News Nation Logo
Agnipath Scheme: आज से Air Force में भर्ती के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू होंगे 2002 Gujarat Riots: जाकिया जाफरी की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आज Agnipath Scheme: एयरफोर्स के लिए अग्निवीरों का रजिस्ट्रेशन आज से शुरू, ऐसे करें आवेदनRead More » राष्ट्रपति चुनाव के लिए विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा 27 जून को राष्ट्रपति चुनाव के लिए अपना नामा Coronavirus: भारत में 17000 से ज्यादा केस, 5 माह में सबसे ज्यादा मामलेRead More » यशवंत सिन्हा को केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल का 'जेड (Z)' श्रेणी का सशस्त्र सुरक्षा कवच प्रदान किया NCP प्रमुख शरद पवार से मिलने मुंबई के लिए शिवसेना नेता संजय राउत वाई.बी. चव्हाण सेंटर पहुंचे सुप्रीम कोर्ट ने एसआईटी जांच के खिलाफ जाकिया जाफरी की याचिका की खारिजRead More » महाराष्ट्र सियासी संकट पर सुप्रीम कोर्ट बुधवार को करेगा सुनवाई

सावधान पाकिस्तान, भारतीय वायुसेना के पास आ रहे हैं सुखोई और मिग के उन्नत संस्करण

लड़ाकू विमान के बेड़ों को और मजबूती देने के लिए वायुसेना उन्नत मिग-29 श्रेणी के 21, तो सुखोई-30 के दर्जन भर विमान हासिल करने जा रही है.

न्यूज स्टेट ब्यूरो. | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 30 Aug 2019, 06:32:31 AM
सुखोई 30 एमआईके विमान शामिल होने से बढ़ जाएगी भारतीय वायुसेना की ताकत.

highlights

  • वायुसेना उन्नत मिग-29 श्रेणी के 21, तो सुखोई-30 के दर्जन भर विमान हासिल करेगी.
  • मिग-29 लड़ाकू विमानों के उन्नत संस्करणों की पेशकश रूस ने की ही थी.
  • फिलहाल भारतीय वायु सेना के पास मिग-29 विमानों की तीन स्क्वाड्रन हैं.

नई दिल्ली.:  

पाकिस्तान और चीन से विभिन्न मसलों पर विवाद और तनाव के बीच भारतीय वायुसेना ने अपने सुदृढ़ीकरण के प्रयासों को और गति देनी शुरू कर दी है. लड़ाकू विमान के बेड़ों को और मजबूती देने के लिए वायुसेना उन्नत मिग-29 श्रेणी के 21, तो सुखोई-30 के दर्जन भर विमान हासिल करने जा रही है. इसके तहत आने वाले कुछ हफ्तों में रक्षा मंत्रालय संग होने वाली उच्च स्तरीय बैठक में इस बाबत प्रस्ताव लाया जाएगा.

यह भी पढ़ेंः उरी हमले के बाद हमने दुनिया को दिखाया कोई हमारी सीमाओं का उल्लंघन नहीं कर सकता: अमित शाह

सुखोई से वायु सेना का बना रहेगा संतुलन
सुखोई-30 लड़ाकू विमानों को बेड़े में शामिल करने की एक बड़ी वजह यही है कि हाल के दिनों में हुई कई दुर्घटनाओं में भारतीय वायु सेना ने अपने कई सुखोई विमानों को खोया है. ऐसे में दर्जन भर सुखोई विमानों की मदद से वायु सेना सुखोई बेड़े में 272 विमानों की संख्या बरकरार रख सकेगा. गौरतलब है कि भारत ने बीते एक-डेढ़ दशक में ही सुखोई-30 के 272 विमान हासिल किए थे. भारतीय वायुसेना के वरिष्ठ अधिकारियों का मानना है कि इतने विमानों से वायु सेना अपनी जरूरतों को पूरा कर सकेगी.

यह भी पढ़ेंः अब इस राजघराने ने किया श्रीराम के वंशज होने का दावा, कहा- हमारे पास 100 वंशजों की सूची

रूस से लेगा उन्नत मिग-29 विमान
इसके अलावा भारतीय वायुसेना रूस से मिग-29 के उन्नत 21 विमान हासिल करेगी. रूस ने ही इन विमानों की पेशकश की थी. मिग-29 लड़ाकू विमानों का यह उन्नत संस्करण इस पेशकश का खास हिस्सा है. इसमें राडार और अन्य उपकरण भारत की बदलती जरूरतों को पूरा करने में सक्षम हैं. इस सौदे को लेकर बातचीत काफी आगे बढ़ चुकी है और उम्मीद है कि इस पर जल्द ही अंतिम मुहर भी लगा दी जाएगी. भारतीय वायु सेना इस विमान की खूबियों और भौगोलिक जरूरतों को लेकर अध्ययन भी कर चुकी है.

यह भी पढ़ेंः तनाव बढ़ने के बावजूद भारत-पाकिस्तान अधिकारी आज करेंगे बात, इन मुद्दों पर होगी चर्चा

पहले से काफी अलग हैं मिग-29 विमान
गौरतलब है कि भारतीय वायुसेना मिग-29 विमान काफी समय से उड़ा रही है. भारतीय पायलट भी इससे बखूबी वाकिफ हैं, लेकिन रूस जिन आधुनिक संस्करण के विमान दे रहा है वह पहले से विद्यमान मिग-29 विमानों से अलग हैं. भारतीय वायुसेना मिग-29-के विमान को लेकर ज्यादा सहज नहीं रही है. इस संस्करण के लड़ाकू विमानों की देखभाल न सिर्फ मुश्किल है, बल्कि इसकी सेटिंग्स भी बदल जाती हैं. फिलहाल भारतीय वायु सेना के पास मिग-29 विमानों की तीन स्क्वाड्रन हैं, जो अपग्रेड होते रहे हैं.

First Published : 29 Aug 2019, 08:27:54 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.