News Nation Logo

कर्नाटक सीरियल किलिंग मामला : मुस्लिम संगठनों ने सकार पर लगाया भेदभाव का आरोप

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 31 Jul 2022, 02:35:01 PM
Karnataka CM

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

दक्षिण कन्नड़ (कर्नाटक):   मुस्लिम संगठनों ने कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले में मारे गए मुस्लिम और हिंदू युवाओं के परिवारों को मुआवजा देने के मामले में सत्तारूढ़ भाजपा सरकार द्वारा किए जा रहे भेदभाव की आलोचना की है।

प्रवीण कुमार नेतरु की मृत्यु के बाद, मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई उसके परिजनों से मिले और सरकार से मुआवजे के रूप में 25 लाख रुपये का चेक दिया।

हालांकि, सीएम बोम्मई आठ लोगों के एक गिरोह द्वारा मारे गए मसूद के परिवार से मिलने नहीं गए। मसूद का परिवार प्रवीण के घर से 5 किलोमीटर दूर रहता था। प्रवीण की हत्या के बाद बेरहमी से मारे गए मोहम्मद फाजिल मंगलपेट के परिवार को भी कोई मुआवजा नहीं मिला है।

मुस्लिम सेंट्रल कमेटी ने मसूद और फाजिल के शोक संतप्त परिवारों को 30-30 लाख रुपये मुआवजा देने का फैसला किया है। समिति ने सीएम बोम्मई और सत्तारूढ़ भाजपा को केवल प्रवीण के आवास पर जाने और अन्य दो परिवारों के साथ सहानुभूति रखने की जहमत नहीं उठाने पर आलोचना की।

जमात-ए-इस्लामी हिंद, कर्नाटक इकाई ने कहा है कि सत्तारूढ़ भाजपा फूट डालो और राज करो की नीति अपना रही है। इसके प्रदेश अध्यक्ष डॉ मोहम्मद साद बेलागामी ने कहा है कि सत्तारूढ़ भाजपा के आंशिक व्यवहार के कारण कट्टरपंथी संगठन सशक्त हो रहे हैं। सरकार को सभी समुदायों के साथ समान व्यवहार करना चाहिए।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 31 Jul 2022, 02:35:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.