News Nation Logo
Banner

असम में आंदोलन के चलते जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे का भारत दौरा स्थगित, गुवाहाटी में होनी थी शिखर वार्ता

नागरिकता संशोधन विधेयक पर हिंसा में सुलग रहे गुवाहाटी समेत पूर्वोत्तर की पृष्ठभूमि में रविवार से प्रस्तावित जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे का भारत दौरा स्थगित कर दिया गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 13 Dec 2019, 02:55:14 PM
जापान-भारत की शिखर वार्ता स्थगित.

जापान-भारत की शिखर वार्ता स्थगित. (Photo Credit: न्यूज स्टेट)

highlights

  • रविवार से शुरू हो रहे जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे का भारत दौरा स्थगित.
  • दोनों देश परस्पर सहमति से जल्द तय करेंगे नई तारीख और जगह.
  • अफवाहों और झूठ के बल पर फैलाई गई पूर्वोत्तर राज्यों में हिंसा.

New Delhi:

नागरिकता संशोधन विधेयक पर हिंसा में सुलग रहे गुवाहाटी समेत पूर्वोत्तर की पृष्ठभूमि में रविवार से प्रस्तावित जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे का भारत दौरा स्थगित कर दिया गया है. भारत-जापान के बीच होने वाली वार्षिक शिखर बैठक की तारीख जल्द ही दोनों देशों की सहमति से तय की जाएगी. जापानी पीएम के भारत दौरे के स्थगित होने की सूचना विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने एक ट्वीट के माध्यम से दी है. देखा जाए तो इस घटनाक्रम से भारत की अंतरराष्ट्रीय मंच पर छवि को धक्का लगा है.

यह भी पढ़ेंः भारत में अवैध रूप से घुसने के प्रयास में पकड़े गए 7 बांग्लादेशी, पूछताछ जारी

अफवाहों से फैली हिंसा
एक लिहाज से देखें तो महज राजनीति के लिए फैलाई गई अफवाहों और झूठ का यह एक गंभीर कूटनीतिक खामियाजा है. नागरिकता संशोधन विधेयक पर उपजी ऊहापोह के असर से जल रहे असम और अन्य पूर्वोत्तर राज्यों की आग अब भारत के मित्र राष्ट्रों तक पहुंच चुकी है. पहले पहल बांग्लादेश के मंत्री की प्रतिक्रिया के बाद अब जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के भारत दौरे पर इसका असर पड़ा है. जापान के मीडिया से ऐसे संकेत मिले थे पूर्वोत्तर खासकर गुवाहाटी में जारी हिंसा के मद्देनजर जापानी पीएम आबे रविवार से शुरू हो रही अपनी भारत यात्रा को रद्द कर सकते हैं.

यह भी पढ़ेंः राजस्थान में भी होगी शराबबंदी! फैसले से पहले अधिकारी बिहार में कर रहे स्टडी

गुवाहाटी में भारत-जापान शिखर वार्ता की तैयारी जोरों पर थीं
भारत-जापान शिखर वार्ता के लिए गुवाहाटी में मेजबानी की तैयारी जोरों पर थी. यह अलग बात है कि इस बीच नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर असम में पिछले दिनों हिंसक विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए और हजारों लोग सड़कों पर उतर आए. प्रदर्शनकारियों ने गुरुवार को एक विधायक के घर, वाहनों और सर्किल ऑफिस को आग के हवाले कर दिया. सरकार ने कार्रवाई करते हुए गुवाहाटी के पुलिस कमिश्नर सहित मुख्य पुलिस अधिकारी को निलंबित कर दिया. गुवाहाटी का नया पुलिस प्रमुख दीपक कुमार के स्थान पर मुन्ना प्रसाद गुप्ता को बनाया गया है, जबकि अतरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) मुकेश अग्रवाल का भी तबादला कर दिया गया है.

यह भी पढ़ेंः 'रेप कैपिटल' वाले बयान पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी बोले, 'मैं इनसे माफी मांगने वाला नहीं हूं'

परिवहन के साधन भी ठप
हिंसा को जारी देख प्रशासन ने गुरुवार 12 बजे से राज्य में अगले 48 और घंटों के लिए इंटरनेट सेवाओं को बंद कर दिया है. यहां तक कि अधिकांश एयरलाइनों ने डिब्रूगढ़ और गुवाहाटी से उड़ानें रद्द कर दीं और ट्रेन की आवाजाही रोक दी गई है. असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने लोगों से शांत होने और शांति व्यवस्था को बनाए रखने की अपील की है. असम के सीएम सर्बानंद ने यहां एक बयान जारी कर लोगों से आग्रह कर कहा, "मैं असम के लोगों को उनकी पहचान सुनिश्चित करने के लिए पूर्ण सुरक्षा का आश्वासन देता हूं. कृपया आगे आए और शांति के लिए प्रयास करें."

First Published : 13 Dec 2019, 02:05:43 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.