News Nation Logo
Banner
Banner

मप्र में सत्ता जाने के बाद सोनिया से मिले कमलनाथ, बताई सरकार गिरने की ये वजह

प्रदेश में कांग्रेस की सरकार गिरने के बाद आने वाले राज्यसभा चुनाव में पार्टी को अपनी ताकत दिखानी होगी. ज्योतिरादित्य सिंधिया के 22 विधायकों के साथ भाजपा में जाने के बाद पार्टी अब केवल एक सीट जीत सकती है.

IANS/News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 23 Mar 2020, 05:53:28 PM
kamalnath

कमलनाथ (Photo Credit: फाइल)

नई दिल्ली:

मध्यप्रदेश के कार्यकारी मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) ने आज कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) से मुलाकात कर उन्हें राज्य की स्थिति से अवगत कराया. उल्लेखनीय है कि 22 विधायकों की बगावत के बाद सरकार अल्पमत में आ गई थी और कमलनाथ को इस्तीफा देना पड़ा. प्रदेश में कांग्रेस की सरकार गिरने के बाद आने वाले राज्यसभा चुनाव में पार्टी को अपनी ताकत दिखानी होगी. ज्योतिरादित्य सिंधिया के 22 विधायकों के साथ भाजपा में जाने के बाद पार्टी अब केवल एक सीट जीत सकती है.

सूत्रों के मुताबिक, दोनों नेताओं ने राज्यसभा चुनाव को लेकर रणनीति पर चर्चा की. पार्टी ने राज्यसभा चुनाव के लिए दो उम्मीदवारों- दिग्विजय सिंह और पूर्व बसपा नेता फूल सिंह बरैया को उतारा है. लेकिन 22 विधायकों के इस्तीफ के बाद कांग्रेस के विधायकों की संख्या 92 और भाजपा के विधायकों की संख्या 106 हो गई है. लिहाजा कांग्रेस की दोनों सीटें जीतने की संभावना काफी कम है.

यह भी पढ़ें-मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का ऐलान, लॉकडाउन तोड़ने पर कल से होगी कड़ी कार्रवाई

कमलनाथ ने बताई सरकार गिरने की वजह
आपको बता दें कि मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने 20 मार्च को पद से इस्तीफा दे दिया था. इसके पहले दिसंबर 2018 में मध्य प्रदेश विधानसभा चुनावों में कांग्रेस ने 114 सीटों पर जीत दर्ज की थी लेकिन वो भी बहुमत के आंकड़े से दो सीटें दूर रह गई थी वहीं, बीजेपी को 109 सीटों से संतोष करना पड़ा. हालांकि, चुनावी समीकरणों से ऐसा लग रहा है कि कांग्रेस आसानी से मध्य प्रदेश में सरकार बना लेगी. 20 मार्च को इस्तीफा देते समय कमलनाथ ने बताया था कि, "मुझे पांच साल के लिए जनादेश मिला था, लेकिन काम करने के लिए 15 महीने ही मिले. सरकार को अस्थिर करने की यह भाजपा की साजिश थी."

यह भी पढ़ें-रात 9 बजे मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे शिवराज सिंह चौहान, राज्यपाल ने दिया समय

रात 9 बजे शिवराज सिंह ले सकते हैं शपथ
मध्य प्रदेश में एक बार फिर शिवराज सिंह चौहान की ताजपोशी की तैयारी शुरू हो चुकी है. कमलनाथ के इस्तीफा देने के बाद शिवराज सिंह चौहान का मुख्यमंत्री बनना अब औपचारिकता भर रह गया है. शाम छह बजे बीजेपी विधायक दल की बैठक बुलाई गई. सूत्रों के मुताबिक रात 9 बजे राजभवन में शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. इस समारोह में सीमित संख्या में लोग मौजूद रहेंगे.

यह भी पढ़ें-शाम 7 बजे शिवराज सिंह ले सकते हैं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ, राजभवन में होगा कार्यक्रम

मध्य प्रदेश के 30 जिले हैं लॉकडाउन
सोमवार को मध्य प्रदेश के 30 जिलों में लॉकडाउन लागू कर दिया गया. कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए यह अहतियाती कदम उठाए गए हैं. अब भोपाल के बाद सीहोर, शाजापुर, आगर मालवा, रीवा, शिवपुरी, कटनी, भिंड, शहडोल, अलीराजपुर, देवास, नीमच, सिंगरौली, गुना, रतलाम, मंडला, मंदसौर, बालाघाट, सिवनी, उज्जैन, श्योपुर, झाबुआ, जबलपुर, टीकमगढ़, डिंडोरी, मुरैना, टीकमगढ़, नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा और रायसेन में लॉकडाउन किया गया है. यह लॉक डाउन अलग-अलग जिलों में अलग-अलग तारीखों में रहेगा.

First Published : 23 Mar 2020, 05:53:28 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.