logo-image

India Canada Row: भारत से रिश्ते बिगड़े तो कनाड़ा को चुकानी होगी कीमत, जानें अंदर की बात

India Canada Row: एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि अकेले पंजाब से ही हर साल एजुकेशन के लिए 68 हजार करोड़ रुपए का निवेश होता है. रिपोर्ट में बताया गया कि 2022 में कनाडा ने कुल 2, 26, 450 वैश्विक छात्रों को वीजा प्रदान किया था

Updated on: 24 Sep 2023, 11:30 AM

New Delhi:

India Canada Row: हरदीप सिंह निज्जर हत्याकांड को लेकर भारत और कनाडा के रिश्ते निचले स्तर पर चले गए हैं. कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने निज्जर को अपना नागरिक बताते हुए उसकी हत्या के लिए भारत और कटघरे में खड़ा किया है. भारत ने कनाडा के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए वहां के नागिरकों को वीजा देने पर अस्थाई प्रतिबंध लगा दिया है. भारत का कहना है कि कनाडा में उच्चायोग और वाणिज्य दूतावास को लगातार धमकियां मिल रही है, जिसकी वजह से सही रूप से काम नहीं कर पा रहे हैं. भारत ने इससे पहले कनाडा की एक कार्रवाई का जवाब देते हुए उसके एक डिप्लोमेट को नई दिल्ली छोड़ने का फरमान जारी किया था. 

कनाडा की अर्थव्यवस्था में भारतीयों का योगदान

ऐसे में अगर भारत-कनाडा के बीच तनाव और बढ़ा तो दोनों देशों के व्यापार पर भी इसका असर पड़ सकता है. क्योंकि पंजाब से हर साल करोड़ों रुपए का निवेश कर छात्र कनाडा में पढ़ाई करने जाते हैं तो ऐसे में भारतीय बच्चों के माता-पिता की चिंता बढ़ना भी स्वाभाविक है. एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि अकेले पंजाब से ही हर साल एजुकेशन के लिए 68 हजार करोड़ रुपए का निवेश होता है. रिपोर्ट में बताया गया कि 2022 में कनाडा ने कुल 2, 26, 450 वैश्विक छात्रों को वीजा प्रदान किया था, जिसमें से 1.36 लाख छात्र केवल पंजाब से थे. ये सभी छात्र दो-तीन साल की पढ़ाई के लिए कनाडा पहुंचे थे. मौजूदा समय की बात करें तो कनाडा में 3.4 लाख भारतीय छात्र पढ़ाई कर रहे हैं. 

कनाडा में करोडों लोगों को रोजगार देती हैं भारतीय कंपनियां

रिपोर्ट के अनुसार कनाडा में विप्रो, इन्फोसिस, टीसीएस जैसे 30 से ज्यादा भारतीय कंपनियों ने अरबो डॉलर का निवेश कर रखा है. ये कंपनियां कनाडा में करोड़ों लोगों को रोजगार देती हैं. इसलिए अर्थव्यवस्था के हिसाब से कनाडा के लिए भारत बड़ी अहमियत रखता है. 


कनाडा में भारतीय-

  • कनाडा में दूसरे देशों से बसने वालों की कुल संख्या में 18.6 प्रतिशत भारतीय
  • कनाडा में भारतीय मूल के लोगों की आबादी करीब 14 लाख है
  • कनाडा में भारतीय प्रवासियों की संख्या 2013 के बाद तीन गुना से ज्यादा हुई
  • 2018 में कनाडा में सबसे ज्यादा विदेशी स्टूडेंट भारत से रहे
  • सबसे ज्यादा भारतीय प्रवासी कनाडा के टोरंटो, ओटावा, वॉटरलू और ब्रैम्पटन शहर में हैं
  • 2022 में कनाडा में पढ़ रहे विदेशी स्टूडेंट में 40 प्रतिशत यानी 3.2 लाख भारत से थे