News Nation Logo

देश के मुख्य श्रम आयुक्त ने लद्दाख में झारखंड, बिहार, नेपाल से आए मजदूरों की सुनीं समस्याएं

देश के मुख्य श्रम आयुक्त ने लद्दाख में झारखंड, बिहार, नेपाल से आए मजदूरों की सुनीं समस्याएं

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 21 Jul 2021, 09:40:02 PM
Labour Bureau

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: देश के मुख्य श्रम आयुक्त डीपीएस नेगी ने लेह में चल रहीं विकास परियोजनाओं में श्रम कानूनों और श्रम संहिताओं के लागू होने की पड़ताल की। उन्होंने स्थानीय मजदूरों के साथ झारखंड, बिहार और नेपाल से आए श्रमिकों की भी समस्याएं सुनीं।

नेगी ने पिछले दो दिनों के दौरान केन्द्र शासित प्रदेश लद्दाख, पावरग्रिड, एनएचपीसी, बीआरओ, सीपीडब्ल्यूडी, बीपीसीएल, आईओसीएल, एचपीसीएल, एनएचआईडीसीएल और एएआई के परियोजना अधिकारियों के साथ अलग-अलग बैठकों में उनके परियोजना स्थलों पर वर्तमान श्रम समस्याओं के बारे में पूछताछ की। उन्होंने वहां प्रारंभ की गई विभिन्न गतिविधियों का भी अध्ययन किया।

नेगी ने करुतुंगसे और पैंगोंग रोड में झारखंड, बिहार, नेपाल से आए श्रमिकों के साथ-साथ स्थानीय लद्दाख के श्रमिकों से भी मुलाकात की और उनका हाल-चाल पूछा। नेगी ने उन्हें विस्तार से उनके अधिकारों के बारे में बताया।

परियोजनाओं के प्रभारी वरिष्ठ अधिकारियों ने मुख्य श्रम आयुक्त को विभिन्न श्रम कानूनों के अनुपालन के संबंध में जानकारी दी। नेगी ने उनकी परियोजनाओं पर श्रम कानूनों के अनुपालन की स्थिति पर संतोष व्यक्त किया। नेगी ने अधिकारियों व ठेकेदारों को श्रम कानूनों के क्रियान्वयन तथा नए श्रम संहिताओं के महत्व के बारे में बताया। उन्होंने श्रमिकों से प्रवासी कामगारों के लिए बनाए जाने वाले एनडीयूडब्ल्यू पोर्टल में अपना पंजीकरण कराने की अपील की। श्रम और रोजगार मंत्रालय शीघ्र ही यह पोर्टल शुरू करने जा रहा है। नेगी ने परियोजना अधिकारियों द्वारा खरीदे जाने वाले प्रस्तावित आश्रय स्थलों के डिजाइन की सराहना की।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 21 Jul 2021, 09:40:02 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.