News Nation Logo
Banner

लाल किले पर हुई हिंसा में इकबाल सिंह को 7 दिन की रिमांड पर भेजा

दिल्ली पुलिस ने बुधवार को तीस हज़ारी कोर्ट में इकबाल सिंह को पेश किया, जहां पुलिस ने इकबाल सिंह की 10 दिनों की पुलिस रिमांड मांगी. जज ने इस मामले में सुनवाई के दौरान दिल्ली पुलिस से पूछा कि इकबाल की तरफ से कौन वकील है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 10 Feb 2021, 11:21:35 PM
Iqbal Singh

इकबाल सिंह को 7 दिन की रिमांड पर भेजा (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने बुधवार को तीस हज़ारी कोर्ट में इकबाल सिंह (Iqbal Singh) को पेश किया, जहां पुलिस ने इकबाल सिंह की 10 दिनों की पुलिस रिमांड मांगी. जज ने इस मामले में सुनवाई के दौरान दिल्ली पुलिस से पूछा कि इकबाल की तरफ से कौन वकील है. पुलिस ने कहा- कोई नहीं है. इस पर जज ने इकबाल के लिए सरकारी वकील मुहैया करवाने के लिए कहा. कोर्ट ने दिल्ली पुलिस की दलील सुनने के बाद इकबाल को 7 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है.

दिल्ली पुलिस ने कोर्ट में दलील दी कि लाल किले पर हुई हिंसा में इकबाल मुख्य साजिशकर्ताओं में से एक है. वह पंजाब से है. सोशल मीडिया पर 100 के आसपास वीडियो मिले हैं. हमें इन सभी वीडियो को लेकर पूछताछ करने की जरूरत है. जो लोग उसके साथ आए थे, वे कौन से लोग हैं? उनके किससे संबद्ध हैं? हमें उन सभी लिंक को खोजने की आवश्यकता है.

दिल्ली पुलिस ने कोर्ट में आगे कहा कि 26 जनवरी की घटना अचानक नहीं हुई थी यह सुनियोजित थी. हमें यह पता लगाने की जरूरत है कि वह किस मीडिया हाउस, राजनीतिक दल आदि से संबद्ध है. यह एक बड़ी साजिश थी. हमें दीप सिद्धू से उनका लिंक ढूंढना होगा. जिस तरह से झंडा फहराया गया था, आपने देखा कि वह कितनी तेजी से ऊपर गया था. विशेष रस्सियां ​​लाई गईं, विशिष्ट ट्रैक्टर बनाए गए. यह एक बड़ी साजिश है.

उन्होंने आगे कहा कि हमें यह स्थापित करने की जरूरत है कि उसकी फंडिंग कहां से आ रही है. हमें पंजाब जाकर कथित समाचार चैनल को देखने की जरूरत है. उपकरण कहां है, कैसे रखा गया है, क्या नष्ट हो गया है. हमारे पास खुफिया जानकारी है कि विदेशी फंडिंग भी हो सकती है. उस पहलू की जांच करने की आवश्यकता है. 

दिल्ली पुलिस ने कहा कि हमें उसके सभी लिंक स्थापित करने की आवश्यकता है. उनके समर्थक कौन हैं, पैसा कहां से आ रहा है, कैसे उन्होंने एक चैनल चलाया. वह इस बड़ी साजिश के मुख्य उदाहरणों में से है. यह एक सुनियोजित घटना थी, जिसके लिए हमारे पास पहले से ही एक अन्य आरोपी की हिरासत है. इन सभी पहलुओं के साथ उसका सामना करने के लिए उसकी रिमांड जरूरी है.

इकबाल ने कोर्ट में कहा कि मेरे पास कोई पैसा नहीं है. आप मेरा खाता देख सकते हैं. कोर्ट ने पुलिस की दलील सुनने के बाद इकबाल को 7 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है. अब क्राइम ब्रांच इकबाल से पूछताछ कर हिंसा में शामिल अन्य लोगों की जानकारी जुटाने की कोशिश करेगी.

First Published : 10 Feb 2021, 11:21:35 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.