logo-image
लोकसभा चुनाव

Jammu-Kashmir: कश्मीर के पुंछ में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़, सर्च ऑपरेशन के बीच हुआ अटैक

जम्मू-कश्मीर के पुंछ में एक बार फिर आंतकी और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ हो गई. अटैक तलाशी अभियान के दौरान पुलिस के विशेष दस्ते पर हमला हुआ.

Updated on: 19 Jun 2024, 06:14 AM

नई दिल्ली:

जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ जारी है. ताजा मामला पूंछ के सुरनकोट का है. यहां पर आतंकियों के छिपे होने की आशंका थी, जिसपर सुरक्षाबलों ने तलाशी शुरू की, इस दौरान आतंकियों ने तलाशी अभियान में जुटे सुरक्षाकर्मियों और पुलिस के विशेष दस्ते पर फायरिंग शुरू कर दी. इसके जवाब में सुरक्षाबलों ने भी ताबड़तोड़ फायरिंग की. हालांकि, अभी तक किसी तरह के नुकसान की खबर नहीं है.  बता दें, हाल ही में गृहमंत्री अमित शाह ने सुरक्षा बलों को शून्य आतंक योजना लागू करने का निर्देश दिया था. अधिकारियों का कहना है कि सोमवार को चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ सीडीएस अनिल चौहान ने जम्मू और उधमपुर में सुरक्षा स्थिति का जायजा लिया था. उन्होंने क्षेत्र में सुरक्षा स्थिति की समीक्षा की. साथ ही उन्होंने सुरक्षा बलों की तैयारियों का भी जायजा लिया था. उत्तरी सेना के कमांडर और जनरल ऑफिसर कमांडिंग सहित सेना के आला अधिकारियों ने सीडीएस को जानकारी दी थी. 

पढ़ें पूरी खबर: Bihar Araria Bridge Collapse: अररिया में धड़ाम से गिरा पुल, 6 करोड़ की लागत से हो रहा था निर्माण

रियासी में हुआ था आंतकी हमला
बता दें, करीब 10 दिन पहले जम्मू-कश्मीर के रियासी में तीर्थयात्रियों की बस पर आंतकी हमला हो गया था. आतंकवादियों ने चलती बस पर फायरिंग की थी, जिसके बाद बस बेकाबू होकर खाई में जा गिरी. इस आंतकी हमले में 10 लोगों की मौत हो गई, जबकि 33 से ज्यादा लोग घायल हो गए. घायल तीर्थयात्रियों को इलाज के लिए निजी अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है. पुलिस आतंकियों की तलाश में जुटी हुई है. केंद्रीय अमित शाह ने आतंकी हमले की निंदा की. आतंकी हमले के दौरान, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीसरी बार देश के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ले रहे थे. 

पीड़ित ने बताई आपबीती
इस घटना के एक पीड़ित ने बताया कि बस तेजी से चल रही थी, इसी दौरान एक शख्स सड़क के बीच में आ गया और आते ही फायरिंग शुरू कर दी. वह लगातार फायरिंग करता रहा, जिससे बस ड्राइवर असंतुलित हो गया और बस पर नियंत्रण नहीं रख सका और बस सीधे नीचे जा गिरी. बस गिरने के बाद भी उसने फायरिंग जारी रखी. वह करीब 10 मिनट तक फायरिंग करता रहा. पीड़ित ने बताया कि हम करीब 30 मिनट तक बस के अंदर फंसे रहे और जब लोगों ने देखा तो शोर मचाना शुरू कर दिया.