News Nation Logo
Banner

Jammu And Kashmir Article 370 : जम्मू -कश्मीर राज्य पुनर्गठन बिल 125 - 61 से पास

चप्‍पे-चप्‍पे पर पुलिस बल की तैनाती की गई है. लाउट स्‍पीकर से लोगों को घरों से न निकलने की सलाह दी जा रही है. कश्‍मीर यूनिवर्सिटी की परीक्षाएं टाल दी गई हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Mishra | Updated on: 06 Aug 2019, 06:25:43 AM
राज्यसभा में बोलते हुए गृहमंत्री अमित शाह

राज्यसभा में बोलते हुए गृहमंत्री अमित शाह

नई दिल्‍ली:

जम्मू और कश्मीर में धारा 370 के खत्म होने की अटकलों के बीच, सरकार ने रविवार आधी रात को पूर्व मुख्यमंत्रियों उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती सहित कई राजनेताओं को नजरबंद कर दिया. मोबाइल और इंटरनेट सेवाओं को ठप कर दिया गया है और स्‍थानीय केबल टीवी बंद कर द दिया गया है. सुरक्षा व्‍यवस्‍था चाक-चौबंद कर दिया गया है. चप्‍पे-चप्‍पे पर पुलिस बल की तैनाती की गई है. लाउट स्‍पीकर से लोगों को घरों से न निकलने की सलाह दी जा रही है.

कश्‍मीर यूनिवर्सिटी की परीक्षाएं टाल दी गई हैं. सुबह 9:30 बजे से सुरक्षा मामलों की कैबिनेट कमेटी की बैठक होने जा रही है. बताया जा रहा है कि सरकार धारा 35 ए को हटाने का फैसला कर सकती है. साथ ही परिसीमन को लेकर भी अटकलें लगाई जा रही हैं. 

 

राज्यसभा की कार्यवाही कल सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित की गई.

जम्मू-कश्मीर राज्यपुनर्गठन विधेयक राज्यसभा में पारित होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गृह मंत्री अमित शाह को बधाई दी.

राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर राज्यपुनर्गठन विधेयक पर अब पर्ची से हो रही है वोटिंग

वोटिंग के दौरान मशीन में आई खराबी

वोटिंग के दौरान मशीन में खराबी आने के बाद स्लिप पर वोटिंग की प्रक्रिया संपन्न कराई जाएगी.

जम्मू-कश्मीर राज्यपुनर्गठन विधेयक पर सदन में डिविजन लिया गया और वोटिंग जारी है.

5 साल हमे दे दीजिए हम जम्मू कश्मीर का विकास करके दिखाएंगेः अमित शाह

जैसे ही नार्मल परिस्थिति आयेगी फिर उचित समय आएगा जम्मू कश्मीर को फिर से पूर्ण राज्य बनाया जायेगाः अमित शाह

घाटी के लोगों को कहना चाहता हूं कि सबने अपनी संस्कृति बचा कर रखी है जहाँ 370 नही है इसलिय ये भ्रम न फैलाएंः अमित शाह

370 आतंकवाद का जनक है, इसके जाने का समय आ गया है. इसके जाये बिना आतंकवाद नही जाएगाः अमित शाह

आतंकवाद जन्मा, बढ़ा, पनपा और चरम सीमा पर पहुंचा, इसका कारण आर्टिकल 370 है: अमित शाह


जवाहर लाल नेहरू ने भी कहा था कि 370 घिसते-घिसते घिस जाएगी मगर 370 इतने जतन से संभाल कर रखा कि 70 साल हो गए  लेकिन घिसी नहीं. हर कोई जानता था कि यह एक अस्थाई प्रोविजन है लेकिन क्या अस्थाई प्रोविजन 70 सालों तक चलता है यह कैसे हुआ इतने दिनों तक यह कैसे गयाः अमित शाह. 



राजस्थान, ओडिशा, गुजरात, और बिहार जैसे राज्यों का युवा आतंकवाद के हाथों गुमराह नहीं होता क्योंकि वहां 370 नहीं है, अलगाववाद का भूत नहीं हैः अमित शाह

मैं बताना चाहता हूं कि राष्ट्र हित का बिल लेकर आये है और आप तो इंदिरा जी को बचाने का बिल लाये थे और उसे उसी दिन ही पारित कराया थाः अमित शाह

अनुच्छेद 370 और 35ए हटने से जम्मू-कश्मीर का भला होने वाला है और वह पूरी तरह हमारे देश का अभिन्न अंग बन जाएगाः अमित शाह

लोकसभा में इस कानून के पारित होते ही कश्मीर के हर बच्चे को शिक्षा का अधिकार मिलने लगेगाः अमित शाह

ओडिशा में डॉक्टर्स जाते हैं और रहते हैं क्योंकि उन्हें वहां अधिकार मिलते हैंः अमित शाह

370 की वकालत करने वाले मुझे बताएं कि कौन सा बड़ा डॉक्टर कश्मीर में जाकर रहना चाहेगा जब उसे वहां कोई अधिकार ही नहीं मिलेगाःअमित शाह

370 की वकालत करने वाले मुझे बताएं कि कौन सा बड़ा डॉक्टर कश्मीर में जाकर रहना चाहेगा जब उसे वहां कोई अधिकार ही नहीं मिलेगाःअमित शाह

370 की वकालत करने वाले मुझे बताएं कि कौन सा बड़ा डॉक्टर कश्मीर में जाकर रहना चाहेगा जब उसे वहां कोई अधिकार ही नहीं मिलेगाः अमित शाह

370 की वकालत करने वाले मुझे बताएं कि कौन सा बड़ा डॉक्टर कश्मीर में जाकर रहना चाहेगा जब उसे वहां कोई अधिकार ही नहीं मिलेगाःअमित शाह

ये जो लोग 370 के पक्ष में खड़े हैं वे जरा मुझे बताएं तो इसका फायदा क्या है? अगर 370 से गरीबी दूर हो जाए तो ठीक है, अगर 370 से 5 हजार कमाने वाला व्यक्ति 15000 कमाने लगे तो ठीक हैः अमित शाह

370 की वजह से घाटी के पर्यटन में कमी आई जिससे वहां बेरोजगारी बढ़ी हैः अमित शाह

कश्मीर घाटी में लगातार पर्यटन में कमी आई है और इसकी वजह अनुच्छेद 370 है. बड़ी कंपनियां वहां जाना चाहती हैं लेकिन 370 की वजह से जा नहीं सकती हैं और इसका नुकसान घाटी के लोगों को होता है क्योंकि उनको रोजगार नहीं मिल पाएगाः अमित शाह

जम्मू-कश्मीर में यह जो हलचल मची हुई है यह 370 हटने का नहीं बल्कि राष्ट्रपति के आदेश के बाद वहां भ्रष्टाचार की जांच शुरू हो गई है इसलिए हैः अमित शाह

जम्मू-कश्मीर में विकास के लिए भेजे गए रूपये भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ेः अमित शाह

जम्मू-कश्मीर में विकास के लिए सरकार ने करोड़ों रुपए भेजे लेकिन जमीन पर कोई काम नहीं हुआ. सब भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गए क्योंकि वहां तीन परिवारों का आशीर्वाद होता है वही वहां कुछ कर सकता हैः अमित शाह

जम्मू-कश्मीर में सिर्फ मुसलमान नहीं बल्कि हर धर्म के लोग रहते हैं. घाटी के लोग गरीबी से मुक्ति और लोकतंत्र चाहते हैंः अमित शाह

अनुच्छेद-370 आदिवासी विरोधी है, महिला विरोधी है, दलित विरोधी है और घाटी में आतंकवाद की जड़ हैः अमित शाह

370 और 35 A के कारण जम्मू-कश्मीर में गरीबी घर कर गई. घाटी में भ्रष्टाचार हुआ, जब पूरे देश में विकास दिखता है लेकिन कश्मीर में नहीं दिखता तो आंख में आंसू आ जाते हैंः अमित शाह

अनुच्छेद-370 हटने से घाटी में रक्तपात के युग का अंत हुआ

अनुच्छेद-370 हटने से घाटी में रक्तपात के युग का अंत हुआः राज्यसभा में अमित शाह 

गृहमंत्री अमित शाह जम्मू कश्मीर आरक्षण बिल, पुनर्गठन प्रस्ताव पर राज्यसभा में बोलना शुरू कर दिया है.  

टीएमसी ने राज्यसभा से किया वॉकआउट

पीएम नरेन्द्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह राज्यसभा में पहुंचे. इसके बाद टीएमसी ने सदन से वॉकआउट कर दिया. 

वित्त मंत्री निर्मलासीतारमण ने की मोदी सरकार के ऐतिहासिक फैसले की तारीफ

धारा 370 पर मोदी सरकार का यह एक ऐतिहासिक कदम है और देश भर से इसके लिए संदेश आ रहे हैंःवित्त मंत्री निर्मला सीतारमण.



सदन में आपके पास बहुमत है इसलिए आप ऐसा कर रहे हैंः कपिल सिब्बल

कांग्रेस सांसद कपिल सिब्बल ने राज्यसभा में कहा, यह तो समय बताएगा कि यह फैसला एक काला धब्बा है या क्या है. आपने संविधान की रूह को खत्म करने की कोशिश की. आप 11 बजे सदन में अचानक बिल लेकर आते हो, हमें पता भी नहीं होता कि बिल में क्या है और उसके बाद कहते को बिल पर चर्चा के लिए तैयार है. 


 


 


रामदास अठावले ने पढ़ी मोदी सरकार के ऐतिहासिक फैसले पर पढ़ी कविता

आज का दिन नहीं है काला, इसलिए मैं नरेन्द्र मोदी और अमित शाह को पहनाता हूं माला.


- राज्यसभा में आठवले की कविता 

आपको भले ही यह लगता हो कि आपने जीत दर्ज की है लेकिन इतिहास आपको गलत साबित करेगा. आने वाली पीढ़ी को इस बात का एहसास होगा कि आज सदन ने कितनी बड़ी गलती की हैः पी. चिदंबरम

राज्यसभा में पी. चिदंबरम ने किया मोदी सरकार के फैसले का विरोध

राज्यसभा में कांग्रेस सांसद पी. चिदंबरम ने कहा, कांग्रेस बीजेपी के इस कदम की निंदा करती है. आपको लगता है कि आपने ऐसा करके जीत दर्ज की है लेकिन वास्तव में ऐसा नहीं है.



अनुच्छेद-370 को हटाने पर वरिष्ठ बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी का बयान

अनुच्छेद-370 को हटाने पर वरिष्ठ बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी ने कहा- राष्ट्रीय एकता को मजबूत करने की दिशा में यह एक बड़ा और महत्वपूर्ण कदम है.



अनुच्छेद 370 की वजह से हम लोग एक मुल्क में रहकर भी अजनबी थे: मौलाना सैफ अब्बास

समाजवादी पार्टी ने जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन का किया विरोध

यदि आप धारा 370 हटाना चाहते हैं तो फिर आपने राज्यों का उन्मूलन क्यों किया आपने इसे यूटी क्यों बना दिया दुनिया भर का इतिहास गवाह है कि बलपूर्वक जनता को दबाने का प्रयास हमेश विफल रहा है.



Article 370 पर TDP ने भी दिया सरकार को समर्थन

Article 370  पर तेलुगुदेशम पार्टी ने किया मोदी सरकार के फैसले का समर्थन. 



तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) के प्रमुख चंद्रबाबू नायडू अनुच्छेद 370 को रद्द करने के केंद्र सरकार के फैसले का समर्थन करते हैं. 



गुलाम नबी आजाद ने कहा, शेख अब्‍दुल्‍ला से लेकर मुफ्ती तक वहां के मुख्‍यमंत्री रहे. अब वहां लेफ्टिनेंट गवर्नर होगा. वोट लेने के लिए भारत की संस्‍कृति के साथ खिलवाड़ न कीजिए. इस नए भारत के इतिहास में यह काला धब्‍बा होगा. कश्‍मीरियों की मर्जी के बगैर राज्‍य को तोड़ रहे हैं. जिस कश्‍मीर को खून से सींचा गया, आज उस खून को आपने अपने पांवों तले रौंद दिया है.

गुलाम नबी आजाद ने कहा, कानून से इंटीग्रेशन नहीं होता, यह दिल से होता है. जम्‍मू-कश्‍मीर की शुरुआत प्रधानमंत्री से हुई थी. हमने वहां चीफ मिनिस्‍टर बनाया, अब आपने जम्‍मू-कश्‍मीर को लेफ्टिनेंट गवर्नर के हवाले कर दिया. कश्‍मीर दुनिया में अपनी खुबसूरती के लिए जाना जाता है. आपने एक राज्‍य के इतिहास को मसल दिया है.

आजाद ने कहा, आज जिस तरह से यह फैसला लिया गया. फैसले लेते समय यह भी नहीं सोचा गया कि वहां अस्‍पताल में समुचित व्‍यवस्‍था है या नहीं, राशन पानी की सुविधा है या नहीं. जिस बात का डर था, वहीं हुआ. 57 पन्‍नों का यह बिल लाया गया है और आनन-फानन में पास कराने की कोशिश की जा रही है. आज भारत के नक्‍शे से एक स्‍टेट खत्‍म हो गया है.

गुलाम नबी आजाद ने कहा, मैंने सोचा भी नहीं था कि इस तरह का फैसला सरकार लेने जा रही है. मुझे लगा था कि आरक्षण विधेयक को लेकर सरकार कोई निर्णय लेगी. मैं तो यह सोचकर समर्थन करने के लिए आया था. पिछले एक हफ्ते से पूरा राज्‍य परेशान था. मैं खुद रात को ढाई बजे सोया. कई फोन आ रहे थे, तमाम अफवाहें फैल रही थीं. कोई परिसीमन की बात कर रहा था तो कोई कह रहा था कि धारा 370 खत्‍म होगा तो कोई 35ए के बारे में तरह-तरह की बात कर रहा था. 

एनएसए अजित डोवाल कल मंगलवार को जम्‍मू-कश्‍मीर जाएंगे. 

जम्‍मू-कश्‍मीर को लेकर फैसले पर जनता दल यूनाइटेड नेता श्याम रजक का बयान- आज संविधान की हत्या की गई है. आज देश के लिए कालादिन है. हम धारा 370 हटाने का विरोध करते रहे हैं और करते रहेंगेण्‍ इसके विरोध में हम किसी भी हद तक जा सकते हैं.

ममता बनर्जी की पार्टी ने मोदी सरकार के इस फैसले का समर्थन किया है 

मोदी सरकार के फैसले के बाद राज्‍यसभा में ओम-ओम के जयकारे लग रहे हैं. 

बीजेपी महासचिव राममाधव ने कहा है कि देश की 70 साल पुरानी मांग पूरी हो गई है 

अन्‍नाद्रमुक, वाईएसआर कांग्रेस और बीजू जनता दल ने केंद्र सरकार के फैसले का समर्थन किया है. 

एयरफोर्स के विमान से 8 हजार और सुरक्षाबल जम्‍मू-कश्‍मीर भेजे गए. 

सरसंघचालक मोहन भागवत ने धारा 370 पर मोदी सरकार के फैसले पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि सरकार के इस कदम का संघ स्वागत करता है.

पीडीपी के राज्‍यसभा सांसदों नजीर अहमद लवे और एमएम फैयाज़ ने अनुच्छेद 370 को जम्मू-कश्मीर से हटाए जाने की घोषणा के बाद संसद परिसर में कपड़े फाड़कर विरोध प्रदर्शन किया. दोनों सांसदों ने संविधान को फाड़ने की कोशिश की, जिस पर उन्‍हें सदन से बाहर जाने को कह दिया गया. एमएम फैयाज ने भी विरोध में अपना कुर्ता फाड़ दिया.



मोदी सरकार के फैसले का पीडीपी के सांसदों ने कपड़े फाड़कर विरोध किया

राज्‍यसभा में गुलाम नबी आजाद बोल रहे हैं. केंद्र सरकार के फैसले का वे तीव्र विरोध कर रहे हैं. 

जम्‍मू-कश्‍मीर में अब दिल्‍ली की तरह विधानसभा होगी, लेकिन यह केंद्र शासित प्रदेश होगा. वहीं लद्दाख चंडीगढ़ की तरह केंद्र शासित प्रदेश होगा. 



राज्‍यसभा में बुलाए गए मार्शल, कार्यवाही स्‍थगित

लद्दाख को जम्‍मू-कश्‍मीर से अलग किया गया. प्रस्‍ताव मंजूर होने पर लद्दाख केंद्र शासित प्रदेश होगा. जम्‍मू-कश्‍मीर भी केंद्र शासित प्रदेश होगा. 

गृह मंत्री अमित शाह द्वारा जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने के प्रस्‍ताव के बाद विपक्षी दल राज्यसभा में जमकर हंगामा कर रहे हैं.




राज्‍यसभा में गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, मैं विपक्ष के नेता, पूरे विपक्ष और कश्मीर मुद्दे पर सत्ता पक्ष के सदस्यों द्वारा सभी चर्चाओं के लिए तैयार हूं. मैं सभी सवालों के जवाब देने के लिए तैयार हूं.



अमित शाह ने कहा, भारत के संविधान के अनुच्‍छेद 370 के कुछ खंड हटाए जाएंगे. यह तभी होगा, जब राष्‍ट्रपति उस अनुशंसा पर हस्‍ताक्षर कर देंगे. 

अमित शाह ने कहा, गुलाम नबी आजाद की चिंताओं पर चर्चा की जाएगी. चार मुद्दों पर बारी-बारी से चर्चा की जाएगी 

राज्‍यसभा में अमित शाह के बयान से पहले विपक्षी दलों ने हंगामा शुरू कर दिया. गुलाम नबी आजाद ने कहा- आज जम्‍मू-कश्‍मीर में तीन-तीन पूर्व सीएम हाउस एरेस्‍ट हैं. राज्‍य में ये क्‍या हो रहा है. 

जम्मू और कश्मीर: गर्मी की छुट्टियों के बाद लेह में आज स्कूल सामान्य रूप से फिर से खुल गए, कॉलेजों और अन्य शैक्षणिक संस्थानों में भी कक्षाएं फिर से शुरू हुईं.



सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता गृह सचिव के साथ संसद भवन में मौजूद हैं. 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संसद भवन पहुंचे, आर्मी चीफ का जैसलमेर दौरा रद्द होने की खबर 

कैबिनेट की बैठक के बाद कोई मीडिया ब्रीफिंग नहीं होगी. सीधे अमित शाह संसद में बयान देंगे. 

डीएमके सांसद टीआर बालू, सोशलिस्ट पार्टी (आरएसपी) के नेता एनके प्रेमचंद्रन और सीपीआई (एम) नेता एएम आरिफ ने कश्मीर मुद्दे पर लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया है. 



दिल्ली: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह संसद पहुंच गए हैं. वह राज्यसभा में सुबह 11 बजे और लोकसभा में आज दोपहर 12 बजे बोलेंगे.



केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह राज्यसभा में सुबह 11 बजे और लोकसभा में आज दोपहर 12 बजे जम्‍मू-कश्‍मीर पर लिए गए फैसले के बारे में जानकारी देंगे



जम्मू के विक्रम चौक पर सुरक्षा व्‍यवस्‍था काफी कड़ी कर दी गई है. आप भी देखें VIDEO



केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक समाप्त होने के बाद 7 लोक कल्याण मार्ग से निकल गए हैं. 



राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के सांसद मनोज झा ने राज्यसभा में नियम 267 के तहत नोटिस दिया. उन्‍होंने राज्‍यसभा का बिजनेस स्थगित करने और कश्मीर मुद्दे पर चर्चा की मांग की



संसद में कांग्रेस के सभी सांसदों की बैठक थोड़ी ही देर में होगी, जिसमें कश्‍मीर पर सरकार के भावी फैसले को लेकर रणनीति बनाई जाएगी. 

कैबिनेट की बैठक खत्‍म हो गई है. अमित शाह संसद में बयान देंगे. वे पहले लोकसभा और फिर राज्‍यसभा में बोलेंगे. 

गृह मंत्री अमित शाह जम्‍मू-कश्‍मीर मसले पर पहले लोकसभा और फिर राज्‍यसभा में बयान दे सकते हैं.

केंद्र सरकार ने सभी राज्‍यों को बड़ी एडवाइजरी जारी करते हुए सतर्कता बरतने की सलाह दी है. 

राज्यसभा के सभापति ने कुछ जरूरी विधायी कार्य को छोड़कर सभी प्रस्‍तावित कार्यों को स्‍थगित कर दिया गया है. आज राज्‍यसभा में पूरे दिन कश्‍मीर पर चर्चा की जाएगी. 



AIMIM सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कश्मीर मुद्दे पर लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया है, वहीं भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (CPI) के सांसद बिनॉय विश्वम ने राज्यसभा में आज नियम 267 के तहत नोटिस दिया है. 



राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद के चैंबर में सोमवार सुबह 10 बजे विरोधी दलों के नेता बैठक कर जम्‍मू-कश्‍मीर को लेकर सरकार द्वारा उठाए गए कदमों को लेकर रणनीति तय करेंगे. 



वीडियो में देखें जम्‍मू-कश्‍मीर में एहतियात के तौर पर सुरक्षाबल क्‍या उपाय कर रहे हैं. 



दिल्ली: पीडीपी के राज्यसभा सांसद नजीर अहमद और मीर मोहम्मद फैयाज ने कश्मीर में हालात के विरोध में संसद में प्रवेश करने से पहले काली पट्टी बांधी. पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के राज्यसभा सांसद, नजीर अहमद लावे ने कश्मीर मुद्दे पर सदन में शून्यकाल नोटिस दिया है.



पीएम नरेंद्र मोदी की अध्‍यक्षता में सुरक्षा मामलों की कैबिनेट कमेटी की बैठक शुरू हो चुकी है. बैठक में पीएम के अलावा अमित शाह, एनएसए अजित डोवाल, राजनाथ सिंह आदि मौजूद हैं. 

राज्‍यसभा में कांग्रेस के सांसद गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा, अंबिका सोनी और भुवनेश्वर कलिता ने कश्मीर मुद्दे पर स्थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया है. 



जम्‍मू-कश्‍मीर पर कयासबाजी के बीच शेयर बाजार भी सहम गया है. सोमवार को बाजार खुलते ही 440.15 अंक लुढ़क गया. 



कश्मीर को लेकर सरकार के सामने 4 विकल्प है जिसपर मुहर लगने की संभावना है
1. 35A को समाप्त करना
2. कश्मीर और लद्दाख को यूनियन टेरिटरी घोषित करना व जम्मू को पूर्ण राज्य
3. नए परिसीमन के जरिये आबादी के हिसाब से जम्मू छेत्र को ज्यादा सीटें देना.
4. 35A और 370 दोनो को खत्म करना.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह प्रधानमंत्री आवास पहुंचे

कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी, के. सुरेश और मनीष तिवारी ने कश्मीर मुद्दे को लेकर लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया है.



गृह मंत्री अमित शाह, NSA अमित शाह और कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद 7 लोक कल्याण मार्ग पहुंच गए हैं. होम सेक्रेटरी राजीव गौबा भी 7 लोक कल्याण मार्ग पहुंचे.

सुरक्षा मामलों की कैबिनेट कमेटी की बैठक से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और एनएसए अजित डोवाल की पीएम आवास पर बैठक चल रही है. 

दिल्ली: केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक आज सुबह 9.30 बजे, 7 लोक कल्याण मार्ग में होगी.



जम्मू और कश्मीर: लद्दाख क्षेत्र में जनजीवन सामान्‍य है. गर्मी की छुट्टियों के बाद वहां आज स्‍कूल-कॉलेज भी खेलेंगे. कॉलेजों और अन्य शैक्षणिक संस्थानों में सामान्य रूप से कक्षाएं लगेंगी. यहां धारा 144 लागू नहीं है. 



जम्मू और कश्मीर के कठुआ के उपायुक्‍त राघव लंगर ने कहा, कठुआ में 5 अगस्त से स्कूल और कॉलेज बंद रहेंगे.



जम्मू विवि के प्रवक्ता विनय तुषु ने बताया, विश्वविद्यालय 5 अगस्त 2019 को बंद रहेगा. 5 अगस्त, 2019 को होने वाली स्नातक और स्नातकोत्तर की सभी परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं. ताजा तारीखों को बाद में अधिसूचित किया जाएगा.



जम्मू और कश्मीर: उधमपुर में 5 अगस्त से अगले आदेश तक स्कूल और कॉलेज बंद रहेंगे; 5-6 अगस्त को डोडा में बंद रहेगा.



जम्‍मू-कश्‍मीर के रियासी के उपायुक्‍त इंदु कंवल चिब का कहना है कि जिले में धारा 144 लगाई गई है, सभी स्कूलों, कॉलेजों और शैक्षणिक संस्थानों की निजी और सरकारी दोनों तरह की कक्षाओं को अगले आदेश तक 5 अगस्त तक निलंबित रखा जाएगा. 



गृह मंत्री अमित शाह प्रधानमंत्री आवास पहुंच गए हैं. इससे पहले रविशंकर प्रसाद से भी उनकी मुलाकात हुई. सुबह 9:30 बजे सुरक्षा मामलों की कैबिनेट कमेटी की बैठक होने वाली है. 

जम्मू की उपायुक्त सुषमा चौहान का कहना है कि जम्मू में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं निलंबित कर दी गई हैं.



जम्मू और कश्मीर में रविवार मध्यरात्रि से धारा 144 सीआरपीसी लागू करने के मद्देनजर श्रीनगर में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. 



आज सुबह 9:30 बजे सुरक्षा मामलों की कैबिनेट कमेटी की बैठक होगी. बैठक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवास पर होगी. माना जा रहा है कि इस दौरान कश्‍मीर को लेकर कोई बड़ा फैसला हो सकता है. 

First Published : 05 Aug 2019, 07:33:47 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×