News Nation Logo
Banner

जानिए दुनिया का कौन था पहला आतंकवादी, 'जिहादी' सिलेबस की बड़ी बातें

दरसों में पढ़ाई जानें वाली अल हिदाया किताब में जिहादी पाठ पढ़ाया जाता है. जिस पर न्यूज नेशन पर खुलासा किया गया. किताब के 17 वें नंबर पेज पर लिखा है. जो जिहाद को ना मानें उसका कत्ल कर देना है. धर्म को बढ़ावा देना चाहिए, जो इस्लाम ना मानें उसका कत्ल कर दो.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 15 Oct 2020, 03:14:19 PM
News Nation tv

मदरसे का 'जिहादी' सिलेबस एक्सपोज (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली :

असम सरकार ने नवंबर से राज्य में सरकारी मदरसों को बंद करने का ऐलान किया है. प्रदेश सरकार ने कहा है कि जनता के रुपयों से धार्मिक शिक्षा नहीं दी जा सकती है, इसलिए सभी सरकारी मदरसों को अगले महीने से बंद कर दिया जाएगा. वहीं, मदरसों में पढ़ाई जानें वाली अल हिदाया किताब में जिहादी पाठ पढ़ाया जाता है. जिस पर न्यूज नेशन पर खुलासा किया गया. किताब के 17 वें नंबर पेज पर लिखा है. जो जिहाद को ना मानें उसका कत्ल कर देना है. धर्म को बढ़ावा देना चाहिए, जो इस्लाम ना मानें उसका कत्ल कर दो.

आतंकवादी अगर मुसलमान नहीं होते, तो उनको मदरसों में शरण क्यों देते हैं- प्रेम शंकर शुक्ला, प्रवक्ता, बीजेपी

किसी जंग में शरीक होना ही गजवा है- मौलाना कादरी

जम्मू कश्मीर में एक मुस्लिम IAS बना था, लेकिन इसी किताब की वजह से उसने नौकरी छोड़ दी-विजय शंकर तिवारी

देवबंद की किताब में इस्लाम कुबूल न करने वाले का कत्ल करने की सीख है?


इस्लाम की एक ही किताब है. वह कुरान है-फिरोज खान

यजीद दुनिया का पहला आतंकवादी था- मौलाना कादरी


देवबंद मदरसे में पढ़ाई जाती है जिहादी किताब. अल हिदाया किताब में जिहादी पाठ पढ़ाया जाता है.

जिहाद के नाम पर आईएसआईएस कत्लेआम कर रहा है. दुनियाभर मेंं इस्लाम ने आतंक फैला रखा है- जनरल जीडी बख्शी


आईएसआईएस का इस्लाम से कोई मतलब नहीं है- मौलाना कादरी


शरियत की किताब के 17 वें नंबर पेज पर लिखा है. जो जिहाद को ना मानें उसका कत्ल कर देना है. धर्म को बढ़ावा देना चाहिए, जो इस्लाम ना मानें उसका कत्ल कर दो.


First Published : 15 Oct 2020, 01:39:40 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो