News Nation Logo
Banner

लॉकडाउन रेंट : दिल्ली बीजेपी ने केजरीवाल से किया सवाल, विरोध की दी चेतावनी

लॉकडाउन रेंट : दिल्ली बीजेपी ने केजरीवाल से किया सवाल, विरोध की दी चेतावनी

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 13 Sep 2021, 03:55:01 PM
Lockdown rent

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: दिल्ली प्रदेश भाजपा ने सोमवार को आम आदमी पार्टी (आप) से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के किरायेदारों के लॉकडाउन किराए के भुगतान के वादे पर जवाब मांगा और घोषणा की कि अगर वह अपना वादा पूरा नहीं करते हैं तो वपक्षी दल सड़कों पर उतरने से नहीं कतराएगा।

भाजपा दिल्ली राज्य राष्ट्रपति आदेश गुप्ता ने सोमवार को यहां एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए यह बात कही।

उन्होंने कहा, मुख्यमंत्री केजरीवाल ने पिछले साल मार्च में गरीबों को लॉकडाउन के दौरान चुकाए गए किराए का भुगतान करने का वादा किया था। हालांकि, तब से 216 दिन हो गए हैं, लेकिन उन्होंने इस मामले में उच्च न्यायालय के हस्तक्षेप के बावजूद अपनी बात रखने के लिए कुछ नहीं किया है।

22 जुलाई को, दिल्ली उच्च न्यायालय ने फैसला सुनाया कि मुख्यमंत्री द्वारा किया गया वादा लागू करने योग्य था और आप सरकार को इस घोषणा पर निर्णय लेने के लिए छह सप्ताह का समय दिया कि राज्य गरीब किरायेदारों की ओर से किराए का भुगतान करेगा, जिसमें प्रमुख रूप से प्रवासी मजदूर शामिल हैं।

शुक्रवार को, दिल्ली सरकार ने उच्च न्यायालय को सूचित किया कि वह इस समय इस मुद्दे पर विचार कर रही है और दो सप्ताह के समय में निर्णय लेगी।

विपक्ष के नेता (एलओपी) राम वीर सिंह बिधूड़ी ने कहा, किराए का भुगतान करने के अलावा, आप सरकार ने मुफ्त राशन, ऑटोवाले को 5,000 रुपये, कोविड योद्धाओं के परिजनों को मुआवजा देने का भी वादा किया था, लेकिन इनमें से कोई भी वादा आज तक पूरा नहीं किया गया है।

भाजपा दिल्ली राज्य के सदस्यों ने कहा, अगर मुख्यमंत्री अपनी बात रखने में विफल रहते हैं, तो हम दिल्ली के लोगों की ओर से सड़कों पर उतरेंगे।

पिछले साल मार्च में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कोविड -19 के प्रसार को रोकने के लिए सख्त तालाबंदी के बाद सैकड़ों और हजारों प्रवासी मजदूर दिल्ली और अन्य राज्यों से अपने पैतृक शहर के लिए रवाना हुए थे।

केंद्र और राज्य दोनों सरकारें इतने बड़े पैमाने पर पलायन के लिए तैयार नहीं थीं। महामारी ने देश भर में प्रवासी श्रमिकों पर उपलब्ध आंकड़ों की कमी को भी उजागर किया।

दिल्ली सरकार ने असंगठित क्षेत्र से जुड़े केंद्र शासित प्रदेश के सभी प्रवासियों का आधार से जुड़ा डेटाबेस बनाने पर काम करना शुरू कर दिया है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 13 Sep 2021, 03:55:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो