News Nation Logo
Banner

अब चीन-पाकिस्तान की खैर नहीं, अप्रैल में आएगा राफेल का एक और खेप

भारतीय वायुसेना के अधिकारी के अधिकारी ने कहा कि अप्रैल के मध्य में पश्चिम बंगाल के हाशिमारा वायु सेना अड्डे पर राफेल लड़ाकू विमानों के दूसरे दस्ते को शामिल होगा. वायु सेना मई में वहां लड़ाकू विमान ले जाएगी. फ्रांस में लड़ाकू पायलटों का प्रशिक्षण लगभग उसी समय पूरा होगा.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 11 Mar 2021, 07:54:26 PM
Rafale fighter aircraft

अप्रैल में आएगा राफेल का एक और खेप (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • अब चीन-पाकिस्तान की खैर नहीं.
  • भारतीय वायु सेना के बेड़े में राफेल शामिल.
  • फ्रांस में लड़ाकू पायलटों का प्रशिक्षण पूरा होगा.

नई दिल्ली :

भारतीय वायुसेना के अधिकारी के अधिकारी ने कहा कि अप्रैल के मध्य में पश्चिम बंगाल के हाशिमारा वायु सेना अड्डे पर राफेल लड़ाकू विमानों के दूसरे दस्ते को शामिल होगा. वायु सेना मई में वहां लड़ाकू विमान ले जाएगी. फ्रांस में लड़ाकू पायलटों का प्रशिक्षण लगभग उसी समय पूरा होगा. दरअसल, भारत को फ्रांस का अत्याधुनिक लड़ाकू विमान राफेल फ्रांस में दसॉ एविएशन कंपनी ने पहला राफेल सुपुर्द किया था. भारत ने अगली पीढ़ी के लड़ाकू विमानों के लिए फ्रांस से समझौता किया था. पहले राफेल में उप वायुसेना प्रमुख एयर मार्शल वीआर चौधरी ने लगभग घंटे भर उड़ान भरी थी. गौरतलब है कि नए वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया राफेल के लिए खासतौर पर प्रशिक्षण लेने फ्रांस जा चुके हैं. ऐसे में उन्हीं के नाम पर इस राफेल विमान का 'टेल नंबर' आरबी 01 रखा गया है.

यह भी पढ़ें : शाहीनबाग के PFI दफ्तर पर यूपी STF का छापा

गौरतलब है कि राफेल विमानों की पहली खेप लेने के लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह खुद फ्रांस गए थे. राजनाथ सिंह वायुसेना की एक टीम के साथ 8 अक्टूबर को फ्रांस गए थे. बता दें कि इसी दिन वायुसेना दिवस होता है, तो वहीं 8 अक्टूबर को विजयादशमी भी पड़ा था. ऐसे में भारत को मिलने वाले राफेल विमान की तारीख ऐतिहासिक थी. 

यह भी पढ़ें : OTT प्लेटफॉर्म के साथ प्रकाश जावड़ेकर ने की बैठक नए नियमों पर की चर्चा

'गोल्डन ऐरोज' में शामिल
वायुसेना अपनी 'गोल्डन ऐरोज' 17 स्क्वाड्रन को फिर शुरू कर सकती है जो बहुप्रतिक्षित राफेल लड़ाकू विमान उड़ाने वाली पहली इकाई होगी. इसके लिए 24 भारतीय लड़ाकू विमान के पायलटों को फ्रांस में अब तक प्रशिक्षण दिया जा चुका है. गौरतलब है कि भारतीय वायु सेना हरियाणा के अंबाला और पश्चिम बंगाल में हाशिमअरा में राफेल का एक-एक स्क्वॉड्रन तैनात करेगी.

बता दें कि फ्रांस से राफेल लड़ाकू विमान का तीसरा बैच भारत 28 जनवरी को आया था. 3 राफेल विमानों का तीसरा बैच IAF बेस पर उतरा था. 3 राफेल एयरक्राफ्ट भारत पहुंच गए थे. भारतीय वायुसेना ने इसकी जानकारी दी थी. वायसेना ने बताया था कि 3 राफेल विमानों का तीसरा बैच कुछ समय पहले IAF बेस पर उतरा है. तीनों लड़ाकू विमानों ने 7000 किलोमीटर से अधिक की उड़ान भरी थी. रास्ते में हवा में ही यूएई एयरफोर्स के द्वारा इनमें फ्यूल भरा गया था, जिसके लिए इंडियन एयरफोर्स ने सराहना की. 

 

First Published : 11 Mar 2021, 06:47:09 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.