News Nation Logo

जेल में बंद धर्मगुरु राम रहीम हुए कोरोना पॉजिटिव

विवादास्पद डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह रविवार को कोरोना पॉजिटिव हो गए. सच्चा सौदा प्रमुख हरियाणा में अपनी दो शिष्यों से बलात्कार के आरोप में 20 साल की जेल की सजा काट रहे हैं. उन्हें गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल ले जाया गया.

IANS/News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 06 Jun 2021, 05:50:56 PM
Ram Rahim

जेल में बंद धर्मगुरु राम रहीम हुए कोरोना पॉजिटिव (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • गुरमीत राम रहीम सिंह रविवार को कोरोना पॉजिटिव हो गए
  • दो शिष्यों से बलात्कार के आरोप में 20 साल की जेल की सजा काट रहे हैं
  • पिछले दिनों पेट में दर्द के चलते पीजीआईएमएस में दाखिल कराया गया था

चंडीगढ़:

विवादास्पद डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह रविवार को कोरोना पॉजिटिव हो गए. सच्चा सौदा प्रमुख हरियाणा में अपनी दो शिष्यों से बलात्कार के आरोप में 20 साल की जेल की सजा काट रहे हैं. उन्हें गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल ले जाया गया. इससे पहले, पेट दर्द की शिकायत के बाद रोहतक के पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (पीजीआईएमएस) में उनका टेस्ट हुआ था. राम रहीम (53) फिलहाल चंडीगढ़ से 250 किलोमीटर दूर रोहतक की हाई सुरक्षा वाली सुनारिया जेल में बंद है.

पिछले महीने उन्हें लो ब्लड प्रेशर की शिकायत के बाद पीजीएमआईएस अस्पताल में भर्ती कराया गया था. लेकिन उन्होंने अस्पताल में कोविड-19 टेस्ट कराने से इनकार कर दिया था. अगस्त 2017 में दो महिलाओं से बलात्कार के आरोप में स्वयंभू बाबा को 20 साल जेल की सजा सुनाई गई थी. जनवरी 2019 में पंचकूला की एक विशेष सीबीआई अदालत ने भी उन्हें और तीन अन्य को 16 साल पहले एक पत्रकार की हत्या के लिए आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी और उसके बाद से वह सजा काट रहे हैं.

यह भी पढ़ें : शिवराज सरकार के आते ही किसानों का शोषण: कमलनाथ

पिछले दिनों पेट में दर्द के चलते पीजीआईएमएस में दाखिल कराया गया था

गुरमीत राम रहीम को पिछले दिनों पेट में दर्द के चलते पीजीआईएमएस में दाखिल कराया गया था, जहां उसके पेट का सीटी स्कैन, एंजियोग्राफी व फाइब्रो स्कैन जांच कराई गई थी. मरीज की जांच के लिए गठित टीम ने दो अहम जांच करवाने की सलाह दी लेकिन ये जांच संस्थान में उपलब्ध नहीं थी. ऐसे में पीजीआई प्रशासन द्वारा गठित डॉक्टरों की कमेटी ने सुनारिया जेल प्रशासन को सुझाव दिया कि वह राम रहीम को जांच करवाने दिल्ली स्थित एम्स ले जाएं.

यह भी पढ़ें : हरियाणा का टोहाना बना किसान आंदोलन का केंद्र, गतिरोध जारी, सोमवार को थानों का घेराव

जेल प्रशासन ने एम्स में दोनों जांचों का पता किया तो सामने आया कि कोरोना महामारी के चलते अभी ये टेस्ट बंद हैं. जेल प्रशासन ने फिर कमेटी से पूछा तो गुरुग्राम स्थित मेदांता अस्पताल का नाम सुझाया गया. इसके चलते सुबह पुलिस की टीम 10 बजे राम रहीम को जेल से लेकर गुरुग्राम के लिए रवाना हुई. देर शाम तक राम रहीम का गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में ही उपचार चल रहा था. गौरतलब है कि राम रहीम को 12 मई को रक्तचाप की समस्या के चलते पीजीआईएमएस रोहतक, 17 मई को बीमार मां से मिलने गुरुग्राम, दो जून को पेट दर्द की शिकायत पर पीजीआईएमएस रोहतक लाया गया है. 

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 06 Jun 2021, 05:43:54 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो