News Nation Logo
Banner

पश्चिम बंगालः इशरत जहां ने कहा- कोई सुरक्षा नहीं मिली, पुलिस ने दावा खारिज किया

तीन तलाक मामले में फरियादी इशरत जहां, ने शुक्रवार को दावा किया कि उन्हें पुलिस से कोई संरक्षण नहीं मिला है.

BHASHA | Updated on: 20 Jul 2019, 02:00:00 AM
इशरत जहां (फाइल फोटो)

इशरत जहां (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

तीन तलाक मामले में फरियादी इशरत जहां, ने शुक्रवार को दावा किया कि उन्हें पुलिस से कोई संरक्षण नहीं मिला है, जबकि वह बीते सप्ताह में अपनी जिंदगी पर खतरे को देखते हुये इसकी मांग कर चुकी हैं. उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि उनका मकान मालिक उन्हें घर खाली करने को लेकर दबाव बना रहा है.

यह भी पढ़ेंः भारतीय सेना ने इस ताकतवर मिसाइल का किया सफल परीक्षण, दुश्मन को देगा मुंहतोड़ जवाब

हावड़ा जिले के गोलाबारी थाने में दर्ज शिकायत में जहां ने हिजाब में हनुमान चालीसा पाठन से संबंधित कार्यक्रम में शामिल होने पर मकान मालिक और देवर पर अपशब्द प्रयुक्त करने अैर जान से मारने की धमकी का आरोप लगाया है. जहां ने बताया, मेरे मकान मालिक घर खाली करने को लेकर दबाव बनाये हुये हैं।..मैं कहां जाऊंगी..मुझे अभी तक पुलिस संरक्षण भी नहीं मिला है.

हालांकि, पुलिस ने उनके दावे को खारिज करते हुये कहा कि एक अधिकारी रोजाना उनका हालचाल जानने के लिए उनके पास जाता है. गोलाबारी थाने के एक अधिकारी ने कहा कि उनके घर के आगे कोई पुलिसकर्मी तो तैनात नहीं किया गया है लेकिन प्रतिदिन एक अधिकारी उनके घर का दौरा अवश्य करता है. एक 14 साल की बेटी और आठ साल के बेटे की मां इशरत जहां, उन पांच फरियादियों में से है, जिन्होंने फौरी तीन तलाक के खिलाफ याचिका दायर की थी.

यह भी पढ़ेंः मुंबई के 'एनकाउंटर स्पेशलिस्ट' इंस्पेक्टर प्रदीप शर्मा ने दिया इस्तीफा, जानिए क्या है वजह

उच्चतम न्यायालय ने फौरी तीन तलाक के खिलाफ 22 अगस्त, 2017 को अपना निर्णय सुनाया था. जहां के पति ने साल 2014 में उन्हें फौरी तीन तलाक दे दिया था। वह इसके खिलाफ अदालत गई थीं.

First Published : 20 Jul 2019, 02:00:00 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×