News Nation Logo

लखीमपुर खीरी हिंसा: DM दफ्तरों पर प्रदर्शन करेंगे किसान, अजय मिश्र को बर्खास्त करने की मांग

Lakhimpur kheri violence: लखीमपुर खीरी में हए बवाल के बाद आज आज किसान सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने की तैयारी में हैं. किसान सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक देशभर में डीएम दफ्तरों के सामने प्रदर्शन करेंगे.  

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 04 Oct 2021, 09:26:53 AM
Akhilesh Home

लखनऊ में पूर्व सीएम अखिलेश यादव के घर के बाहर पहरा (Photo Credit: ANI)

लखीमपुर खीरी:

आज किसान सरकार के खिलाफ मोर्खा खोलने की तैयारी में हैं. उनकी तरफ से देश के तमाम डीएम दफ्तरों के बाहर प्रदर्शन किया जाएगा. सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक ये प्रदर्शन जारी रहेगा और किसान अपनी एकजुटता दिखाने का प्रयास करेंगे. इसके अलावा अब किसान मोर्चा द्वारा अपनी दो मांगें भी स्पष्ट तौर पर रख दी गई हैं. किसानों ने साफ कहा है कि केंद्रीय राज्य गृह मंत्री अजय मिश्र टेनी को तुरंत बर्खास्त किया जाए. किसान नेता राकेश टिकैत ने मृतक किसानों के लिए एक-एक करोड़ रुपये मुआवजे की मांग की गई है. किसानों की मांग के बाद मंत्री के बेटे आशीष के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कर ली गई है.  

यह भी पढ़ेंः अगर साथ नहीं रह सकते पति-पत्नी तो छोड़ना ही बेहतरः सुप्रीम कोर्ट 

आज पहुंचेंगे कई नेता
लखीमपुर में हुई घटना के विरोध में आज कई नेता लखीमपुर खीरी पहुंचेंगे. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने लखीमपुर जाने का फैसला किया है. उन्होंने ट्विटर पर बताया कि उत्तर प्रदेश में किसानों के साथ जो वहशी व्यवहार हुआ वह अक्षम्य है. मैं किसान हूं. किसान का दर्द समझता हूं. इन कठिन परिस्थितियों में उनके साथ खड़े होने के लिए लखीमपुर जाउंगा. हालांकि यूपी सरकार ने प्रशासन से भूपेश बघेल के विमान को लखनऊ में उतरने की इजाजत ना देने का कहा है. वहीं लखनऊ में पूर्व सीएम अखिलेश यादव के आवास के बाहर बेरिकेडिंग की गई है. राष्ट्रीय लोक दल के मुखिया जयंत चौधरी भी सोमवार को लखीमपुर खीरी पहुंच रहे हैं. उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि किसान का खून बहाया गया है. सोमवार घटनास्थल पर पहुंचूंगा.

यह भी पढ़ेंः 1900 रुपये में मिलेंगी जॉयकोव-डी वैक्सीन की 3 खुराक, सरकार कर रही कम कराने को बातचीत-सूत्र

क्या है पूरा मामला
लखीमपुर खीरी में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य का दौरा था. केंद्रीय गृहराज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे उन्हें रिसीव करने जा रहे थे,लेकिन इस दौरान किसानों ने रास्ता रोक लिया और काले झंडे दिखाए. झड़प के दौरान गाड़ी की टक्कर से किसानों की मौत हो गई, जिसके बाद किसानों ने भारी हंगामा किया. स्थिति को काबू में करने के लिए एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखीमपुर खीरी भेजा है. पुलिस की कई कंपनियां भी मौके पर तैनात हैं. लखीमपुर की घटना के बाद किसान नेताओं ने योगी सरकार पर हमला बोल दिया है. किसान नेता राकेश टिकैत देर रात ही लखीमपुर खीरी पहुंच गए.

First Published : 04 Oct 2021, 09:26:53 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो