News Nation Logo

दिल्ली में विजय दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, ये होगा खास

News Nation Bureau | Edited By : Vikas Kumar | Updated on: 27 Jul 2019, 08:28:24 AM
पीएम नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

highlights

  • विजय दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे पीएम मोदी.
  • आज तक किसी पीएम ने इस कार्यक्रम को नहीं किया है संबोधित.
  • कार्यक्रम में कारगिल युद्ध पर बनी 8 मिनट की फिल्म भी दिखाई जाएगी.

नई दिल्ली:  

1999 के कारगिल युद्ध में पाकिस्तान को धूल चटाने वाले हमारे वीर जवानों को आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी नमन करेंगे. कारगिल युद्ध या ऑपरेशन विजय के 20 साल पूरे के अवसर पर दिल्ली आयोजित एक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हिस्सा लेंगें और कार्यक्रम को संबोधित करेंगे. प्रधानमंत्री मोदी दिल्ली के इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में आयोजित इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि होंगे.

आज तक किसी भी प्रधानमंत्री ने कारगिल विजय दिवस के सार्वजनिक कार्यक्रम में भाग नहीं लिया है इसलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इस कार्यक्रम में जाना और भी खास बन जाता है.
कार्यक्रम में ये होगा खास

यह भी पढ़ें: करगिल युद्ध के नायकों के बेटे अपने पिता की रेजीमेंट में शामिल होने में पीछे नहीं हटे
कारगिल विजय दिवस के अवसर पर आयोजित इस खास कार्यक्रम में सेना की बैंड अपनी प्रस्तुति देगा. इसके अलावा कारगिल युद्ध पर बनी 8 मिनट की फिल्म भी दिखाई जाएगी. तीन घंटे के खास कार्यक्रम में मशहूर गायक मोहित चौहान भी प्रस्तुति देंगे और युवाओं के दिल में जोश भरेंगे. इसके अलावा और भी कई सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए जाएंगे. विजय दिवस पर भारतीय वायु सेना, नौ सेना और थल सेना के प्रमुखों ने द्रास स्थित कारगिल वार मेमोरियल पर शहीद जवानों को याद किया. जबकि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने नई दिल्ली में शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की.

लगभग 60 दिन चले इस युद्ध में भारत और पाकिस्तान की सेनाएं आमने-सामने थीं और भारतीय सैनिकों ने विपरीत परिस्थितियों के बावजूद पाकिस्तान पर जीत हासिल की. परिस्थितियां भारत के पक्ष में इसलिए नहीं थीं क्योंकि पाकिस्तानी सैनिकों ने ऊंची और खड़ी पहाड़ियों के पोस्ट पर कब्जा कर लिया था.

यह भी पढ़ें: मिराज 2000 विमान: जिसने करगिल युद्ध का पासा पलट दिया, जानें ये कैसे हुआ संभव

बताया जाता है कि इस लड़ाई में करीब तीन हजार पाकिस्तानी सैनिक मारे गए. हालांकि इस जंग को लेकर पाकिस्तान का कहना है कि उसके करीब 357 सैनिक ही मारे गए थे.इस जंग में करीब 11 मई को भारतीय वायुसेना भी शामिल हो गई थी लेकिन उसने कभी एलओसी पार नहीं की. वायुसेना का लड़ाकू विमान मिराज, मिग- 21, मिग- 27 और कई लड़ाकू हेलीकॉप्टर ने पाकिस्तानी घुसपैठियों की कमर तोड़ दी थी.

भारत ने यह लड़ाई करीब 16 हजार से 18 हजार फीट की ऊंचाई पर लड़ी. तकरीबन दो महीने तक चला यह जंग भारतीय सेना के साहस और ताकत का ऐसा उदाहरण है जिस पर हर भारतीय को गर्व है.

First Published : 27 Jul 2019, 08:13:48 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.