News Nation Logo
Banner

पहले चरण के मतदान के बाद विपक्षी दलों ने फिर छेड़ा EVM राग, कहा- 'सुप्रीम कोर्ट जाएंगे'

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए देश में सियासी माहौल गरमाया हुआ है. पहले चरण के बाद अब दूसरे चरण की वोटिंग के लिए तमाम पार्टियां जोर-शोर से प्रचार अभियानों में लगी हुई हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Yogendra Mishra | Updated on: 14 Apr 2019, 05:02:06 PM
अभिषेक मनु सिंधवी ने प्रेस कान्फ्रेंस को संबोधित किया. (ANI)

अभिषेक मनु सिंधवी ने प्रेस कान्फ्रेंस को संबोधित किया. (ANI)

नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) के लिए देश में सियासी माहौल गरमाया हुआ है. पहले चरण के बाद अब दूसरे चरण की वोटिंग के लिए तमाम पार्टियां जोर-शोर से प्रचार अभियानों में लगी हुई हैं. इस बीच ईवीएम (EVM) को लेकर एक बार फिर सवाल उठने लगे हैं. आज दिल्ली में ईवीएम के मुद्दे पर विपक्षी पार्टियों के महागठबंधन की बैठक हो रही है. इस बैठक में कांग्रेस, टीएमसी समेत कई पार्टियों के नेता मौजूद हैं.

यह भी पढ़ें- दिल्ली की 7 सीटों पर एक भी मुस्लिम को टिकट नहीं देने से पूर्व विधायक नाराज, राहुल को लिखी चिट्ठी

कांग्रेस नेता और वरिष्ठ वकील अभिषेक मनु सिंघवी (Abhishek manu singhvi) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ईवीएम (EVM) पर सवाल उठाए. उन्होंने पहले चरण के चुनाव के बाद कहा, हमें नहीं लगता है कि चुनाव आयोग इस पर पर्याप्त ध्यान दे रहा है. अगर आप एक्स पार्टी के लिए बटन दबाते हैं तो वोट वाई पार्टी को जाता है. वीवीपैट 7 के बजाये सिर्फ 3 सेकेंड के लिए प्रदर्शित होता है. पार्टियां सुप्रीम कोर्ट जाएंगी. यहां उन्होंने कहा कि 50 प्रतिशत वोटों का मिलान किया जाना चाहिए.

यह भी पढ़ें- रोचक तथ्‍यः क्‍या आप जानते हैं, लोकसभा चुनाव कराने पर आयोग कितना खर्च करता है, हरेक वोट पर होता है इतना खर्च, जानें यहां

पहले चरण के मतदान के बाद ही कई तरह के सवाल विपक्षी दलों ने उठाए थे. मायावती ने तो यहां तक कहा था कि दलितों को वोट डालने से रोका जा रहा है. आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव 2019 के लिए सात चरणों में मतदान होगा. पहला चरण 11 अप्रैल को संपन्न हुआ जिसमें 20 राज्यों की 91 सीटों पर मतदान हुआ. दूसरे चरण का मतदान 18 अप्रैल को होगा, जिसमें 13 राज्यों की 97 सीट पर वोट डाले जाएंगे.

तीसरे चरण का मतदान 23 अप्रैल को होगा जिसमें 14 राज्यों की 115 सीट पर मतदान होगा. चौथे चरण के अंतर्गत 9 राज्यों की 71 सीट पर 29 अप्रैल को मतदान होगा. पांचवे चरण का मतदान 6 मई को होगा. जिसमें 7 राज्यों की 51 सीट पर वोट डाले जाएंगे. मतदान का छठा चरण 12 मई को होगा. जिसमें 7 राज्यों की 59 सीट पर मतदान होगा. मतदान का सातवां और अंतिम चरण 19 मई को होगा. जिसमें 8 राज्यों की 59 सीटों पर वोट डाले जाएंगे. मतगणना 23 मई को होगी.

First Published : 14 Apr 2019, 01:58:56 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो