News Nation Logo
Banner

भारत-ऑस्ट्रेलिया ने अफगानिस्तान मुद्दे पर की चर्चा, द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत करने पर दिया जोर

भारत-ऑस्ट्रेलिया ने अफगानिस्तान मुद्दे पर की चर्चा, दोनों देश और गहरे रिश्ते बनाने पर दिया जोर

News Nation Bureau | Edited By : Vijay Shankar | Updated on: 10 Sep 2021, 06:40:20 PM
India and Australia Defence Minister

Defence Minister of India and Australia (Photo Credit: File Photo)

highlights

  • दोनों देशों के बीच रक्षा क्षेत्र में काफी अहम समझौते किए गए
  • अफगानिस्तान और मानवाधिकार की स्थिति पर चर्चा की गई
  • दोनों देशों के बीच 'टू-प्लस-टू' की पहली वार्ता 11 सितंबर को होगी

 

 

नई दिल्ली:

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच रक्षा क्षेत्र में काफी अहम समझौते किए गए हैं. भारत दौरे पर आए ऑस्ट्रेलिया के रक्षा मंत्री पीटर डटन और भारतीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बीच नई दिल्ली में काफी अहम बातचीत की गई है. रिपोर्ट के मुताबिक, इस बैठक में दोनों देशों के रक्षामंत्रियों ने द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत करने और रणनीतिक संबंधों को बढ़ावा देने के लिए व्यापक बातचीत की है. बातचीत के दौरान भारत और ऑस्ट्रेलिया के रक्षा मंत्रियों ने अफगानिस्तान की स्थिति, मानवाधिकार की स्थिति और बच्चों, महिलाओं और अल्पसंख्यकों के खिलाफ उल्लंघन पर चर्चा की.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को अपने ऑस्ट्रेलियाई समकक्ष पीटर डटन के साथ समग्र द्विपक्षीय रणनीतिक संबंधों को बढ़ावा देने के लिए व्यापक बातचीत की. यह बातचीत भारत और ऑस्ट्रेलिया के विदेश और रक्षा मंत्रियों के बीच होने वाली 'टू-प्लस-टू' की पहली वार्ता से एक दिन पहले हुई. रक्षा मंत्रियों के बीच बातचीत के दौरान रणनीतिक संबंधों को बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित किया गया. प्रतिनिधिमंडल स्तर की बैठक के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया के रक्षा मंत्री पीटर डटन के साथ मेरी द्विपक्षीय रक्षा सहयोग के साथ क्षेत्रीय मुद्दों पर विस्तृत चर्चा हुई. हम दोनों भारत-ऑस्ट्रेलिया व्यापक रणनीतिक साझेदारी की सभी संभावनाओं को साकार करने के लिए संयुक्त रूप से कार्य करने के लिए उत्सुक हैं. ऑस्ट्रेलियाई विदेश मंत्री मारिस पायने और डटन टू-प्लस-टू वार्ता के लिए शुक्रवार को यहां पहुंचे. इस वार्ता के दौरान दोनों पक्षों द्वारा द्विपक्षीय रक्षा और रणनीतिक संबंधों को और मजबूत करने पर विचार-विमर्श करने की उम्मीद है.

ऑस्ट्रेलिया और भारत क्वाड या ‘क्वाड्रिलेट्रल’ गठबंधन का हिस्सा हैं, जिसने स्वतंत्र, खुला और समावेशी हिंद-प्रशांत क्षेत्र सुनिश्चित करने की दिशा में काम करने का संकल्प लिया है. क्वाड के अन्य दो सदस्य अमेरिका और जापान हैं. सूत्रों ने कहा कि उम्मीद है कि समुद्री सुरक्षा के क्षेत्रों में द्विपक्षीय सहयोग का विस्तार करना ‘ टू- प्लस- टू’ वार्ता में दूसरा क्षेत्र होगा जिसपर ध्यान केंद्रित किया जाएगा. दोनों देशों के बीच रणनीतिक सहयोग का विस्तार करने के लिए समग्र लक्ष्य के हिस्से के रूप में विदेश और रक्षा मंत्रियों के बीच वार्ता शुरू की गई है. पिछले कुछ वर्षों में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच रक्षा और सैन्य सहयोग बढ़ा है. बता दें कि आस्ट्रेलियाई विदेश मंत्री मारिस पायने और रक्षा मंत्री पीटर डटन 12 सितंबर तक भारत में रहेंगे. इस दौरान दोनों देशों के बीच पहली बार हो रही टू-प्लस-टू मंत्रीस्तरीय बैठक में हिस्सा लेंगे. 11 सितंबर को होने वाली मंत्रिस्तरीय वार्ता में आपसी हित के कई द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दे पर चर्चा की जाएगी. विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को इसकी जानकारी दी थी. 

First Published : 10 Sep 2021, 06:15:15 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.