News Nation Logo
अनन्या पांडे से सोमवार को फिर पूछताछ करेगी NCB अभिनेत्री अनन्या पांडे एनसीबी कार्यालय से रवाना हुईं, करीब 4 घंटे चली पूछताछ DRDO ने ओडिशा के चांदीपुर रेंज से हाई-स्पीड एक्सपेंडेबल एरियल टारगेट (HEAT) का सफल परीक्षण किया कल जम्मू-कश्मीर जाएंगे गृहमंत्री अमित शाह दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की बैठक 27 अक्टूबर को, छठ पूजा उत्सव के लिए ली जाएगी अनुमति 1971 के भारत-पाक युद्ध ने दक्षिण एशियाई उपमहाद्वीप के भूगोल को बदल दिया: सीडीएस जनरल बिपिन रावत माता वैष्णों देवी मंदिर में तीर्थयात्रियों के बीच कोरोना का प्रसार रोकने के लिए नए दिशा-निर्देश जारी दिल्ली जा रही फ्लाइट में एक आदमी की अचानक तबीयत ख़राब होने पर फ्लाइट की इंदौर में इमरजेंसी लैंडिंग 1971 का युद्ध, इसमें भारतीयों की जीत और युद्ध का आधार बेहद खास है: राजनाथ सिंह केंद्र सरकार की टीम उत्तराखंड में आपदा से हुई क्षति का आकलन कर रही है: पुष्कर सिंह धामी रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने आज बेंगलुरु में वैमानिकी विकास प्रतिष्ठान का दौरा किया शिवराज सिंह चौहान ने शोपियां मुठभेड़ में शहीद जवान कर्णवीर सिंह को सतना में श्रद्धांजलि दी मुंबई के लालबाग इलाके में 60 मंजिला इमारत में लगी भीषण आग उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव: कल शाम छह बजे सोनिया गांधी के आवास पर कांग्रेस सीईसी की बैठक

पोलैंड यूएन इंटरनेट गवर्नेस फोरम में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगी जामिया की पूर्व छात्रा

पोलैंड यूएन इंटरनेट गवर्नेस फोरम में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगी जामिया की पूर्व छात्रा

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 27 Sep 2021, 09:30:01 PM
Jamia Millia

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: पोलैंड में यूएन इंटरनेट गवर्नेस फोरम का आयोजन किया जा रहा है। पोलैंड में हो रहे इस आयोजन में भारत का प्रतिनिधित्व जामिया मिल्लिया इस्लामिया की एक पूर्व छात्रा करेंगी।

जामिया की पूर्व छात्रा पूर्णिमा तिवारी, सेंटर फॉर कल्चर, मीडिया एंड गवर्नेस, जामिया मिल्लिया इस्लामिया में पढ़ती थीं। वह संयुक्त राष्ट्र के इंटरनेट गवर्नेस फोरम, 2021 में एक युवा एम्बेसडर के रूप में देश का प्रतिनिधित्व करेंगी।

इंटरनेट यूनाइटेड विषय पर इस 16वीं वार्षिक आईजीएफ मीटिंग की मेजबानी 6-10 दिसंबर तक केटोवाइस में पोलैंड सरकार करेगी।

पूर्णिमा उन 30 एम्बेसडर्स में से एक है, जिन्हें 193 देशों के आवेदकों में से चुना गया है, और जिन्हें वैश्विक स्तर पर इंटरनेट गवर्नेस पर चर्चा में शामिल होने का अवसर मिला है।

पूर्णिमा ने, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) के साथ ही अनुसंधान परिषद (आर्ट एंड ह्युमेनिटीज रिसर्च मैपिंग इंडिया), यूनाइटेड किंगडम द्वारा मान्यता प्राप्त - संस्कृति, मीडिया एवं प्रशासन केंद्र, सेंटर विद पोटेंशल एक्सीलेंस से मीडिया गवर्नेस में एमए किया है।

पूर्णिमा का कहना है कि उनकी मातृ-संस्था, जामिया ने सामान्य रूप से सार्वजनिक नीति और विशेष रूप से मीडिया नीति और शासन के प्रति उनके विचारों को आकार देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। वह इस उपलब्धि के लिए सीसीएमजी, जामिया में अपने प्रोफेसरों और मेन्टर्स को इसका श्रेय देती हैं।

पूर्णिमा वर्तमान में एआई-जेनरेटेड मीडिया (डीपफेक फॉर गुड) में प्रयोगों पर एमआईटी मीडिया लैब के पाठ्यक्रम का एक हिस्सा है। पूर्णिमा ने 88 अन्य शोधकर्ताओं के साथ स्कॉलरशिप पर इस प्रतिष्ठित वैश्विक कार्यक्रम में जगह बनाने के लिए विश्व के लगभग 78 फीसदी से अधिक आवेदकों को पीछे छोड़ दिया।

इंटरनेट गवर्नेस पर विचारों को बढ़ावा देने के क्षेत्र में काम करते हुए पूर्णिमा युवाओं, स्कूली छात्रों, एसएचजी जैसे प्रमुख समुदायों के बीच डिजिटल मीडिया साक्षरता फैलाने में शामिल रही हैं। वह समाज में डिजिटल डिवाइड की बारीकियों, खासकर अपने गृह राज्य छत्तीसगढ़ को वह गहनता से देख रही हैं।

कुछ हफ्ते पहले उन्हें प्रोजेक्ट मनन के लिए यूनेस्को-एपीईआईसीयू मंच पर अतिथि वक्ता के रूप में आमंत्रित किया गया था। इसका उद्देश्य साइबर स्पेस पर जागरूकता को बढ़ावा देना है।

चर्चा के लिए एक मंच के रूप में, आईजीएफ विभिन्न लोगों और हितधारक समूहों को सूचनाओं के आदान-प्रदान और इंटरनेट और प्रौद्योगिकियों से संबंधित अच्छी नीतियों और प्रथाओं को साझा करने के लिए एकत्रित करता है।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 27 Sep 2021, 09:30:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो