News Nation Logo

इजरायल दूतावास के पास हुए धमाके की जांच गृह मंत्रालय ने NIA को सौंपी

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में इजरालय दूतावास के पास हुए बम विस्फोट मामले की जांच केंद्र सरकार ने देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी एनआईए (NIA) को सौंप दी है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 02 Feb 2021, 02:21:22 PM
Delhi Blast Case

इजरायल दूतावास के पास हुए धमाके की जांच गृह मंत्रालय ने NIA को सौंपी (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में इजरालय दूतावास के पास हुए बम विस्फोट मामले की जांच केंद्र सरकार ने देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी एनआईए (NIA) को सौंप दी है. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने आधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि की है. बता दें कि दिल्ली में 29 जनवरी को इजरालय दूतावास के पास बम विस्फोट हुआ था. दिल्ली पुलिस ने कहा था कि विस्फोट शहर के मध्य में स्थित 5 औरंगजेब रोड पर हुआ था. सबसे अहम बात यह है कि जिस वक्त यह ब्लास्ट हुआ, उस वक्त कुछ ही दूरी बीटिंग रिट्रीट चल रही थी, जिसमें राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से लेकर तमाम वीआईपी मौजूद थे.

यह भी पढ़ें: दिल्ली में हुई हिंसा से जुड़ी जनहित याचिकाओं पर कल सुप्रीम कोर्ट करेगा सुनवाई

उल्लेखनीय है कि दिल्ली में बम धमाके की जिम्मेदारी एक अनाम से संगठन जैश-उल-हिंद ने ली है. इस संगठन ने बकायदा एक संदेश के जरिए इस धमाके में अपना हाथ बताया है. हालांकि अभी तक यह पता नहीं चल सका है कि यह किस तरह का संगठन है और इसके तार किससे जुड़े हुए हैं. हालांकि इस संगठन के तार पाकिस्तान से जुड़े हुए माने जा रहे हैं.

देखें : न्यूज नेशन LIVE TV

दिल्ली ब्लास्ट की जांच में दो संदिग्धों के बारे में जानकारी मिली है. शुरुआती जांच में पुष्टि हुई कि धमाका अमोनियम नाइट्रेट से किया गया था. मौके से एक अधजला दुप्पटा समेत कुछ अन्य सामान भी मिले थे. इसके अलावा एक लेटर भी मिला था, जिससे कई खुलासे हुए थे. खत में लिखा हुआ था कि यह धमाका बस एक 'ट्रेलर' है. इस चिट्ठी से ईरानी कनेक्शन भी सामने आया है. लेटर में ईरान के दो ईरानियों की हत्या का भी जिक्र है.

यह भी पढ़ें: किसान आंदोलन हिंसा के बाद गिरफ्तार लोगों की रिहाई पर सुनवाई से दिल्ली हाईकोर्ट का इनकार

पत्र में लिखा था, 'वे सैन्य कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी की हत्या का बदला लेंगे.' लेटर में परमाणु वैज्ञानिक आर्देशिर की हत्या का भी जिक्र है. ईरान के बड़े परमाणु वैज्ञानिक आर्देशिर की ड्रोन-गन से हत्या की गई थी. ईरान इसके लिए इजरायल को जिम्मेदार ठहराता है. 30 नवंबर 2020 को ईरान के परमाणु वैज्ञानिक की ड्रोन अटैक में हत्या हुई थी. उसके लिए ईरान के राष्ट्रपति ने सीधे तौर से इजरायल को जिम्मेदार ठहराया था.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 02 Feb 2021, 02:09:08 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो