News Nation Logo
Banner

डोकलाम में चीनी गतिविधियों पर ऐसे निगरानी रख रही भारतीय सेना : रक्षा मंत्रालय की रिपोर्ट

साल 2017 में डोकलाम में पैदा हुए गतिरोध के बाद भारत और चीन ने भले ही वहां अपने सैनिकों की तैनाती कम कर दी है.

BHASHA | Updated on: 18 Jul 2019, 10:59:13 PM
प्रतीकात्मक फोटो

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:

साल 2017 में डोकलाम में पैदा हुए गतिरोध के बाद भारत और चीन ने भले ही वहां अपने सैनिकों की तैनाती कम कर दी है, लेकिन भारतीय सेना इस क्षेत्र में चीनी गतिविधियों की निगरानी कर रही है और किसी भी आकस्मिक स्थिति का जवाब देने के लिए पर्याप्त रूप से तैयार है. यह बात रक्षा मंत्रालय की एक रिपोर्ट में कही गई है. मंत्रालय ने 2018-19 के लिये अपनी वार्षिक रिपोर्ट में यह भी कहा कि पाकिस्तान को अपने नियंत्रण वाले भूभाग से गतिविधियां चलाने वाले आतंकवादियों और आतंकी समूहों का समर्थन रोकने के लिए ‘भरोसेमंद और अपरिवर्तनीय’ कदम उठाने चाहिए.

यह भी पढ़ेंः भारतीय वायुसेना को और ताकतवर बनाएगा राफेलः रक्षा मंत्रालय

मंत्रालय ने कहा कि भारत अपनी राष्ट्रीय सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए ‘मजबूत और निर्णायक’ कदम उठाना जारी रखेगा. डोकलाम में 72 दिनों तक चले गतिरोध के बाद 28 अगस्त 2017 को सैनिकों को वापस बुलाने के पश्चात भारतीय और चीनी सैनिकों को अपने-अपने संबंधित मोर्चे से दूरी पर फिर से तैनात किया गया. इस साल, चीनी अतिलंघन में काफी कमी आई है. इसी तरह दोनों देशों के सैनिकों के बीच टकराव में भी कमी आई है.

यह भी पढ़ेंः वेस्टइंडीज दौरे के लिए कल होने वाली चयन समिति की बैठक टली, अब इस दिन होगा टीम का ऐलान!

रक्षा मंत्रालय की रिपोर्ट में कहा गया है, हालांकि, भारतीय सेना क्षेत्र में चीनी गतिविधियों पर लगातार नजर रख रही है और किसी भी आकस्मिक स्थिति का जवाब देने के लिए पर्याप्त रूप से तैयार है. इसमें कहा गया है कि भारत-चीन सीमा पर स्थिति शांतिपूर्ण बनी हुई है. रिपोर्ट में कहा गया है कि सीमा पर कुछ ऐसे क्षेत्र हैं जहां वास्तविक नियंत्रण रेखा को लेकर अलग-अलग धारणाएं हैं. दोनों पक्ष एलएसी की अपनी संबंधित धारणाओं के अनुसार गश्त करते हैं.

First Published : 18 Jul 2019, 10:44:28 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.