News Nation Logo

जम्मू के 5 जिलों में इंटरनेट सेवाएं फिर बंद, श्रीनगर में छिटपुट हिंसा बाद प्रतिबंध जारी

यह फैसला अफवाहों से बचने और इलाके में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए लिया गया है. इसके पहले 'संवेदनशील' पोस्ट के लिए दो लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था.

By : Nihar Saxena | Updated on: 18 Aug 2019, 02:32:29 PM
श्रीनगर में छिटपुट हिंसा के बाद फिर लगा दिए गए प्रतिबंध.

श्रीनगर में छिटपुट हिंसा के बाद फिर लगा दिए गए प्रतिबंध.

highlights

  • जम्मू, सांबा, कठुआ, उधमपुर और रियासी में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं फिर बंद.
  • शुक्रवार-शनिवार की रात कम गति की मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बहाल की गई थी.
  • राजौरी जिले में फेसबुक पर 'संवेदनशील' पोस्ट के लिए दो लोगों पर मामला दर्ज.

श्रीनगर.:

जम्मू-कश्मीर से 370 खत्म होने के बाद जम्मू में फैलाई जा रही अफवाहों को रोकने के लिए रविवार को एक बार फिर पांच जिलों जम्मू, सांबा, कठुआ, उधमपुर और रियासी में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं. एक दिन पहले ही इन इलाकों में कम गति की 2जी मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को बहाल किया गया था. यह फैसला अफवाहों से बचने और इलाके में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए लिया गया है. इसके पहले 'संवेदनशील' पोस्ट के लिए दो लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था. इधर श्रीनगर में प्रतिबंधों में ढील के बाद सामने आई छिटपुट हिंसा के बाद एक बार फिर से प्रतिबंध लगा दिए गए हैं.

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंड: उत्तरकाशी के मोरी प्रखंड में बादल फटा, 5 लोग पानी में बहे, देखें VIDEO

अफवाहों पर रोकथाम के लिए उठाया कदम
पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि संबंधित अधिकारियों ने सभी इंटरनेट सर्विसेस को दोपहर बाद तत्काल बंद करने के निर्देश दिए हैं. अफवाहों को फैलने से रोकने और शांति बनाए रखने के लिए यह फैसला लिया गया. करीब एक पखवाड़े बाद शुक्रवार और शनिवार की रात को जम्मू, सांबा, कठुआ, उधमपुर और रियासी जिलों में कम गति की मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बहाल की गई थी.

यह भी पढ़ेंः तनाव के बीच पाकिस्तान के दो हिंदू जोड़ो ने भारत आकर रचाई शादी, ये थी वजह

4 अगस्त से बंद है इंटरनेट सेवा
केंद्र द्वारा जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले धारा 370 के प्रावधानों को निरस्त करने और उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू कश्मीर और लद्दाख में विभाजित करने से एक दिन पहले चार अगस्त को जम्मू क्षेत्र में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं निलंबित कर दी गई थीं. इस कदम से कुछ वक्त पहले राज्य में कर्फ्यू लगा दिया गया था. हालांकि, बाद में पाबंदियों में ढील दे दी गई थी. बता दें कि जम्मू-कश्मीर में धारा 370 को खत्म करने का फैसला केंद्र सरकार ने 5 अगस्त को किया था.

यह भी पढ़ेंः आतंकवाद को शह देने वाले देशों को अलग-थलग करना होगा, लिथुआनिया में बोले वैंकेया नायडू

अफवाहें फैलाने से नहीं बाज आ रहे लोग
जम्मू क्षेत्र के पांच जिलों में 2जी मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बहाल करने के फौरन बाद जम्मू के पुलिस महानिरीक्षक मुकेश सिंह ने चेतावनी दी कि सोशल मीडिया पर फर्जी संदेश या विडियो प्रसारित करने वाले व्यक्ति के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में फेसबुक पर सार्वजनिक व्यवस्था के लिए खतरे के रूप में उभरी 'संवेदनशील' पोस्ट के लिए दो लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था. दोनों व्यक्तियों की पहचान अतीक चौधरी और फारूक चौधरी के रुप में हुई थी. दोनों के खिलाफ धर्म और क्षेत्र के आधार पर कथित रूप से नफरत भड़काने का मामला दर्ज किया गया है.

First Published : 18 Aug 2019, 02:32:29 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×