News Nation Logo
अभिनेत्री अनन्या पांडे के घर भी NCB ने की छापेमारी भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 18,454 नए मामले आए और 160 लोगों की कोरोना से मौत हुई पीएम मोदी ने RML अस्पताल में वैक्सीनेशन सेंटर पर स्वास्थ्य कर्मचारियों के साथ बातचीत की रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह अपने दो दिवसीय दौरे पर बेंगलुरु पहुंचे किसान सड़कों को अनिश्चित काल के लिए अवरुद्ध नहीं कर सकते: सुप्रीम कोर्ट किसानों को विरोध करने का अधिकार: सुप्रीम कोर्ट पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एम्स में इंफोसिस फाउंडेशन विश्राम सदन का उद्घाटन किया हमारी सरकार ने कैंसर की 400 दवाओं की कीमतों को कम करने के लिए कदम उठाए हैं: पीएम मोदी बॉम्बे हाईकोर्ट आर्यन खान की जमानत याचिका पर 26 अक्टूबर को सुनवाई करेगा: आर्यन खान के वकील भिंड में भारतीय वायुसेना का ट्रेनर विमान क्रैश, हादसे में पायलट घायल: भिंड एसपी मनोज कुमार सिंह मरीज़ को आयुष्मान भारत योजना के तहत मुफ़्त में इलाज मिलता है, तो उसकी सेवा होती है: पीएम मोदी भारत ने वैक्सीन मैत्री के माध्यम से दुनिया के देशों में मदद पहुंचाने का काम किया: अनुराग ठाकुर दुनिया को भारत ने दिखाया है कि बड़े से बड़ा लक्ष्य भी प्राप्त किया जा सकता है: अनुराग ठाकुर 100 करोड़ वैक्सीनेशन डोज़ का आंकड़ा पार होने पर लोगों का आभार: केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर भारत में वैक्सीनेशन का आंकड़ा 100 करोड़ के पार, देशभर में मन रहा जश्न निजी भागीदारी से भी मेडिकल कॉलेज बन रहे हैं - पीएम मोदी FDA ने मॉडर्ना और जॉनसन एंड जॉनसन के मिक्‍स एंड मैच टीकाकरण को दी मंजूरी उत्तराखंड में भारी बारिश से अब तक 54 लोगों की मौत, 19 जख्मी और 5 लापता डोनाल्ड ट्रंप ने 'TRUTH Social' नामक अपना खुद का सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म लॉन्च किया

अनुसंधान, स्वास्थ्य प्रबंधन को बढ़ावा देने के लिए भारत-अमेरिका के संबंधों का हुआ विस्तार : मंत्री

अनुसंधान, स्वास्थ्य प्रबंधन को बढ़ावा देने के लिए भारत-अमेरिका के संबंधों का हुआ विस्तार : मंत्री

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 27 Sep 2021, 05:35:01 PM
India-US enhanced

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

नई दिल्ली: केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण राज्य मंत्री भारती प्रवीण पवार ने सोमवार को भारत और अमेरिका के अनुसंधान और विकास में सहयोग बढ़ाने के तरीके की सराहना की।

उन्होंने इस बात की सराहना की कि भारत और अमेरिका ने अनुसंधान और विकास के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाया है, ताकि वैज्ञानिक खोजों को बढ़ावा मिले एवं वैश्विक स्वास्थ्य आपदाओं से निपटा जा सके।

उन्होंने कोविड-19 महामारी के दौरान दोनों देशों के बीच एकजुटता का उल्लेख किया, जहां दोनों पक्षों ने समर्थन दिया।

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण राज्यमंत्री डॉ. भारती प्रवीण पवार ने स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय में चौथे भारत-अमेरिका स्वास्थ्य संवाद के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए यह बात कही। इस आयोजन की मेजबानी भारत कर रहा है।

संवाद में अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व वहां के स्वास्थ्य मंत्रालय के वैश्विक मामलों के विभाग की निदेशक लॉयस पेस ने की। प्रतिनिधिमंडल के अन्य सदस्यों में अमेरिका के स्वास्थ्य मंत्रालय के वैश्विक मामलों के विभाग की एशिया तथा प्रशांत क्षेत्र की निदेशक सुश्री मिशेल मैक्कॉनल, डॉ. मिचेल वूल्फ और डायना एम. बेनसिल शामिल थीं।

दो दिवसीय संवाद के माध्यम से एक ऐसा मंच उपलब्ध होगा, जहां भारत और अमेरिका के बीच स्वास्थ्य क्षेत्र में किए जाने वाले विभिन्न सहयोग पर चर्चा की जाएगी।

इस दौर की बातचीत के लिए जिन विषयों का चयन किया गया है, उनमें महामारियों से संबंधित अनुसंधान, निगरानी, वैक्सीन विकास, वन-हेल्थ, (मनुष्य, जीव-जंतुओं और पेड़-पौधों से संबंधित स्वास्थ्य कड़ी) पशुओं से मनुष्यों में फैलने वाली बीमारियां, मच्छरों और अन्य जीवाणुओं द्वारा फैलने वाले रोगों, स्वास्थ्य प्रणालियों और स्वास्थ्य नीतियों, आदि शामिल किए गए हैं।

मंत्री ने कोविड-19 महामारी के दौरान दोनों पक्षों के बीच आपसी एकजुटता का उल्लेख करते हुए कहा कि इस मामले में दोनों देशों ने एक-दूसरे का भरपूर सहयोग किया।

अनुसंधान, स्वास्थ्य प्रबंधन को बढ़ावा देने के लिए भारत-अमेरिका के संबंधों के विस्तार की पुष्टि करते हुए उन्होंने इस बात की भी सराहना की कि भारत और अमेरिका ने अनुसंधान और विकास के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाया है, खासतौर से दवाओं, इलाज और वैक्सीन के विकास के क्षेत्र में। यह सहयोग इस बात से साबित होता है कि भारतीय वैक्सीन कंपनियां कोविड-19 वैक्सीन के विकास के लिये अमेरिका स्थित एजेंसियों के साथ सहयोग कर रही हैं।

डॉ. पवार ने मानसिक स्वास्थ्य पर 2020 में हुए समझौते के हवाले से कहा कि स्वास्थ्य क्षेत्र में दोनों देशों के बीच सहयोग और द्विपक्षीय सम्बंधों को मजबूती मिली है। भारत के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय तथा अमेरिका के स्वास्थय और मानव सेवा मंत्रालय के बीच एक और समझौते को अंतिम रूप दे दिया गया है। इसमें स्वास्थ्य सुरक्षा और संरक्षा, संचारी और गैर-संचारी रोगों, स्वास्थ्य प्रणालियों और स्वास्थ्य नीति जैसे बड़े विषयों को शामिल किया गया है।

केंद्रीय राज्य मंत्री पवार ने कहा कि संक्रामक रोगों को रोकने और नियंत्रण करने संबंधी उभरते क्षेत्रों पर ध्यान देने की आवश्यकता है। इसके तहत सही और प्रामाणिक वैज्ञानिक तरीके से काम करना तथा दोनों देशों के बीच सहयोग को शामिल किया गया है, ताकि वैज्ञानिक खोजों को बढ़ावा मिले एवं वैश्विक स्वास्थ्य आपदाओं से निपटा जा सके।

उन्होंने यह भी कहा कि इस उद्देश्य को पूरा करने के लिए सार्वजनिक और निजी सेक्टर को मिलकर काम करना होगा तथा नवाचार के जरिये मिलकर स्वास्थ्य प्रणालियों को मजबूत बनाना होगा, ताकि सबको वह उपलब्ध हो सके तथा गैर-बराबरी समाप्त हो।

दो दिवसीय संवाद के शुरू होने के अवसर पर डॉ. पवार ने कहा कि इस मंच से सभी प्रतिभागियों को यह मौका मिलेगा कि वे विस्तार से चर्चा करें, जिनके नतीजों को भारत और अमेरिका की विभिन्न एजेंसियों के बीच स्वास्थ्य साझेदारी की संभावना बढ़ाने में उपयोग किया जा सके।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

First Published : 27 Sep 2021, 05:35:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो