News Nation Logo
Banner

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल ने अमरनाथ भक्तों के लिए शुरू की ऑनलाइन सेवाएं

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल ने अमरनाथ भक्तों के लिए शुरू की ऑनलाइन सेवाएं

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 06 Jul 2021, 07:14:36 PM
J&K LG

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

श्रीनगर: कोविड महामारी जारी रहने से लोग अभी भी अमरनाथ की सामान्य यात्रा से प्रतिबंधित हैं। महामारी को देखते हुए अमरनाथ भक्तों को जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने राहत दी है। उन्होंने मंगलवार को श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड की विभिन्न ऑनलाइन सेवाओं की शुरूआत की।

कोविड-19 महामारी के कारण इस साल श्री अमरनाथ मंदिर की पवित्र गुफा के दर्शन नहीं कर पाने वाले लाखों भक्तों के लिए श्राइन बोर्ड ने वर्चुअल मोड के तहत दर्शन, हवन और प्रसाद सुविधा शुरू की है।

भक्त अपनी पूजा, हवन और प्रसाद ऑनलाइन बुक कर सकते हैं और पवित्र गुफा के पुजारी इसे भक्त के नाम पर चढ़ाएंगे। प्रसाद बाद में भक्तों के दरवाजे पर पहुंचाया जाएगा।

उपराज्यपाल ने कहा, श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड, (एसएएसबी) की नई ऑनलाइन सेवाओं के शुभारंभ के साथ, दुनिया भर से भगवान शिव के भक्त पवित्र गुफा में ऑनलाइन पूजा और हवन कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि इस पहल के माध्यम से भक्तों के लिए ऑनलाइन प्रसाद बुकिंग सेवा का भी विस्तार किया गया है।

एसएएसबी के सीईओ, नीतीशवार कुमार ने कहा, श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड भक्तों के लिए वर्चुअल पूजा, नाम से वर्चुअल हवन (दर्शन के साथ) और ऑनलाइन प्रसाद बुकिंग सहित ऑनलाइन सेवाओं का विस्तार कर रहा है।

सीईओ ने कहा कि ऑनलाइन सेवाओं को अमरनाथजी श्राइन बोर्ड की वेबसाइट के माध्यम से बुक ऑनलाइन पूजा/हवन/प्रसाद लिंक पर क्लिक करके और बोर्ड के मोबाइल एप्लिकेशन (जिसे लिंक के माध्यम से डाउनलोड किया जा सकता है, उसके माध्यम से बुक किया जा सकता है। 6 जुलाई 2021 से वर्चुअल पूजा के लिए 1100/- रुपये, प्रसाद बुकिंग के लिए 1100/- रुपये (अमरनाथजी के 5 ग्राम चांदी के सिक्के के साथ), 2100 रुपये का भुगतान करके, प्रसाद बुकिंग के लिए (अमरनाथजी के 10 ग्राम चांदी के सिक्के के साथ) और विशेष हवन या उपरोक्त में से किसी के संयोजन के लिए 5100 रुपये है।

वर्चुअल पूजा या हवन गुफा मंदिर में पवित्र गुफा पुजारी द्वारा मंत्रों और श्लोकों के जाप के साथ भक्त के नाम और गोत्र का उच्चारण करके किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि भक्तों को जियो मीट एप्लिकेशन के माध्यम से एक वर्चुअल ऑनलाइन कमरे में जाने दिया जाएगा, जिसमें उनके नाम पर एक विशेष वर्चुअल पूजा और पवित्र बर्फ लिंगम के दर्शन होंगे।

नीतीशेश्वर कुमार ने कहा, हम 48 घंटे के भीतर प्रसाद भेजने के लिए डाक विभाग के साथ व्यवस्था कर रहे हैं।

एसएएसबी के सीईओ ने कहा, एक बार बुकिंग हो जाने के बाद, श्राइन बोर्ड भक्त के पंजीकृत मोबाइल नंबर/ई-मेल आईडी पर लिंक और दिनांक/समय साझा करेगा। वर्चुअल पूजा या हवन बुक किए गए स्लॉट के अनुसार किया जाएगा। श्राइन बोर्ड माई जियो टीवी एप्लिकेशन पर अपना समर्पित चैनल भी लॉन्च कर रहा है, जिसमें भक्त दिन में कभी भी लाइव दर्शन देख सकते हैं। इस साल की यात्रा रद्द होने के मद्देनजर ये कदम उठाए गए हैं।

पोर्टल को श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड द्वारा राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र, जम्मू-कश्मीर की मदद से बनाया गया है।

कोविड वृद्धि के मद्देनजर लगातार दूसरे वर्ष यात्रा रद्द किए जाने के बाद श्राइन बोर्ड ने पहले ही टीवी और डिजिटल दोनों प्लेटफॉर्म पर भगवान शिव की पवित्र गुफा से सुबह और शाम की आरती के लाइव प्रसारण की व्यवस्था की है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 06 Jul 2021, 07:14:36 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो