News Nation Logo

Jammu and Kashmir: अनुच्छेद 370 हटने के बाद पहली बार होंगे चुनाव

जम्मू-कश्मीर में साल 2018 में पंचायत चुनाव हुए थे जिसे वहां के दो प्रमुख स्थानीय राजनीतिक दलों, नेशनल कॉंफ्रेस और PDP ने मानने से इंकार करते हुए चुनाव का बहिष्कार कर दिया था.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 13 Feb 2020, 10:11:43 PM
जम्मू-कश्मीर में पंचायत चुनाव

जम्मू-कश्मीर में पंचायत चुनाव (Photo Credit: file)

नई दिल्ली:

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने गृहमंत्री अमित शाह के नेतृत्व में 5 अगस्त 2019 को जम्मू - कश्मीर से अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी कर दिया था. जिसके बाद अब जम्मू-कश्मीर के चुनाव अधिकारी ने वहां पर पंचायत उपचुनाव का ऐलान किया है. आपको बता दें कि यह पहला मौका होगा जब अनुच्छेद 370 हटने के बाद जम्मू-कश्मीर में पंचायत चुनाव होंगे. जम्मू-कश्मीर में मौजूदा समय लगभग 13,000 रिक्त पंचायत सीटों के लिए यह चुनाव करवाया जाएगा. इसके पहले पिछले साल जम्मू-कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा खत्म किए जाने के बाद उसे केंद्र शासित प्रदेश बना दिया था, इसके बाद यह पहली राजनैतिक गतिविधि होगी.

जम्मू कश्मीर के मुख्य चुनाव अधिकारी शैलेंद्र कुमार ने मीडिया से बातचीत करते हुए बताया कि ये पंचायत चुनाव आठ चरणों में संपन्न होंगे और इसके साथ ही गुरुवार से ही जम्मू कश्मीर में चुनाव आचार संहिता भी लागू हो गई है. आपको बता दें कि इसके पहले जम्मू-कश्मीर में साल 2018 में पंचायत चुनाव हुए थे जिसे वहां के दो प्रमुख स्थानीय राजनीतिक दलों, नेशनल कॉंफ्रेस और PDP ने मानने से इंकार करते हुए चुनाव का बहिष्कार कर दिया था. इन दोनों राजनीतिक दलों के बहिष्कार के बाद वहां पर पंचायत चुनाव की लगभग 12 हजार सीटें खाली रह गई थी. वहीं कश्मीर के हालात का जायजा लेने के लिए पहुंची विदेशी राजनयिकों के प्रतिनिधि मंडल को सेना के अधिकारियों ने गुरुवार को सुरक्षा हालात के बारे में इन लोगों को जानकारी दी.

यह भी पढ़ें-News State खबर का असर, आयुष्मान योजना में सरकार ने इस वजह से बदले नियम

मुख्य निर्वाचन अधिकारी शैलेन्द्र कुमार ने मीडिया से बातचीत करते हुए बताया कि केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख ने अभी तक हमें चुनाव संचालन के लिए अनुरोध नहीं भेजा है, इसलिए हमने लद्दाख को इसमें शामिल नहीं किया है, इसके अलावा लद्दाख में अभी बर्फ जमी होने की वजह से वहां का वातावरण अभी चुनाव करवाने लायक नहीं है अत्यधिक ठंड होने की वजह से वहां अभी चुनाव होने की परिस्थितियां नहीं बन पा रही हैं.

यह भी पढ़ें-नारायण मूर्ति के दामाद ऋषि सुनाक (Rishi Sunak) बने ब्रिटेन के वित्त मंत्री

ऐसा रहेगा जम्मू-कश्मीर का चुनावी कार्यक्रम

पहले चरण का मतदान- 5 मार्च
दूसरे चरण का मतदान- 7 मार्च
तीसरे चरण का मतदान- 9 मार्च
चौथे चरण का मतदान- 12 मार्च
पांचवे चरण का मतदान- 14 मार्च
छठे चरण का मतदान- 16 मार्च
सातवें चरण का मतदान- 18 मार्च
आठवें चरण का मतदान- 20 मार्च

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

First Published : 13 Feb 2020, 10:11:43 PM