News Nation Logo
Banner

जम्मू कश्मीर: आतंक के खिलाफ अब मोर्चा सभालेंगी रोबाटिक सेना

रक्षा मंत्रालय इसके लिए रोबोटिक वेपन को मैदान में उतारने की योजना बना रहा है। ये रोबोट पत्थरबाजी की घटनाओं के अलावा आतंक के खिलाफ ऑपरेशन में सेना की मदद करेंगे।

News Nation Bureau | Edited By : Vineet Kumar1 | Updated on: 13 Aug 2017, 03:46:10 PM
जम्मू कश्मीर: आतंक के खिलाफ अब मोर्चा सभालेंगी रोबाटिक सेना (संकेतिक इमेज)

जम्मू कश्मीर: आतंक के खिलाफ अब मोर्चा सभालेंगी रोबाटिक सेना (संकेतिक इमेज)

नई दिल्ली:

कश्मीर में आतंकियों और पत्थरबाजों से लोहा लेती भारतीय सेना को जल्द बडी राहत मिल सकती है। रक्षा मंत्रालय इसके लिए रोबोटिक वेपन को मैदान में उतारने की योजना बना रहा है। ये रोबोट पत्थरबाजी की घटनाओं के अलावा आतंक के खिलाफ ऑपरेशन में सेना की मदद करेंगे।

एक अधिकारी के अनुसार इस मंत्रालय ने इस मांग को मान लिया है. ये रोबोट्स युद्ध और हमले की स्थिति में संवेदनशील जगहों पर सेना को हथियार और गोला बारुद पहुंचाएंगे।

फायरिंग रेंज होने की वजह से ऐसे स्थानों में सेना के जवानों को जान का खतरा होता है, लेकिन रिमोट संचालित ये रोबोट ऐसे हालत में आसानी से सेना की मदद कर सकेंगे।

यह भी पढें: जम्मू- कश्मीर: शोपियां मुठभेड़ में 3 आतंकवादी ढेर, 2 जवान शहीद

खास बात ये है कि ऐसे रोबोट्स देश में भी बनाए जा रहे हैं। आर्मी द्वारा ऐसे 544 रोबोट्स की जरूरत संबंधी प्रस्ताव को रक्षा मंत्रालय ने मंजूरी दे दी है।

खबरों के मुताबिक इस रोबोट का फायदा राष्ट्रीय रायफल्स के जवानों को खासकर होगा। राष्ट्रीय रायफल्स आतंकियों का संहार करने वाला एक आधुनिक किस्म का आतंकरोधी बल है।

इसके जवान अक्सर आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन में जाते हैं। आर्मी नोट के मुबातिक राष्ट्रीय रायफल्स रोबोटिक सर्विलांस का इस्तेमाल रियल टाइम इनपुट लेने के लिए कर सकता है। अगर ये इनपुट काम के लायक रहे तो इस पर अमल भी किया जाता है।

यह भी पढें: श्रीनगर में आतंकी हमला, 2 पुलिसकर्मी सहित 3 जख्मी

First Published : 13 Aug 2017, 03:45:53 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो