News Nation Logo

केएमसी चुनाव में तृणमूल के मेयर उम्मीदवार बन सकते हैं बाबुल सुप्रियो

केएमसी चुनाव में तृणमूल के मेयर उम्मीदवार बन सकते हैं बाबुल सुप्रियो

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 16 Nov 2021, 07:45:01 PM
Kolkata Former

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

कोलकाता: तृणमूल कांग्रेस के भीतर इस बात के पुख्ता संकेत हैं कि हाल ही में भाजपा छोड़कर तृणमूल में शामिल हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो कोलकाता के आगामी निकाय चुनावों में मेयर उम्मीदवार और पार्टी का चेहरा बन सकते हैं। कोलकाता नगर निगम (केएमसी) का चुनाव 19 दिसंबर को होना निर्धारित है।

हालांकि इस बारे में अभी तक कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन पार्टी के अंदरूनी सूत्रों के अनुसार, सुप्रियो इस पद के उम्मीदवारों में सबसे पसंदीदा हैं, क्योंकि उन्हें तृणमूल के अखिल भारतीय महासचिव अभिषेक बनर्जी पसंद करते हैं।

ऐसे और भी कई संकेत हैं जो सुप्रियो को रेस में सबसे आगे बनाते हैं। पार्टी ने हाल ही में एक आदमी, एक पद की नीति की घोषणा की, जो निवर्तमान मेयर फिरहाद हकीम को दौड़ से बाहर कर देती है। इस पद के लिए चंद्रिमा भट्टाचार्य पर भी विचार किया गया था, लेकिन अमित मित्रा द्वारा राज्य के वित्तमंत्री के रूप में जारी नहीं रहने के निर्णय के बाद भट्टाचार्य को वित्त राज्यमंत्री बनाया गया है।

शुरुआत में सोचा गया था कि सुप्रियो को राज्यसभा के लिए मनोनीत किया जाएगा। लेकिन सुष्मिता देव और गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री लुइजिन्हो फलेरियो को उच्च सदन में नामित करके पार्टी ने यह स्पष्ट कर दिया है कि वह राष्ट्रीय राजनीति के लिए सुप्रियो के बारे में नहीं सोच रही है।

सूत्रों ने कहा कि अभिषेक बनर्जी कोलकाता के मेयर के रूप में एक युवा और गतिशील चेहरे की तलाश कर रहे हैं। उस मामले में, सुप्रियो फिट बैठते हैं।

इस बीच, भाजपा की राज्य इकाई के पूर्व प्रमुख दिलीप घोष ने मंगलवार को कहा कि तृणमूल कांग्रेस सुप्रियो को झुंझुनी के अलावा कुछ नहीं देगी।

घोष ने कहा कि सुप्रियो कोलकाता के मेयर कैसे बन सकते हैं, जबकि वह केएमसी के वोटर भी नहीं हैं?

घोष पर प्रतिक्रिया देते हुए सुप्रियो ने भाजपा नेता के बारे में कहा कि वह एक जोकर के अलावा कुछ नहीं हैं।

सुप्रियो कोलकाता के कैलाश बोस स्ट्रीट इलाके में वोटर थे, लेकिन आसनसोल से सांसद बनने के बाद वह आसनसोल के वोटर हो गए।

हालांकि, उनका पुश्तैनी घर अभी भी उत्तरी कोलकाता के कैलाश बोस स्ट्रीट में है। यह अभी भी अटकलों का विषय है कि क्या बाबुल अपना वोटर आईडी कार्ड फिर से कोलकाता के पते पर बनवाएंगे? तृणमूल के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि पार्टी सुप्रियो के लिए तीन वार्डो पर विचार कर रही है।

कोलकाता के 144 और हावड़ा के 50 वार्डो में एक ही दिन मतदान होना है। तृणमूल के सूत्रों के मुताबिक, अभिषेक बनर्जी हुगली नदी के दोनों किनारों के जुड़वां शहरों में आगामी चुनाव के लिए उम्मीदवारों के नामांकन में प्रमुख भूमिका निभाएंगे।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 16 Nov 2021, 07:45:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.