोड़नी पड़ी और अपनी मां तथा पांच छोटे भाई-बहनों का पेट भरने के लिए काम करना पड़ा. इन सबके बावजूद विमान उड़ाने का उसका जुनून बरकरार रहा और आखिरकार उसने अपने सपनों को पंख लगा दिए. फैयाज ने अपना सपना पूरा करने के लिए दिन में पॉपकॉर्न बेचकर और रात में सुरक्षा गार्ड की नौकरी करके एक-एक पाई बचाई. उसने नेशनल जियोग्राफिक चैनल के एयर क्रैश इन्वेस्टिगेशन के एपिसोड देखकर विमान बनाने की जानकारी जुटाई.

फैयाज ने दावा किया कि उसके दोस्तों ने एक छोटी-सी सड़क को अवरुद्ध करने में उसकी मदद की जिसका इस्तेमाल फरवरी में उसने विमान उड़ाने की पहली कोशिश में रनवे के रूप में किया. उसने गांववालों के सामने अपने इस कारनामे का प्रदर्शन करने के लिए 23 मार्च पाकिस्तान दिवस का दिन चुना. लेकिन फैयाज विमान उड़ा पाता उससे पहले पुलिस वहां पहुंच गई और उसे गिरफ्तार कर लिया गया तथा उसका विमान जब्त कर लिया गया. उसने कहा, ‘‘मुझे लगा जैसे मैंने दुनिया का सबसे खराब गुनाह किया हो. मुझे अपराधियों के साथ बंद करके रखा गया.’’ अदालत ने उसे 3,000 रुपये का जुर्माना लगाकर रिहा कर दिया. स्थानीय पुलिस थाने के अधिकारियों से बात करने पर उन्होंने बताया कि उन्होंने फैयाज को इसलिए गिरफ्तार किया था क्योंकि उसका विमान सुरक्षा के लिहाज से खतरा था. अधिकारी जफर इकबाल ने कहा, ‘‘विमान उसे लौटा दिया गया.’’ फैयाज को सोशल मीडिया पर काफी ख्याति मिल रही है उसे देशवासी ‘‘हीरो’’ तथा ‘‘प्रेरणा’’ बता रहे हैं.

First Published : 07 May 2019, 12:14:56 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.