News Nation Logo
Banner

पीएफआई के मुखपत्र का संपादक निकला केरल का गिरफ्तार पत्रकार:सूत्रों के हवाले से खबर

जयंत चौधरी पर हुए लाठीचार्ज को मुद्दा बनाकर की जा रही इस महापंचायत को जिले के खाप चौधरियों ने भी अपना समर्थन दिया है. वहीं, विपक्षी राजनीतिक दलों ने भी इसे समर्थन देने की घोषणा की है.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 08 Oct 2020, 03:03:49 PM
Hathras Case Live update

हाथरस गैंगरेप लाइव (Photo Credit: न्यूज नेशन )

हाथरस :

हाथरस केस को लेकर आरएलडी के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी आज मुजफ्फरनगर में ‘लोकतंत्र बचाओ महापंचायत’ में हुंकार भरेंगे. आरएलडी की इस महापंचायत को संबोधित करने जयंत चौधरी करीब 12.30 बजे तक पहुंचेंगे. दरअसल, जयंत चौधरी पर हुए लाठीचार्ज को मुद्दा बनाकर की जा रही इस महापंचायत को जिले के खाप चौधरियों ने भी अपना समर्थन दिया है. वहीं, विपक्षी राजनीतिक दलों ने भी इसे समर्थन देने की घोषणा की है.

पीएफआई के मुखपत्र का संपादक निकला केरल का गिरफ्तार पत्रकार:सूत्रों के हवाले से खबर 

रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी पर किया वार, कहा-राहुल गांधी का दोहरा मापदंड है हाथरस पर हो हल्ला राजस्थान और छत्तीसगढ़ पर खामोशी . कांग्रेस की महिला नेत्री ने वहाँ की बेटियों से बात क्यों न कि. 

एसआईटी ने पीड़िता के गांव के 40 लोगों को पूछताछ के लिए बुलाया है. पीड़िता के दाह संस्कार के वक्त मौजूद गांव के लोगों को पूछताछ के लिए बुलाया है. हाथरस में ही गांव वालों से पूछताछ होगी.

अलीगढ़ जेल के एसपी आलोक सिंह ने कहा कि उन्होंने (संदीप सिंह) हमें एसपी हाथरस के लिए एक पत्र दिया. हमने नियमानुसार पत्र आगे बढ़ाया है. अभियुक्त ने पत्र में अपना मामले के बारे लिखा है और संबंधित जांच एजेंसी इस पर गौर करेगी.



हाथरस केस में बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने कहा कि मुझे इस पत्र के बारे में जानकारी मिली, हाथरस मामले में साजिशें हुई हैं. देखिए पीड़िता को न्याय मिलना चाहिए, लेकिन घटना कुछ और हुई है और बताया कुछ और जा रहा है , ये पत्र आया और उसमें जो लिखा गया है उसमें सीबीआई की जांच जरूरी है. इस पूरे मामलें में कई पार्टियां घुस गई. साजिशें हुई, पीड़िता को न्याय मिले, लेकिन निर्दोष व्यक्ति को सजा न मिले. मैं समझता हूँ की इस पत्र को भी जांच एजेंसियों को अपने संज्ञान में लेना चाहिए. दंगा कराने की बात जो सामने आई है वो सबसे खतरनाक है. अब जनमानस को भी तैयार रहना पड़ेगा की वो ऐसे लोगों से सावधान रहें.

हाथरस केस के आरोपी के चिट्ठी के बाद बैकफुट पर पीड़ित का परिवार. परिवार का कोई भी मुख्य सदस्य मीडिया से फिलहाल बात करने को तैयार नहीं हैं. वहीं, पीड़िता की बुआ से बात हुई है. पीड़िता की बुआ ने कहा कि जेल के अंदर से आरोपी कैसे लिख सकता है चिट्ठी.

हाथरस कांड के आरोपियों ने पुलिस अधीक्षक को चिट्ठी लिखकर की न्याय की मांग.  कहा परिवार से थी दोस्ती,  हमें फसाया गया है. पूरे मामले की जांच कराई जाए जिससे न्याय मिले. चिट्ठी में आरोपी ने लड़की से दोस्ती की बात भी कबूली और कहा परिवार को हमारी और उसकी दोस्ती पसंद नहीं थी जिसको लेकर उसके घर में मारपीट हुई.

हाथरस केस में आज उत्तर प्रदेश की योगी सरकार अपना हलफनामा दायर करेगी. सरकार ने दावा किया है कि हाथरस के जरिए जातीय दंगा फैलाने की कोशिश की जा रही थी.


हाथरस में दलित लड़की की गैंगरेप के बाद हत्या कर दी गई थी. जिसके बाद तमाम सियासी दलों ने विरोध प्रदर्शन किया. वहीं, हाथरस की बेटी को न्याय दिलाने के लिए जयंत चौधरी ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ विरोध प्रदर्शन कर रहे थे. इस दौरान पुलिस प्रशासन ने उन पर लाठीचार्ज किया था. जिसके विरोध और हाथरस पीड़ित पर को न्याय दिलाने के लिए महापंचायत का आयोजन हो रहा है.


सपा ने तो अपने छह नेताओं को पंचायत में शामिल होने के भी निर्देश दे दिए हैं, जबकि कांग्रेस के राष्ट्रीय सलाहकार हरेंद्र मलिक भी जयंत को समर्थन की घोषणा कर चुके हैं. इसके साथ ही शिवसेना ने भी समर्थन की घोषणा की है.

आरएलडी के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी की यह महापंचायत मुजफ्फरनगर शहर के महावीर चौक स्थित जीआईसी के मैदान में होने वाली है. वहीं, हरियाणा और पंजाब से भी कुछ राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता भी इस महापंचायत में शामिल हो सकते हैं.

First Published : 08 Oct 2020, 09:03:29 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो