News Nation Logo
Banner

कश्मीर: केंद्र ने कहा, बीएसएफ टॉपर अहमद वानी को धमका रहा है आतंकी, परिवार ने किया इनकार

रिपोर्ट्स के अनुसार बीएसएफ टॉपर को आतंकियों ने धमकी दी है। हालांकि इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए वानी के परिवार वालों ने कहा है कि यह झूठ है। किसी को भी धमकी नहीं मिली है।

News Nation Bureau | Edited By : Jeevan Prakash | Updated on: 17 May 2017, 01:20:03 PM

highlights

  • रिपोर्ट्स के अनुसार, बीएसएफ एग्जाम में टॉप करने वाले नबील अहमद वानी और उनकी बहन पर आतंकी खतरा
  • नबील की मां ने कहा, आतंकियों से नहीं मिली धमकी, बेटे ने बहन की हॉस्टल को लेकर चिंता जताया था
  • महिला विकास मंत्रालय ने नबील की बहन के लिए हॉस्टल मुहैया करवाया

नई दिल्ली:

सेना के जवान उमर फयाज की हत्या के बाद आतंकियों ने सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की प्रवेश परीक्षा में टॉप करने वाले जम्मू-कश्मीर के युवक नबील अहमद वानी और उनकी बहन को हमले का डर है।

मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है कि नबील अहमद वानी को आतंकियों ने धमकी दी है। हालांकि इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए वानी के परिवार वालों ने कहा है कि यह झूठ है। किसी को भी धमकी नहीं मिली है।

वानी की मां हनीफा बेगम ने इंडियन एक्सप्रेस से फोन पर बातचीत में कहा, 'मैं हैरान हूं कि ये सब कहां से आया। जब ऐसा कुछ है ही नहीं, तो झूठ क्यों बोले हम।'

ऐसी खबर है कि वानी ने सरकार को पत्र लिखकर कहा है कि उन्हें और उनकी बहन को आतंकी धमकी दे रहे हैं। नबील अहमद वानी इस वक्त ग्वालियर के नजदीक टेकमपुर में बीएसएफ ट्रेनिंग सेंटर में हैं जबकि उनकी बहन चंडीगढ़ में सिविल इंजीनियरिंग की छात्रा हैं। जहां वह हॉस्टल में रह रही हैं।

हॉस्टल की सुरक्षा को देखते हुए वानी ने कहा कि हॉस्टल से बाहर रहने पर मेरी बहन खतरा हो सकता है। इसलिए हॉस्टल में ही रहने दिया जाए। जिसपर महिला विकास मंत्री मेनका गांधी ने सुरक्षा का भरोसा दिया है।

और पढ़ें: जम्मू-कश्मीर के शोपियां में सेना का सर्च ऑपरेशन, सुरक्षा बलों पर पत्थरबाज़ी

वानी का कहना है कि कॉलेज प्रशासन उसकी बहन को हॉस्टल से निकालना चाहता है। जबकि उसे सुरक्षा चाहिये।

जिसपर महिला विकास मंत्रालय ने ट्वीट कर कहा, 'नबील अहमद वानी बीएसएफ में कमांडेंट है और उनकी बहन चंडीगढ़ में इंजीनियरिंग स्टूडेंट है।'

मंत्रालय ने कहा, 'उन्होंने (वानी) आतंकी धमकी मिलने के बाद मेनका गांधी से बहन को हॉस्टल दिलाने का आग्रह किया।' जिसके बाद मेनका गांधी ने इस मामले को लेकर कॉलेज प्रशासन से बात की और जवान की बहन को हॉस्टल में रहने की इजाजत दे दी गई।

और पढ़ें: पुलिस ने फ़ैयाज़ की हत्या करने वाले आतंकियों के पोस्टर किए जारी, हिजबुल मुजाहिदीन से है संबंध

मंत्रालय अगले ट्वीट में कहा, 'पीएम नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन और नेतृत्व में हमारा कर्तव्य है कि सैनिकों के परिवारों की रक्षा की जाए जो हमारे देश की रक्षा करते हैं।'

उधमपुर जिले के वानी ने बीएसएफ के सहायक कमांडेंट (कार्य) परीक्षा में शीर्ष स्थान प्राप्त किया था। यह परीक्षा लोकसेवा आयोग द्वारा 26 जुलाई को आयोजित की गई थी।

आईपीएल 10 की बड़ी खबर के लिए यहां क्लिक करें

एंटरटेनमेंट की खबर के लिए यहां क्लिक करें

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 17 May 2017, 12:49:00 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.