News Nation Logo

प्रधानमंत्री मोदी ने किसानों के खाते में डाले 2-2 हजार रुपये, कोरोना और वैक्सीनेशन पर कही ये बात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कुछ ही देर में देशभर के 9.5 लाख से अधिक किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना के तहत 19,000 करोड़ रुपये के वित्तीय लाभ की 8वीं किस्त जारी करेंगे.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 14 May 2021, 01:47:10 PM
Pm Modi

मोदी ने किसानों के खाते में डाले 2000 रुपये, कोरोना और वैक्सीन पर बोले (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( PM Narendra Modi ) ने देशभर के 9.5 लाख से अधिक किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना के तहत 19,000 करोड़ रुपये के वित्तीय लाभ की 8वीं किस्त जारी कर दी है.  वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए प्रधानमंत्री यह किस्त जारी की है. इस किस्त से 9.5 करोड़ से अधिक लाभार्थी किसान परिवारों को 19,000 करोड़ रुपये से अधिक का हस्तांतरण किया जा सकेगा. प्रधानमंत्री आयोजन के दौरान किसान लाभार्थियों से भी बातचीत कर रहे हैं. केंद्रीय कृषि मंत्री भी इस अवसर पर उपस्थित हैं.

PM Narendra Modi Live Updates:- 

टीका लगवाने के बाद भी दो गज की दूरी और मास्क के मंत्र को छोड़ना नहीं

12.12PM: प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देश की जनता ज्यादा से ज्यादा संख्या में टीका लगवाए. सरकारी अस्पतालों में मुफ्त टीकाकरण किया जा रहा है. बारी आने पर हर किसी को टीका लगवाना चाहिए. टीका लगवाने के बाद भी दो गज की दूरी और मास्क के मंत्र को छोड़ना नहीं है.

कालाबाजारी को लेकर पीएम मोदी ने सख्त निर्देश दिया

12.09PM: कालाबाजारी को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि राज्य सरकारों को ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने होगी. देश कोरोना से हारेगा नहीं. हम लड़ेंगे और जीतेंगे. मैं देश की पूरी दुनिया को कोरोना को लेकर सतर्क करना चाहता हूं. संक्रमण गांवों में भी पहुंच गया है. 

प्रधानसेवक होने के नाते जनता की हर परेशानी का सहभागी हूं- मोदी

12.07PM: प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में कोरोना से संकट खड़ा हुआ है. देश का प्रधानसेवक होने के नाते आपकी हर परेशानी का सहभागी हूं. संसाधनों से जुड़े जो भी गतिरोध थे, उन्हें दूर किया जा रहा है. युद्ध स्तर पर काम चल रहा है. सुरक्षाबल, रेलवे, स्वास्थ्यकर्मी, तीनों सेनाएं पूरी शक्ति से कोरोना के खिलाफ लड़ाई में जुटे हैं.

गरीबों को मई और जून में मुफ्त राशन मिलेगा- मोदी

12.04PM: नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना के खिलाफ गांवों और किसानों का लड़ाई में बहुत बड़ा योगदान रहा है. भारत दुनिया की सबसे बड़ी मुफ्त राशन की योजना चला रहा है. पिछले साल 8 महीने तक मुफ्त राशन दिया गया. इस महीने मई और जून महीने में मुफ्त राशन मिले, इसका प्रबंध किया गया है. राज्य सरकारों से अपील है कि गरीबों और किसानों को राशन लेने में कोई दिक्कत न आए, इसका प्रबंध करें.

पीएम मोदी बोले- जैविक खेती को बढ़ावा का प्रयास

12.01PM: खेती में नए समाधान, नए विकल्प देने के लिए सरकार निरंतर प्रयास कर रही है. जैविक खेती को बढ़ावा देना ऐसे ही प्रयास हैं. इस प्रकार की फसलों में लागत भी कम है, ये मिट्टी और इंसान के स्वास्थ्य के लिए लाभदायक हैं और इनकी कीमत भी ज्यादा मिलती है. आज गंगा के किनारे दोनों तटों पर जैविक उत्पादकों को विशेष बल दिया जा रहा है. 

हरियाणा और पंजाब के किसानों का जिक्र

11.58AM: पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि अब किसान जो उपज मंडी में बेच रहा है, उसे अब पैसे के लिए लंबा इंतजार नहीं करना पड़ता है. किसानों के हक का पैसा, सीधे उनके खातों में जमा हो रहा है. पंजाब और हरियाणा के लाखों किसान पहली बार डायरेक्ट ट्रांसफर की इस सुविधा से जुड़े हैं. हरियाणा और पंजाब के किसानों को पूरा पैसा पहुंचने पर वह संतोष जता रहे हैं. खुलकर बोल रहे हैं और तारीख कर रहे हैं.

बंगाल के किसानों को पहली बार योजना का लाभ- मोदी

11.54AM: पीएम मोदी ने कहा कि बंगाल के किसानों को पहली बार इस योजना का लाभ मिलना शुरू हुआ है. आज बंगाल के लाखों किसानों को पहली किस्त पहुंची है. जैसे जैसे राज्य सरकारों से किसानों के नाम मिलेंगे, वैसे ही लाभार्थियों की संख्या बढ़ती चली जाएगी. इस योजना से देश के छोटे किसानों को बहुत लाभ मिल रहा है. इस योजना के तहत देश के 11 करोड़ किसानों के पास एक लाख 35 हजार करोड़ रुपये पहुंच चुके हैं.

किसानों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी

11.52AM: किसानों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना के इस समय में देशवासियों का हौसला बढ़े, महामारी को हराने का संकल्प और दृढ़ हो, मैं इसकी कामना करता हूं. आज बहुत ही चुनौतीपूर्ण समय में हम ये संवाद कर रहे हैं. कोरोना के समय देश के किसानों अपना दायित्व निभाते हुए रिकॉर्ड पैदावार की है. 

किसानों के साथ पीएम मोदी का संवाद

11.24AM: पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत 19,000 करोड़ की सौगात के बाद किसानों के साथ पीएम मोदी संवाद कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि इस योजना से देश के छोटे किसानों को लाभ हो रहा है.

किसान सम्मान निधि योजना के तहत 8वीं किस्त जारी

11.15AM: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसान सम्मान निधि योजना के तहत 8वीं किस्त जारी कर दी है. इस किस्त से 9.5 करोड़ से अधिक लाभार्थी किसान परिवारों को 19,000 करोड़ रुपये से अधिक का हस्तांतरण किया जा सकेगा. 

कार्यक्रम की शुरुआत हुई

11.03AM: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कुछ ही देर में किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना के तहत 19,000 करोड़ रुपये के वित्तीय लाभ की 8वीं किस्त जारी करेंगे. कार्यक्रम की शुरुआत हो गई है. जिसमें किसानों के साथ केंद्रीय कृषि मंत्री भी मौजूद हैं. यह कार्यक्रम वर्चुअल तरीके से आयोजित किया गया है.

बैकग्राउंड


पीएम-किसान योजना के बारे में

पीएम-किसान योजना के तहत, पात्र लाभार्थी किसान परिवारों को प्रति वर्ष 6,000 रुपये का वित्तीय लाभ प्रदान किया जाता है, जो प्रत्येक 2,000 रुपये की तीन समान 4-मासिक किश्तों में देय है. फंड सीधे लाभार्थियों के बैंक खातों में स्थानांतरित किया जाता है. इस योजना में, 1.15 लाख करोड़ रुपये से अधिक के सम्मान राशी को अब तक किसान परिवारों को हस्तांतरित किया जा चुका है.

किसानों के खाते में 56,059.54 करोड़ डीबीटी से ट्रांसफर

इससे पहले पंजाब और हरियाणा के किसानों ने अपने गेहूं की बिक्री के एवज में सीधे अपने बैंक खातों में भुगतान प्राप्त करना शुरू कर दिया है. अब देशभर में डीबीटी लागू कर दिया गया है. इससे रबी खरीद वर्ष 2021-22 के दौरान, मिशन 'वन नेशन, वन एमएसपी, वन डीबीटी' को पहली बार एक मजबूत रूप मिला है. पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, चंडीगढ़, मध्य प्रदेश, राजस्थान और अन्य राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में गेहूं की खरीद सुचारु रूप से चल रही है. 12 मई, 2021 तक 353.99 लाख मिट्रिक टन से अधिक गेहूं की खरीद की जा चुकी है, जबकि पिछले वर्ष इस मौसम में 268.91 लाख मिट्रिक टन के गेहूं की खरीद की गई थी.

12 मई तक, देश में लगभग 56,059.54 करोड़ रुपये सीधे किसानों के खाते में स्थानांतरित किए गए हैं, जिसमें से 23,402 करोड़ रुपये, जो कि कुल देय भुगतान का 91 फीसदी है, पंजाब के किसानों को जारी किए गए हैं. 12 मई तक कुल 353.98 लाख मिट्रिक टन गेहूं की खरीद में पंजाब द्वारा प्रमुख योगदान दिया गया है. इसके तहत राज्य से 131.14 लाख मिट्रिक टन 353.98 लाख मिट्रिक टन (37.04 फीसदी) खरीद की गई है. उसके बाद हरियाणा से 81.07 लाख मिट्रिक टन (22.90 फीसदी), मध्य प्रदेश से 103.71 लाख मिट्रिक टन (29.29 फीसदी) खरीदारी की गई है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 14 May 2021, 11:03:46 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.