News Nation Logo

लखीमपुर हिंसा में राष्ट्रपति से मिले राहुल-प्रियंका- मंत्री को बर्खास्त करनें की मांग

लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के मद्देनजर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुवाई में कांग्रेस की 5 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से आज मुलाकात की है

MOHIT RAJ DUBEY | Edited By : Mohit Sharma | Updated on: 13 Oct 2021, 04:05:53 PM
Rahul-Priyanka

राहुल-प्रियंका (Photo Credit: ANI)

नई दिल्ली:

लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के मद्देनजर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुवाई में कांग्रेस की 5 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से आज मुलाकात की है. इसके बाद संवाददाताओं से कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि पीड़ित चाहते हैं कि उन्हें इंसाफ मिले. उन्होंने कहा कि जिसने हत्या की है उस व्यक्ति कि पिता हिन्दुस्तान के गृह राज्यमंत्री हैं, लिहाजा जब तक वे मंत्री हैं. सही न्याय नहीं मिल सकता. राहुल गांधी ने कहा कि हमने ये बात राष्ट्रपति को बताई. उन्होंने कहा कि ये एक परिवार की नहीं बल्कि हिन्दुस्तान की आवाज है.

प्रियंका गांधी का न्यूज़ नेशन के सवाल पर जवाब

वहीं कांग्रेस महासचिव और उत्तर प्रदेश के प्रभारी प्रियंका गांधी ने  न्यूज नेशन के सवाल पर प्रियंका गांधी ने कहा कि लखीमपुर खीरी में रमन कश्यप के परिवार से मिले. परिवार ने कहा कि हम न्याय चाहते हैं. उन्होंने कहा कि हम लोगों ने राष्ट्रपति से मुलाकात करके मांग रखी है कि इस मामले की जांच सिटिंग जज से कराई जाए. निष्पक्ष जांच हो इसलिए गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त किया जाए. क्योंकि जब तक वह बर्खास्त नहीं होंगे तब निष्पक्ष जांच नहीं होगी, यह सिर्फ पीड़ित परिावरों की ही नहीं बल्कि पूरे प्रदेश और देश की मांग है. अब तक कोई बड़ी कार्रवाई नहीं हुई है। इसलिए हमने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद जी से गुहार लगाई है.

सुप्रीम कोर्ट के दो सिटिंग जजों से जांच की मांग

5 सदस्य कांग्रेस के प्रतिनिधि मंडल ने राष्ट्रपति से गुहार लगाने के बाद राहुल गांधी ने बताया कि लखीमपुर की बातें हमने राष्ट्रपति जी को बताई हैं और हमने उनसे कहा कि यह सिर्फ इन परिवारों की आवाज नहीं, बल्कि हर किसान की आवाज है. उन्होंने कहा कि इस व्यक्ति ने हत्या से पहले कहा था कि सुधरोगे नहीं तो सुधार दूंगा, किसानों को धमकी दी थी. हमने राष्ट्रपति से कहा कि जब तक यह व्यक्ति मंत्री है तब किसानों को न्याय नहीं मिल सकता. इसलिए सुप्रीम कोर्ट के दो सिटिंग जजों से मामले की जांच कराएं.

First Published : 13 Oct 2021, 04:03:59 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.