News Nation Logo
Banner

पाकिस्तान की अब खैर नहीं! भारत LoC पर लगाने जा रहा है स्पाइक एंटी टैंक मिसाइल

पाकिस्तान की नापाक इरादों से भारत को सुरक्षित करने के लिए लाइन ऑफ कंट्रोल (LoC) पर स्पाइक एंटी -टैंक मिसाइल तैनात करने वाली है.

By : Nitu Pandey | Updated on: 25 Nov 2019, 07:45:53 PM
भारत LoC पर लगाने जा रहा है स्पाइक एंटी टैंक मिसाइल

भारत LoC पर लगाने जा रहा है स्पाइक एंटी टैंक मिसाइल (Photo Credit: ANI)

नई दिल्ली:

पाकिस्तान की नापाक इरादों से भारत को सुरक्षित करने के लिए सेना लाइन ऑफ कंट्रोल (LoC) पर स्पाइक एंटी -टैंक मिसाइल तैनात करने वाली है. हाल ही में इजरायल से भारत ने स्पाइक एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल (Spike anti-tank guided missiles) खरीदा है. पाकिस्तान (Pakistan) स्थित आतंकवादी समूहों के खिलाफ बालाकोट हवाई हमले के बाद सरकार ने तीनों सशस्त्र बलों को आपातकालीन खरीद के अधिकार दिए थे. इसी के तहत स्पाइक मिसाइलों को खरीदा गया था.मिसाइलों को बंकर बस्टर मोड में इस्तेमाल किया जाएगा. यही नहीं इनका इस्तेमाल पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के अंदर आतंकवादी शिविरों और लॉन्च पैड के खिलाफ किया जा सकता है.

रक्षा सूत्रों ने बताया कि स्पाइक मिसाइलों को सेना द्वारा एलओसी पर तैनात किया जाएगा. इसके साथ ही सेना इसका इस्तेमाल बंकर-बस्टर मोड में भी कर सकती है.

इसे भी पढ़ें:दिल्ली उच्च न्यायालय ने जेसिका के हत्यारे मनु शर्मा के पैरोल पर एक हफ्ते में फैसला करने को कहा

भारत ने इजरायल के साथ 240 स्पाइक मिसाइलों के अधिग्रहण के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं जो आमतौर पर सेना में एंटी टैंक मिसाइलों के तौर पर उपयोग किए जाते हैं.

इन मिसाइलों का इस्तेमाल मुख्य रूप से टैंक-रोधी ऑपरेशन के लिए किया जाना है, उनका प्रयोग आतंकवादियों के छिपने वाले ठिकानों को नष्ट करने में किया जाना है.

और पढ़ें:दिल्ली-एनसीआर प्रदूषण: वायु और जल की गुणवत्ता पर न्यायालय का राज्यों को नोटिस

भारतीय सेना ने हाल ही में करीब एक महीने पहले नियंत्रण रेखा के पास आतंकवादियों के शिविर और लॉन्च पैड को निशाना बनाया था जिसमें चार से छह आतंकवादी मारे गए थे.

पिछले महीने भारतीय वायुसेना ने अंडमान निकोबार द्वीप समूह में त्राक द्वीप से सतह से सतह पर मार करने वाली दो ब्रह्मोस मिसाइलें दागीं. रक्षा मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने मंगलवार को कहा कि 21 अक्टूबर और 22 अक्टूबर को दागी गई दोनों मिसाइलें नियमित सामरिक प्रशिक्षण का एक हिस्सा थीं. मिसाइल ने लगभग 300 किलोमीटर दूर एक निर्धारित लक्ष्य को भेदा. दोनों मामलों में मिसाइल ने निर्धारित लक्ष्य को प्रत्यक्ष तौर पर भेद दिया.

First Published : 25 Nov 2019, 07:43:38 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.