News Nation Logo
Banner

क्या देश में कोरोना की चौथी लहर की है आहट? तीन हजार के पार पहुंचे मामले

देश में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. बीते 24 घंटे में 3246 नए मामले सामने आए हैं, इनमें 25 लोगों की मौत हो चुकी है.

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Saxena | Updated on: 01 May 2022, 09:05:49 AM
covid19

india daily corona cases (Photo Credit: सांकेतिक फोटो)

highlights

  • दिल्ली में बीते 24 घंटे में 1520 नए मामले मिले हैं
  • महाराष्ट्र में 155 नए मामले मिले हैं. सबसे ज्यादा मामले मुंबई से सामने आए हैं

नई दिल्ली:  

देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. बीते 24 घंटे में 3246 नए मामले सामने आए हैं, इनमें 25 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं 2783 लोग ठीक भी हुए. चौथी लहर (Fourth wave)  की आशंका के बीच सबसे अधिक मामले दिल्ली से सामने आए हैं. यहां पर बीते 24 घंटे में 1520 नए मामले मिले हैं. नए मामले सामने आने के बाद से दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट (positivity rate) 5.10 प्रतिशत दर्ज किया गया. सबसे अच्छी बात ये रही कि कोरोना वायरस से केवल एक मौत हुई. वहीं दिल्ली में सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 5716 तक पहुंच चुकी है. ये मामले 9 फरवरी के बाद सबसे अधिक हैं. वहीं महाराष्ट्र में 155 नए मामले मिले हैं. सबसे ज्यादा मामले मुंबई से सामने आए हैं. यहां पर कोरोना वायरस के 94 मामले मिले हैं. यहां पॉजिटिविटी रेट 1 प्रतिशत है. महाराष्ट्र में 998 सक्रिय मामले हैं.

क्या हैं केंद्र सरकार के आंकड़े

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Minister) के आंकड़ों के अनुसार, देश में कुल सक्रिय मामलों की संख्या 18 हजार के पार हो चुकी है. वहीं, सक्रिय मामले कुल संक्रमण के 0.04 प्रतिशत तक पहुंच चुके हैं. देश में बीते 24 घंटों में कुल 2,755 मरीज कोरोना संक्रमण से ठीक हुए. इसके बाद रिकवरी रेट 98.74 प्रतिशत तक पहुंच गया है.

नए वेरिएंट से हम सुरक्षित

कोरोना वायरस की चौथी लहर की आशंका के बीच राहत की खबर यह है कि जब तक कोरोना वायरस का नया वेरिएंट (New Variant)  नहीं आता, तब तक हम इस खतरे सुरक्षित हैं. ऐसा अनुमान है कि ओमिक्रॉन की वजह से 98 प्रतिशत भारतीयों में एंटीबॉडी बन चुका है. 

विशेषज्ञों की राय- नई लहर की आशंका कम

विशेषज्ञों का मानना है कि अभी नई लहर की आशंका बेहद कम है. क्योंकि, नई लहर नए वेरिएंट से आती है. देश में अभी ओमिक्रॉन या  उसके सब-वेरिएंट हैं. इस वजह से नई लहर की आशंका कम है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने शनिवार को बताया कि देश में 12 से 14  आयुवर्ग के 60 प्रतिशत बच्चों को वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है. ऐसे में अब बच्चे भी सुरक्षा के दायरे में आते जा रहे हैं.

 

First Published : 01 May 2022, 09:02:46 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.