News Nation Logo
कोविड के खिलाफ लड़ाई में भी भारत और रूस के बीच सहयोग: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत में 85 फीसदी पात्र आबादी को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगा दी गई है: मनसुख मंडाविया दिल्ली में इस साल डेंगू से अब तक 15 मरीजों की मौत बीते 6 साल में डेंगू से मौत का सबसे बड़ा आंकड़ा शाही ईदगाह मस्जिद की जगह पर भव्य श्रीकृष्ण मंदिर के निर्माण के लिए संकल्प यज्ञ किया गया CM Channi के गुरु नानक देव यूनिवर्सिटी पहुंचने पर अध्यापकों का ज़ोरदार प्रदर्शन अध्यापकों की मांग - 7वें पे कमीशन की सिफारिशें पंजाब हों लागू ओमिक्रोन के अलर्ट के बीच पटना में 100 विदेशियों की तलाश भारत ने न्यूजीलैंड को 372 रन से हराकर टेस्ट मैच श्रृंखला 1-0 से जीती टीम इंडिया ने घर में लगातार 14वीं टेस्ट सीरीज जीती न्यूजीलैंड पर 372 रनों से जीत रनों के लिहाज से भारत की टेस्ट मैचों में सबसे बड़ी जीत है उत्तराखंड के चमोली में देवल ब्लॉक के ब्रह्मताल ट्रेक मार्ग पर बर्फबारी हुई रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने भारत के विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर के साथ नई दिल्ली में बैठक की बाबा साहब आंबेडकर का महापरिनिर्वाण दिवस आज. बसपा कर रही बड़ा कार्यक्रम नीट काउंसिलिंग में हो रही देरी के खिलाफ रेजिडेंट डॉक्टर्स आज ठप रखेंगे सेवा रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन आज आ रहे भारत. कई समझौतों को देंगे अंतिम रूप पंजाब के पूर्व सीएम अमरिंदर सिंह आज करेंगे अमित शाह-जेपी नड्डा से मुलाकात.

जेएनयू: छात्र संगठनों के बीच झड़प, एसएफआई और एबीवीपी ने एक दूसरे पर लगाए आरोप

जेएनयू: छात्र संगठनों के बीच झड़प, एसएफआई और एबीवीपी ने एक दूसरे पर लगाए आरोप

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 15 Nov 2021, 09:30:01 PM
Jawaharlal Nehru

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में एक बार फिर छात्र संगठनों के बीच विवाद बढ़ने लगा है। छात्र संगठन एसएफआई ने आरोप लगाया है कि एबीवीपी ने एंजेल की पुस्तक- सोशलिज्म यूटोपियन एंड साइंटिफिक पर एक रीडिंग सेशन आयोजित करने के लिए बुक किए गए यूनियन रूम पर कब्जा कर लिया। वहीं एबीवीपी का कहना है कि जेएनयू में एबीवीपी के कई कार्यकर्ताओं पर वामपंथी गुटों ने हमला किया है। इनमें से कुछ छात्रों को एम्स जाना पड़ा है।

एसएफआई के अध्यक्ष सुमित कटारिया ने बताया कि एबीवीपी छात्रों ने यूनियन रूम पर कब्जे के बाद इसे खाली करने से इनकार कर दिया। एक संगठन ने यूनियन रूम बुक किया था और कार्यक्रम के लिए दो दिनों से अधिक समय तक प्रचार किया था।

सुमित ने बताया कि जब जेएनयूएसयू की अध्यक्ष आइशी घोष हस्तक्षेप करने आईं, तो एबीवीपी के छात्रों ने उन्हें घेर लिया।

कुछ छात्रों ने आरोप लगाया है कि एक दर्जन से अधिक एबीवीपी कार्यकर्ताओं द्वारा एक छात्र पर बेरहमी से हमला किया गया। महिलाओं को प्रताड़ित किया गया।

एसएफआई के सचिव प्रीतिश मेनन ने कहा कि कई अन्य छात्रों के सिर पर वार किए गए। एसएफआई परिसर में इस बेरोकटोक गुंडागर्दी की निंदा करता है और दोहराता है कि एसएफआई छात्र समुदाय के साथ मिलकर एक भय मुक्त और लोकतांत्रिक परिसर सुनिश्चित करने के लिए डटकर मुकाबला करेगा।

वहीं एबीवीपी ने इस पूरी घटना के लिए एसएफआई पर आरोप लगाया है। एबीवीपी का कहना है कि जेएनयू में एबीवीपी के कई कार्यकर्ताओं पर वामपंथी गुटों ने हमला किया है। इनमें से कुछ छात्रों को एम्स भेजा गया है। पीड़ितों में शारीरिक रूप से अक्षम छात्र, छात्राएं और एबीवीपी के पदधारी शामिल हैं। एबीवीपी के मुताबिक रविवार रात जब एबीवीपी कार्यकर्ताओं की बैठक चल रही थी तब छात्र गतिविधि कक्ष में यह हमला हुआ। हमलावरों में आइसा, एसएफआई सहित अन्य संगठनों के लोग शामिल थे। हमला रात करीब 9 बजकर 45 मिनट पर हुआ। अब फिलहाल पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 15 Nov 2021, 09:30:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.