News Nation Logo
Banner

जेट एयरवेज के पायलटों ने PM मोदी से मांगी मदद, कहा 20 हजार कर्मचारियों की नौकरी बचाएं

ऐसे समय में जब जेट एयरवेज आर्थिक संकट से गुजर रहा है तब उसकी प्रमुख प्रतिद्वंद्वी और सस्ते किराये की विमानन कंपनी स्पाइसजेट ने नई जेट एयरवेज के कर्मचारियों के लिए नई मुसीबत खड़ी कर दी है.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 15 Apr 2019, 02:32:32 PM
File Pic

File Pic

नई दिल्ली:

आर्थिक संकटों से जूझ रही विमानन कंपनी जेट एयरवेज के पायलटों के संगठन ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से 20 हजार लोगों की नौकरियां बचाने की अपील की है. साथ ही संगठन ने भारतीय स्टेट बैंक से 1,500 करोड़ रुपये जारी करने की भी अपील की है. कंपनी को दोबारा कर्ज देने की पिछले महीने की योजना के तहत भारतीय स्टेट बैंक को जेट एयरवेज में 1,500 करोड़ रुपये लगाने हैं. 

यह भी पढ़ें : आधी सैलरी पर काम करने के लिए तैयार हैं जेट एयरवेज के पायलट और इंजीनियर

नेशनल एविएटर्स गिल्ड के उपाध्यक्ष आदिम वालियानी ने कंपनी के मुख्यालय सिरोया सेंटर में बताया कि वह कंपनी का परिचालन जारी रखने के लिये भारतीय स्टेट बैंक से 1,500 करोड़ रुपये जारी करने की अपील कर रहे हैं. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी अपील करते हुए कहा कि वे कंपनी में काम कर रहे 20 हजार लोगों की नौकरियां बचायें. इससे पहले कंपनी के पायलट, इंजीनियर और केबिन क्रू के सदस्य एकजुटता दिखाने के लिये मुख्यालय में जमा हुए. आपको बता दें कि कंपनी ने पायलटों, इंजीनियरों और वरिष्ठ कर्मियों को दिसंबर 2018 के बाद से वेतन नहीं दिया है. कंपनी मार्च महीने में कुछ अन्य श्रेणियों के कर्मचारियों को भी वेतन नहीं दे पाई.

यह भी पढ़ें : जेट एयरवेज में उथल-पुथल, आज पायलटों की अहम बैठक, इस पर बनेगी सहमति

ऐसे समय में जब जेट एयरवेज आर्थिक संकट से गुजर रहा है तब उसकी प्रमुख प्रतिद्वंद्वी और सस्ते किराये की विमानन कंपनी स्पाइसजेट ने नई जेट एयरवेज के कर्मचारियों के लिए नई मुसीबत खड़ी कर दी है. स्पाइइस जेट कंपनी ने जेट एयरवेज के पायलटों एवं इंजीनियरों को 30 से 50 फीसदी कम वेतन पर अपने यहां नौकरी देनी शुरु कर दी है.आईएएनएस न्यूज एजेंसी के मुताबिक जेट के पायलटों से कहा गया है कि वे 25 से 30 फीसदी कम सैलरी पर स्पाइस जेट में ज्वाइन कर सकते हैं. वहीं इंजीनियरों को कहा गया है कि वे 50 फीसदी कम सैलरी पर ज्वाइन कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें : 1,100 जेट एयरवेज के पायलटों का फैसला, सोमवार से नहीं भरेंगे उड़ान

एक सीनियर एयरक्राफ्ट मेंटिनेंस इंजीनियर ने बताया कि मौजूदा समय में उसकी सैलरी जेट एयरवेज में 4 लाख रूपए सीटीसी प्रति माह है लेकिन उसे स्पाइस जेट से डेढ़ से दो लाख सीटीसी प्रति माह का ऑफर है. हम उम्मीद कर रहे हैं कि यह वेतन बहुत कम है और हम लोग ये उम्मीद कर रहे हैं कि जेट एयरवेज को जल्द ही कोई निवेशक मिलेगा और हमारा वेतन सुरक्षित रहेगा.

First Published : 15 Apr 2019, 02:19:18 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो